NDTV Khabar

दिल्ली : चिड़ियाघर में मोबाइल चुराने वाले गैंग का पर्दाफाश, बेहद शातिर अंदाज में वारदात को देते थे अंजाम

दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो चिड़ियाघर में छुट्टी के दिन आकर दर्शकों के मोबाइल फोन चुराने की वारदात को अंजाम देते थे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली : चिड़ियाघर में मोबाइल चुराने वाले गैंग का पर्दाफाश, बेहद शातिर अंदाज में वारदात को देते थे अंजाम

चिड़ियाघर में आने वाले लोगों के मोबाइल फोन चुराने वाले गिरोह का हुआ भंडाफोड़

नई दिल्ली: दिल्ली पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है, जो चिड़ियाघर में छुट्टी के दिन आकर दर्शकों के मोबाइल फोन चुराने की वारदात को अंजाम देते थे. पुलिस ने इस मामले में झारखंड के रहने वाले आरोपी जीतन कुमार को गिरफ्तार किया है और उसके पास से चिड़ियाघर से चोरी हुए 9 स्मार्टफोन बरामद किए हैं. पुलिस के मुताबिक बीते शनिवार को छुट्टी का दिन होने की वजह से दिल्ली चिड़ियाघर में दर्शकों की काफी भीड़ थी. एक परिवार नोएडा से अपने परिवार के साथ चिड़ियाघर घूमने आया था. वे लोग जगुआर को देखने में मशगूल थे. इसी दौरान किसी ने इस परिवार के एक सदस्य की जेब से उनका मोबाइल निकाल लिया. उन्होंने तत्काल शोर मचाया. शोर सुनकर भीड़ में से एक लड़का भागने लगा. शोर-शराबे की आवाज सुनकर पास ही तैनात एक पुलिसकर्मी ने चोर का पीछा करके पकड़ लिया, जिसकी पहचान जीतन कुमार के रूप में हुई.

यह भी पढ़ें : दिल्‍ली पुलिस के हत्‍थे चढ़े हाईटेक चोर, वारदात के वक़्त करते थे मोबाइल जैमर का इस्तेमाल

आरोपी ने पूछताछ में बताया कि वो आजादपुर, दिल्ली में किराये पर एक कमरा लेकर अपने साथी रौशन के साथ रहता था. वह अपने साथी रौशन के साथ शनिवार, रविवार और छुट्टियों के दिन चिड़ियाघर आते था और दर्शकों की अधिक भीड़ होने का फायदा उठाकर उनके मोबाइल चुरा लेता था. इस वारदात में एक ऑटो रिक्शा चालक भी उनका साथ देता था जो इन दोनों के साथ आता था तथा चिड़ियाघर के बाहर इनका इंतजार करता था. जैसे ही ये दोनों मोबाइल चोरी करके बाहर आते वह उन्हें लेकर नौ दो ग्यारह हो जाता था.

यह भी पढ़ें : दिल्ली के पुराने किले में पिस्तौल दिखाकर लूट, बदमाश तुरंत पकड़े गए

टिप्पणियां
चिड़ियाघर की अच्छी जानकारी होने के कारण वे व्हाइट टाइगर और जगुआर के पिंजरों के आसपास ही खड़े होते थे. यहां बड़ी तादाद में लोग इन जानवरों को देखने के लिए इकट्ठा होते थे. ये लोग भीड़ में मौका पाकर दर्शकों के मोबाइल फोन चोरी कर लेते थे. ये लोग ज्यादातर उन परिवारों को निशाना बनाते थे, जो छोटे बच्चों के साथ चिड़ियाघर में आते थे. जब माता-पिता का ध्यान अपने बच्चों पर होता था तभी वे मौका देखकर मोबाइल फोन निकाल लेते थे. जीतन बड़ी ही सफाई के साथ मोबाइल चोरी करता था और रौशन चोरी के मोबाइल को बेचता था.

VIDEO : फेसबुक से पकड़ में आया सुपर चोर
पुलिस आरोपी जीतन के साथी रौशन को गिरफ्तार करने और चोरी हुए मोबाइल फोन और उनके खरीददारों को पकड़ने की कोशिश कर रही है. इसी के साथ मोबाइल चोरी के 14 मामलों को सुलझा लिया गया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement