NDTV Khabar

बेटी से शिक्षक ने की छेड़छाड़, शिकायत वापस लेने का बनाया जा रहा था दबाव, पिता ने उठा लिया यह कदम...

मध्यप्रदेश के सागर के एक स्कूल में बेटी से छेड़छाड़ और इस संबंध में दर्ज मामले को स्कूल की प्रिंसिपल सहित कुछ अन्य लोगों द्वारा वापस लेने का दबाव बनाए जाने से तंग आकर एक व्यक्ति ने खुदकुशी कर ली.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बेटी से शिक्षक ने की छेड़छाड़, शिकायत वापस लेने का बनाया जा रहा था दबाव, पिता ने उठा लिया यह कदम...

प्रतीकात्मक फोटो.

सागर (मध्यप्रदेश):

दसवीं में पढ़ने वाली अपनी 16 वर्षीय बेटी से एक सरकारी स्कूल के शिक्षक द्वारा कथित तौर पर छेड़छाड़ करने और इस संबंध में दर्ज मामले को स्कूल की प्रिंसिपल सहित कुछ अन्य लोगों द्वारा वापस लेने का दबाव बनाए जाने से तंग आकर एक व्यक्ति ने बिजली के टावर से फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली. घटना सागर जिला मुख्यालय से करीब 42 किलोमीटर दूर गढ़ाकोटा कस्बे में हुई. छात्रा से स्कूल में छेड़छाड़ करने के मामले में शासकीय कन्या विद्यालय गढ़ाकोटा का आरोपी शिक्षक फिलहाल जेल में बंद है.

टिप्पणियां

गढ़ाकोटा पुलिस थाना प्रभारी कमलेंद्र कलचुरी ने बताया, 'छेड़छाड़ की 16 वर्षीय पीड़ित छात्रा के पिता ने शनिवार रात अपने घर से करीब दो किलोमीटर दूरी पर स्थित खेत में लगे बिजली के टावर से फंदा लटकाकर आत्महत्या कर ली.' उन्होंने कहा कि मृतक के पास से एक सुसाइड नोट भी मिला है. कलचुरी ने बताया कि इस सुसाइट नोट में उसने आरोप लगाया है कि स्कूल की महिला प्रिंसिपल एवं कुछ अन्य लोग छेड़छाड़ की शिकायत को वापस लेने के लिए दबाव बना रहे हैं, जिससे वह व्यथित एवं परेशान है.


उन्होंने कहा कि सुसाइड नोट के आधार पर पुलिस ने स्कूल की प्रिंसिपल व अन्य के खिलाफ धारा 306 के तहत मामला दर्ज कर लिया है. कलचुरी ने बताया कि छात्रा ने शिक्षक प्रदीप जैन पर छेड़छाड़ का आरोप लगाया था, जिसमें आरोपी शिक्षक के खिलाफ पॉक्सो एक्ट एवं छेड़छाड़ का मामला पिछले महीने दर्ज कर जेल भेज दिया गया है. घटना से आक्रोशित मृतक के परिजन एवं ग्रामीणों ने आज सुबह दमोह-सागर मार्ग पर चक्काजाम किया और सरकार से मांग की कि सुसाइड नोट में जिन लोगों के नाम लिखे गए हैं, उन पर तुरंत कार्रवाई की जाए.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement