NDTV Khabar

मुंबई : मासूम बच्ची को सातवीं मंजिल से फेंककर हत्या के मामले में बड़ा खुलासा, डायरी ने खोला राज

आरोपी अनिल चुगानी उस बच्ची के साथ उसकी जुड़वा बहन को भी बिल्डिंग से नीचे फेंकने वाला था, हत्या का कारण आया सामने

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. मोरक्को की एक महिला ने बताया था खुशहाल जिंदगी के लिए घिनौना रास्ता
  2. कहा था खुशहाल जीवन के लिए जुड़वा बच्चियों की बलि देनी होगी
  3. चुगानी ने अंधविश्वास में अपने दोस्त की बच्ची की जान ले ली
मुंबई:

मुंबई के कोलाबा इलाके में शनिवार की शाम को एक शख्स ने सातवीं मंजिल से तीन साल की मासूम को नीचे फेंककर उसकी हत्या कर दी. पहले तो हत्या का यह सीधा साधा मामला लगा इसलिए पुलिस ने धारा 302 के तहत केस दर्ज कर आरोपी अनिल चुगानी को गिरफ्तार कर लिया था, लेकिन अब जांच में पता चला है कि वह उस बच्ची के साथ उसकी जुड़वा बहन को भी फेंकने वाला था. उससे मोरक्को की एक महिला ने कहा थी कि खुशहाल जिंदगी चाहिए तो जुड़वा बच्चियों की बलि देनी होगी. इसी अंधविश्वास में उसने एक बच्ची की जान ले ली.

पुलिस के मुताबिक आरोपी अनिल चुगानी रोज अपनी डायरी में लिखता था कि "किल द ट्विंस टू सेव योर लाइफ"
पूछताछ में उसने बताया है  कि मोरक्को में रहने वाली एक महिला ने उसे बताया था कि अगर खुशहाल जिंदगी चाहिए तो जुड़वा बच्चियों की बलि देनी होगी. अनिल ने इसके लिए अपने बचपन के दोस्त की बेटियों को चुना और बहाने से घर लाकर एक की हत्या कर दी.

मुंबई में बीते शनिवार को यह दिल दहला देने वाला मामला सामने आया था. कोलाबा में अनिल चुगानी ने अपने दोस्त की तीन साल की मासूम बच्ची को सातवीं मंजिल से नीचे फेंक दिया था जिससे बच्ची की मौत हो गई. इसके बाद आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया. कोलाबा के अशोक अपार्टमेंट की सातवीं मंजिल पर रहने वाले अनिल चुगानी के घर खेलने आई रमेशलाल हतीरमणि  की बेटी शनाया को उसने खिड़की से फेंक दिया था. बच्ची को अस्पताल ले जाया गया, जहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर कोर्ट में पेश किया जहां उसको पांच दिनों की पुलिस हिरासत में रखने का आदेश दिया गया.


3 साल की बच्ची को सातवीं मंजिल से नीचे फेंकने वाला शख्स गिरफ्तार, 5 दिनों की पुलिस हिरासत

कोर्ट में आरोपी के वकील ने दलील दी कि इस हादसे में अनिल चुगानी की गलती नहीं, बच्ची अपनी गलती की वजह से गिरी थी. जानकारी के मुताबिक आरोपी और बच्ची के पिता एक-दूसरे को कई सालों से जानते थे. दोनों एक ही बिल्डिंग में रहते थे और एक ही समाज के हिस्से थे लिहाजा दोनों में अच्छे संबंध थे. आरोपी कुछ साल मोरक्को में ही रह चुका है. घटना के बाद आरोपी ने ही फोन कर पुलिस की जानकारी दी और हत्या की बात भी कबूली.  

यूपी : स्कूल की तीसरी मंजिल पर टॉयलेट गई थी 15 साल की लड़की, फर्श पर पड़ी मिली लहूलुहान

लोग अनुमान लगा नहीं पा रहे थे कि ऐसी क्या परिस्थिति थी कि आरोपी जिस परिवार को कई सालों से जानना था उसने उस परिवार की मासूम बच्ची को इतनी बेरहमी से मार दिया.

VIDEO : पुलिस हिरासत में भेजा गया बच्ची की जान लेने वाला आरोपी

टिप्पणियां



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement