NDTV Khabar

गुरुग्राम कांडः जज की पत्नी और बेटे को गोली मारने वाले सिपाही महिपाल ने जुर्म कुबूला, इस वजह से मारी थी गोली

गुरुग्राम में जज कृष्णकांत की पत्नी और बेटे को गोली मारने वाले हरियाणा पुलिस के सिपाही महिपाल ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गुरुग्राम कांडः जज की पत्नी और बेटे को गोली मारने वाले सिपाही महिपाल ने जुर्म कुबूला, इस वजह से मारी थी गोली

घटनास्थल की तस्वीर.

खास बातें

  1. महिपाल ने खुद जज साहब की बहुत तारीफ की है
  2. हमले में जज की पत्नी को दो गोलियां लगी थी
  3. गुस्से में महिपाल ने घटना को अंजाम दिया
नई दिल्ली: गुरुग्राम में जज कृष्णकांत की पत्नी और बेटे को गोली मारने वाले हरियाणा पुलिस के सिपाही महिपाल ने अपना जुर्म कुबूल कर लिया है. गुरुग्राम के डीसीपी क्राइम सुमित जज ने गोलीकांड की घटना पर प्रेस कांफ्रेंस करते उस दिन हुए वाकये की पूरी जानकारी दी. यह जानकारी उन्होंने पुलिस की जांच रिपोर्ट के आधार पर खबरनवीसों को दी. उन्होंने बताया कि आरोपी पिछले डेढ़ साल से जज का PSO यानी निजी सुरक्षा अधिकारी था. महिपाल से SIT की टीम लगातार पूछताछ कर और भी जानकारियां जुटा रही है. डीसीपी ने बताया कि घटना वाले दिन सिपाही महिपाल बाजार  में जज की पत्नी और बेटे को छोड़कर चला गया था. परिवार ने कई बार महिपाल को ढूंढा. महिपाल कुछ देर बाद वापस आया तो उसे डांटा गया. उसी दौरान उसने गुस्से में जज के परिवार पर हमला किया. पत्नी और बेटे को लक्ष्य कर गोली चला दी. पुलिस के मुताबिक महिपाल ने पहले से कोई मर्डर का प्लान नही बनाया था और न ही धर्मांतरण भी किया था.

यह भी पढ़ें-गुड़गांव में सरकारी गनर ने जज की पत्नी और बेटे को दिनदहाड़े मारी गोली

जज के परिवार ने नहीं किया सिपाही को परेशानः पुलिस
इस हमले में जज की बीवी की मौत हो चुकी है, जबकि बेटे ध्रुव की स्थिति बेहद गंभीर है. उस दिन घटना के डेढ़ घंटे के भीतर महिपाल को ग्वाल पहाड़ी नाके पर पकड़ लिया था. महिपाल ने शुरुआत में ही अपना जुर्म कुबूल कर लिया था. डीसीपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान सिपाही महिपाल ने बताया कि जज के परिवार ने कभी कोई परेशान नही किया.महिपाल ने खुद कबूल किया कि जज  का परिवार अच्छा है.डीसीपी सुलोचना गजराज और डीसीपी सुमित कुहाड़ ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा कि कोर्ट से गुजारिश करेंगे कि महिपाल को सख्त से सख्त सजा मिले. महिपाल मार्किट में इधर उधर चला गया, जिसके बाद ध्रुव ने उसको पूछा तो इनकी बहस हुई जिसके बाद महिपाल ने घटना को अंजाम दिया. पुलिस के मुताबिक, जज  ने बताया कि महिपाल को कभी दुखी नही किया. उस दिन गाड़ी की चाबी मांगने पर गुस्से में महिपाल  ने घटना को अंजाम दिया.पुलिस को आशंका है कि महिपाल का शार्ट टेम्पर्ड का नेचर रहा होगा. महिपाल ने खुद जज साहब की बहुत तारीफ की है

यह भी पढ़ें-गुरुग्राम : जज की पत्‍नी और बेटे को गोली मारने वाले गनर ने पहले से की थी 'प्‍लानिंग', फेसबुक से हुआ ये खुलासा

