NDTV Khabar

आधार कार्ड लिंक करवाने के लिए फोन आता है तो हो जाएं सावधान, लग सकता है लाखों का चूना

आधार कार्ड को फोन नंबर से लिंक करवाने के चक्‍कर में एक शख्‍स को 1 लाख 30 हजार रुपये गंवाने पड़े. फोन करने वाले शख्‍स ने उनसे आधार कार्ड को फोन नंबर से लिंक करने के लिए कहा था.

1KShare
ईमेल करें
टिप्पणियां
आधार कार्ड लिंक करवाने के लिए फोन आता है तो हो जाएं सावधान, लग सकता है लाखों का चूना

खास बातें

  1. ध्‍ााेखेबाज ने शाश्‍वत से आधार कार्ड और फोन नंबर लिंक करने को कहा
  2. शाश्‍वत कुछ समझ नहीं पाए और सारी जानकारी दे दी
  3. देखते ही देखते धोखेबाज ने उनके एकाउंट से पैसे लूट ल‍िए
नई द‍िल्‍ली : पिछले कुछ सालों से देश के लोग जिस काम को सबसे ज्‍यादा अंजाम दे रहे हैं वो हैं आधार को लिंक करवाना. कभी हमने आधार कार्ड को पैन कार्ड से लिंक किया तो कभी बैंक अकाउंट से. यहां तक कि अब तो फोन नंबर को भी आधार कार्ड
से लिंक करवाना अन‍िवार्य हो गया है. भागती-दौड़ती जिंदगी में बदलते नियमों के साथ कंफ्यूजन भी बढ़ने लगता है. ऊपर से अगर आख‍िरी तारीख नजदीक आ रही हो तो और भी समझ नहीं आता है कि कब क्‍या करना है, किसको और कैसे
लिंक करना है. कुछ लोग इसी कंफ्यूजन और हड़बड़ी का फायदा उठाने की फिराक में रहते हैं और ऐसी ही एक धोखाधड़ी का श‍िकार हुए हैं मुंबई के रहने वाले शाश्‍वत गुप्‍ता. 

आधार कार्ड से लिंक करा लें सिम कार्ड, नहीं तो हो जाएगा डिएक्टिवेट

शाश्‍वत केरल के कोझीकोड की एक प्राइवेट फर्म में काम करते हैं. उनके पास एक फोन आया. फोन करने वाले शख्‍स ने उनसे आधार कार्ड को फोन नंबर से लिंक करने के लिए कहा और इसी चक्‍कर में उस धोखेबाज ने उनसे  1 लाख 30 हजार रुपये ठग ल‍िए. 

अपने मोबाइल के सिम को लेकर यह काम कर लें नहीं तो नंबर हो जाएगा बंद

शाश्‍वत ने फेसबुक में एक पोस्‍ट कर अपने साथ हुई इस वारदात को तफ्तीश से बताया है. उनके मुताबिक किसी ने उन्‍हें यह कहकर फोन किया था कि वह एयरटेल से बोल रहा है और अगर उन्‍होंने अपना फोन नंबर आधार से लिंक नहीं किया तो एयरटेल उनका सिम ड‍िएक्टिवेट करने के साथ ही हमेशा के लिए नंबर ब्‍लॉक कर देगा. यही नहीं उस फ्रॉड ने उनसे अपने सिम कार्ड की डिटेल के साथ 121 (एयरटेल का आध‍िकारिक नंबर ) पर एक एसएमएस भेजने के लिए कहा ताकि
सिम को फिर रिएक्टिवेट किया जा सके. शाश्‍वत ने कॉलर से कहा कि वो इन सबके बारे में नहीं जानता. तब उस धोखेबाज ने शाश्‍वत को एक नंबर दिया. शाश्‍वत ने बिना जाने समझे उस नंबर पर अपने सिम कार्ड की डिटेल भेज दी और कुछ ही
मिनटों में उनका सिम कार्ड डिएक्टिवेट हो गया. आपको बता दें कि धोखेबाज ने जो नंबर भेजा था उसका इस्‍तेमाल डुप्‍लीकेट सिम हासिल कर पुराने सिम को कैंसिल करने के लिए किया जाता है. 

पैन कार्ड से आधार को लिंक करने की तारीख 31 दिसंबर तक बढ़ाई गई

शाश्वत ने वही सब किया जो धोखेबाज उनसे करवाना चाहता था. देखते ही देखते ठग ने उनके सैलरी अकाउंट से पैसे उड़ा लिए. शाश्वत ने वो पैसे किसी बुरे वक्त के लिए बचाकर रखे थे. अपने सिम की जानकारी मुहैया कराना शाश्‍वत को इतना
भारी पड़ा कि उन्‍हें 1 लाख 30 रुपये का नुकसान झेलना पड़ा. शाश्‍वत ने बड़ी मेहनत से पैसे कमाए थे, लेकिन सब चले गए. ये हैं शाश्‍वत की फेसबुक पोस्‍ट:

 

शाश्वत की पोस्ट के बाद बैंक की ओर से उन्‍हें यह जवाब मिला:



इस वारदात से हम सभी को सीख लेनी चाहिए. हम सभी को आए दिन ऐसे फोन आते रहते हैं जिनमें हमसे आधार कार्ड को फोन से लिंक करने के लिए कहा जाता है. ऐसे में जरूरी है कि हम अतिर‍िक्‍त सावधानी बरतें और बिना सोचे-समझें अपनी कोई भी जानकारी किसी को न दें.

VIDEO


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement