युवक की लूटपाट के बाद हत्या, पुलिस ने शुरू की मामले की जांच 

घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है.

युवक की लूटपाट के बाद हत्या, पुलिस ने शुरू की मामले की जांच 

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

दिल्ली से सटे गुरुग्राम की एक निजी कंपनी में काम करने वाले एक युवक की लूटपाट के बाद हत्या करने का मामला सामने आया है. घटना की जानकारी मिलने के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर उसे पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि मृतक की पहचान गौरव चंदेल के रूप में की गई है जो एक निजी कंपनी में रीजनल मैनेजर के पद पर हैं. घटना उस समय हुई जब वह गुरुग्राम से नोएडा आ रहे थे. गौरव की पत्नी ने पुलिस को बताया कि घटना से कुछ समय पहले गौरव से उनकी बात हुई थी.

राजस्थान का जेम्स-बांड दिल्ली में गिरफ्तार, दबोचे जाने पर कहा- आज किस्मत दगा दे गई

उस दौरान गौरव ने बताया था कि वह अभी परथला चौक पर हैं और अगले पांच मिनट में घर आ जाएंगे. लेकिन इसके बाद जब वह आधे घंटे के बाद भी घर नहीं लौटे तो उनके परिवार ने उनकी तलाश शुरू की. उनकी तलाश करते हुए जब उनका परिवार हिंडन विहार स्टेडियम के पास पहुंचा तो सर्विस लेन के किनारे वह पड़े हुए मिले. गौरव के सिर से खून बह रहा था. उनकी गाड़ी भी मौके पर नहीं थी. बाद में इसकी सूचना पुलिस को दी गई.

गौरतलब है कि इस तरह का यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले उत्तर प्रदेश के मथुरा जिले में लुटेरों ने एक महिला और उसकी बेटी को लूट का विरोध करने पर चलती ट्रेन से नीचे फेंक दिया था. घटना में दोनों की मौत हो गई. पुलिस के घटना महिला और उसकी बेटी दिल्ली से कोटा जा रहे थे.आरपीएफ के वरिष्ठ अधिकारी ने बताया था कि घटना अजहाई रेलवे स्टेशन के निकट हुई जब दिल्ली के शाहदरा की निवासी मीना (55) अपनी बेटी मनीषा (21) और बेटे आकाश (23) के साथ निजामुद्दीन-तिरुवनंतपुरम सेन्ट्रल एसएफ एक्सप्रेस (22634) ट्रेन में सफर कर रही थीं. अधिकारी के मुताबिक मनीषा को इंजीनियरिंग प्रवेश परीक्षा के लिये कोचिंग संस्थान में दाखिला लेना था, जिसके लिए वे कोटा जा रहे थे. तड़के मीना ने लुटेरे को उनका बैग ले जाते हुए देखा.

दिल्ली से बिहार जा रही थी ट्रेन, मास्क पहन कर घुसे 15 बदमाश, बंदूक के जोर पर 1 घंटे तक 200 यात्रियों को लूटा

आरोपियों ने उनका बैग पकड़ रखा था और शोरगुल की आवाज से उठी मनीषा ने भी बैग को छुड़ाने की कोशिश की. इसके बाद एक लुटेरा उन्हें खींचता हुआ स्लीपर कोच के गेट पर पहुंच गया और बैग छीनकर मां-बेटी को ट्रेन से धकेल दिया. महिला के बैग में मोबाइल फोन, नकदी, कोचिंग और हॉस्टल की फीस के चैक तथा अन्य कीमती सामान थे. अपनी मां और बहन को ट्रेन से बाहर फेंके जाने के बाद तुरंत बाद आकाश ने ट्र्रेन की चेन खींची लेकिन तब तक ट्रेन वृंदावन रोड रेलवे स्टेशन पहुंच गयी. इसके बाद आकाश ने घटना की पूरी जानकारी पुलिस को दी.

चलती ट्रेन में लूट की वारदातें करने वाला गिरोह पकड़ा गया, महिलाओं को बनाते थे निशाना

घटना की जानकारी मिलते ही आरपीएफ ने घटनास्थल के लिए एक एंबुलेंस को रवाना कर दिया. लेकिन इससे पहले की एंबुलेंस दोनों घायलों को पास के अस्पताल तक पहुंचा पाती दोनों की मौत हो गई. आरपीएफ ने अज्ञात आरोपियों के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. साथ ही गिरफ्तारी के लिए विशेष टीम बना दी गई है.

पिछले साढ़े तीन वर्षों में ट्रेनों में यात्रियों के सामान चोरी की 55,369 घटनाएं हुईं

Newsbeep

उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले मे शुक्रवार रात चेन्नई एक्सप्रेस में लूटपाट करने वाले बदमाश यात्रियों के सोने-चांदी और नकदी के साथ ही एक यात्री की मां का अस्थि कलश भी लूटकर अपने साथ ले गए थे. पुलिस ने यह जानकारी दी थी. जीआरपी के मुताबिक चेन्नई निवासी यात्री बदमाशों से कलश में अपनी मां की अस्थियां होने की बात कहता रहा लेकिन बदमाशों को उसकी भाषा समझ में नहीं आई और वे अन्य यात्रियों के सामान के साथ उसकी मां का अस्थि कलश भी ले गए थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com