पहले बताया जा रहा था कि वह घर के काम दिए जाने से भी नाराज था. इस वजह से उसने गुस्से में गोली चलाई. पुलिस ने प्रेस ब्रीफिंग के दौरान सिपाही के जुर्म कुबूल करने की जानकारी दी. बता दें कि  इस घटना में गंभीर रूप से घायल जज की पत्नी की मेदांता अस्पताल में  जहां मौत हो गई थी, वहीं  बेटा ब्रेनडेड हो गया.  हमले में जज की पत्नी को दो गोलियां लगी थी. चौंकाने वाली बात रही कि हमलावर गनमैन ने एडिशनल सेशंस जज को फोन कर खुद हमले की जानकारी दी थी. गोली मारने के बाद फरार हुए गनमैन को पुलिस ने फरीदाबाद-गुड़गांव रोड से गिरफ्तार कर लिया गया था.  इस बीच गुड़ग्राम पुलिस ने मामले की त्वरित जांच के लिए डीसीपी की अगुवाई में एसआईटी गठित की है जिसमें उनके अलावा दो एसीपी और 4 इंस्पेक्टर शामिल हैं.

यह भी पढ़ें-गुरुग्राम : इलाज के दौरान जज की पत्नी की मौत, बेटे की हालत नाजुक, रिमांड पर भेजा गया आरोपी

इस मामले में जांच की जिम्मेदारी संभाल रहीं उपायुक्त (पूर्व) सुलोचना गजराज ने बताया था कि घटना करीब साढ़े तीन बजे की है जब अतिरिक्त न्यायाधीश कृष्णकांत की पत्नी ऋतु और बेटा ध्रुव आर्केडिया बाजार में खरीदारी के लिए गए थे. उनके साथ न्यायाधीश का सुरक्षा कर्मी महिपाल था. गजराज ने कहा, ‘‘ कुछ स्थानीय लोगों ने पुलिस को आर्केडिया बाजार के बाहर गोली चलने की सूचना दी. जब पुलिस दल पहुंचा तो उन्हें ऋतु और ध्रुव खून से लथपथ मिले.’’ अधिकारी के मुताबिक, ऋतु को सीने में गोली लगी थी. जबकि ध्रुव को सिर में गोली लगी है. उन्होंने बताया कि घायलों को मेदांता अस्पताल ले जाया गया जहां उनका इलाज चल रहा है गुड़गांव पुलिस के पीआरओ सुभाष बोकन ने पीटीआई भाषा को बताया कि महिपाल से यह जानने के लिए पूछताछ की जा रही है कि उसने गोली क्यों चलाई है.  वहीं इन सब के बीच पुलिस ने आरोपी को कोर्ट में पेश किया ,कोर्ट ने उसे हत्या का मकसद पता लगाने के लिए 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया, वहीं इस वारदात में जज की पत्नी की इलाज़ के दौरान मौत हो गयी जबकि बेटे की हालत बेहद नाजुक है.


गुरुग्राम पुलिस में कांस्टेबल के पर तैनात और गुरुग्राम के एडिशनल सेशन जज कृष्णकांत शर्मा के गनर 32 साल के महिपाल को पुलिस ने कोर्ट में पेश किया ,पुलिस ने हत्या का मकसद करने के लिए 7 दिन की रिमांड मांगी, लेकिन कोर्ट ने उसे 4 दिन की पुलिस रिमांड पर भेज दिया,कोर्ट में आरोपी ने अपने वकील के सामने अपना जुर्म कबूल किया. गौरतलब है कि शनिवार शाम गुरुग्राम के आर्केडिया मार्किट में उस समय दहशत फैल गयी,जब महिपाल ने भरे बाजार में सैकड़ों लोगों के सामने बहस के बाद शॉपिंग करके लौटीं जज की पत्नी ऋतु को पहले पीटा फिर 2 गोलियां मार दीं, उसके बाद जज के बेटे को भी 3 गोली मार दीं,फिर जज के बेटे को शैतान और उसकी मां को शैतान की माँ कहकर चिल्लाने लगा,उसके बाद जज के बेटे को कार में डालने की कोशिश की,लेकिन जब सफल नहीं हो सका तो जज की कार लेकर भाग गया ,इस दौरान लोग वीडियो बनाते रहे और फिर ये वीडियो वायरल हो गए,भागने के बाद महिपाल ने जज को खुद ही फोन कर वारदात की जानकारी दी.

टिप्पणियां
वीडियो-गुरुग्राम : इलाज के दौरान जज की पत्नी की मौत, बेटे की हालत नाजुक 


 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement