Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

महाराष्ट्र में पीछा करने वाले सिरफिरे ने कॉलेज शिक्षिका को जिंदा जलाया, हालत नाजुक

पुलिस के अनुसार नागराले और पीड़िता दो साल पहले तक मित्र थे लेकिन उसके ‘‘सिरफिरे बर्ताव’’ के कारण महिला ने उससे संबंध तोड़ लिए थे.

महाराष्ट्र में पीछा करने वाले सिरफिरे ने कॉलेज शिक्षिका को जिंदा जलाया, हालत नाजुक

महाराष्ट्र में एक सिरफिरे ने कॉलेज शिक्षिका को जिंदा जलाया (प्रतीकात्मक तस्वीर).

खास बातें

  • महाराष्ट्र में एक कॉलेज शिक्षिका को सिरफिरे ने जिंदा जलाया
  • पीड़िता और आरोपी कुछ साल पहले तक दोस्त थे
  • सिरफिरा पीड़िता का पीछा करता था
मुंबई:

महाराष्ट्र (Maharashtra) के वर्धा (Wardha) जिले में पीछा करने वाले एक सिरफिरे के हाथों जलाई गई 25 वर्षीय शिक्षिका की हालत ‘‘नाजुक लेकिन स्थिर'' बनी हुई है. अस्पताल के अधिकारियों ने बृहस्पतिवार को यह जानकारी दी. वर्धा में हिंगनघाट की रहने वाली पीड़िता का नागपुर में ऑरेंज सिटी अस्पताल में इलाज चल रहा है. हिंगनघाट में पीड़िता जिस कॉलेज में पढ़ाती थी, सोमवार को वहां जाने के दौरान विकेश नागराले (27) ने उसका पीछा किया और उसे आग के हवाले कर दिया. घटना में पीड़िता 40 फीसदी झुलस गई. आरोपी नागराले अक्सर पीड़िता का पीछा किया करता था.

अस्पताल ने जारी मेडिकल बुलेटिन में कहा, ‘‘अब तक कोई बड़ी जटिलता सामने नहीं आई है, हालांकि उनकी हालत नाजुक बनी हुई है. उनके सभी अहम अंग काम कर रहे हैं और ऑक्सीजन की आपूर्ति भी हो रही है. वह हमारी बातों पर प्रतिक्रिया दे रही हैं. लेकिन उनकी स्थिति नाजुक बनी हुई है.''

सॉफ्टवेयर इंजीनियर ने मां को चाकू से गोदकर मार डाला, फिर दोस्तों संग छुट्टी मनाने निकला अंडमान और...

अस्पताल ने कहा कि महिला का उपचार कर रहे विशेषज्ञ संक्रमण और सांस संबंधी परेशानी जैसी अपेक्षित जटिलताओं पर नजर रख रहे हैं. इसके अनुसार दो बार उनके जख्मों को साफ किया गया, ड्रेसिंग की गई और ऊपरी अंगों की कई बार सर्जरी की गई. राज्य सरकार ने महिला के उपचार के निरीक्षण के लिए मंगलवार को नवी मुंबई के नेशनल बर्न्स सेंटर के निदेशक सुनील केसवानी को विमान से नागपुर भेजा.

राज्य के गृह मंत्री अनिल देशमुख (Anil Deshmukh) ने मंगलवार शाम को अस्पताल का दौरा किया. उन्होंने घोषणा की कि आरोपी के खिलाफ त्वरित सुनवाई होगी और महिला के रिश्तेदारों के अनुरोध पर जाने माने वकील उज्ज्वल निकम को विशेष अभियोजक नियुक्त किया जाएगा. वर्धा पुलिस ने बुधवार को कहा था कि पुलिस उपाधीक्षक (डीएसपी) तृप्ति जाधव के नेतृत्व में एक विशेष टीम मामले की जांच करेगी और आरोप पत्र दायर करने के लिए तमाम संबंधित सबूत जुटाएगी.

देर से सो कर उठने पर पत्नी ने मारा ताना, पति ने कर दी उसकी हत्या

उन्होंने बताया कि नागराले कुछ समय से पीड़िता का उत्पीड़न कर रहा था. पुलिस के एक अधिकारी ने इससे पहले बताया था कि सोमवार की घटना के बाद आरोपी ने भागने की कोशिश की लेकिन महज चार घंटे के अंदर ही उसे नागपुर में बुटीबोरी औद्योगिक उपनगर से पकड़ लिया गया.

उन्होंने बताया कि आरोपी के खिलाफ भारतीय दंड संहिता की धाराओं 307 (हत्या के प्रयास) और 326-ए (तेजाब इत्यादि का इस्तेमाल कर जानबूझकर किसी को गंभीर रूप से नुकसान पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया गया है और उसे शुक्रवार तक पुलिस हिरासत में भेज दिया गया है.

उन्होंने बताया कि पुलिस चश्मदीदों, पीड़िता और आरोपी के माता पिता समेत विभिन्न लोगों के बयान दर्ज कर रही है. पुलिस के अनुसार नागराले और महिला दो साल पहले तक मित्र थे लेकिन उसके ‘‘सिरफिरे बर्ताव'' के कारण महिला ने उससे संबंध तोड़ लिए थे.

पुलिस के एक अधिकारी ने बताया, ‘‘नागराले शादीशुदा है और सात महीने का उसका एक बेटा भी है. वह बल्हारशाह में एक कंपनी में काम करता है. वह अक्सर महिला का पीछा किया करता था. पिछले साल उसने आत्महत्या करने की भी कोशिश की थी.'' पीड़िता के रिश्तेदार बताया कि बार-बार चेतावनी देने के बावजूद नागराले बीते कई साल से उसका उत्पीड़न कर रहा था. नागराले की वजह से ही पिछले साल उसकी शादी टूट गई.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)