फर्रुखाबाद: बंधक बनाए गए सभी 23 बच्चों को छुड़ाया गया, यूपी पुलिस ने आरोपी को किया ढेर

यूपी पुलिस की विशेष टीम ने अपने ऑपरेशन में आरोपी को ढेर किया है.इस ऑपरेशन से पहले यूपी पुलिस के डीजीपी ओपी सिंह ने फोन पर एनडीटीवी को बताया था कि लखनऊ से कमांडोज का एक दस्ता फर्रुखाबाद रवाना कर दिया गया है

फर्रुखाबाद: बंधक बनाए गए सभी 23 बच्चों को छुड़ाया गया, यूपी पुलिस ने आरोपी को किया ढेर

फायरिंग में गांव का आदमी घायल हो गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

खास बातें

  • खुद की बीवी-बच्चे को भी कर रखा है बंद
  • बच्चे के जन्मदिन के बहाने आस-पास के बच्चों को बुलाया था घर
  • लखनऊ से रवाना हुआ कमांडोज का दस्ता
कानपुर:

उत्तर प्रदेश पुलिस ने करीब दस घंटे की मशक्कत के बाद फर्रुखाबाद जिले में बंधक बनाए गए सभी 23 बच्चों को छुड़ा लिया है. पुलिस की इस कार्रवाई में आरोपी को भी ढेर कर दिया गया है. पुलिस ने आरोपी शख्स की पहचान सुभाष बाथम के रूप में की है. पूरा मामला फर्रुखाबाद जिले के मोहम्मदाबाद थाना क्षेत्र के एक गांव का है. सुभाष ने गुरुवार को अपने बच्चे के जन्मदिन के बहाने आस-पास के बच्चों को घर में बुलाया और फिर अपनी बीवी और बच्चे समेत सभी बच्चों को बेसमेंट में बंद कर दिया था. बता दें कि यह आरोपी हत्या का दोषी है और हाल ही में पैरोल पर बाहर आया था.

CAA के खिलाफ प्रदर्शन के दौरान यूपी पुलिस पर बेगुनाहों को जेल में डालने का लगा आरोप, कोर्ट ने दी ऐसे 48 लोगों को जमानत

इस घटना से पूरे इलाके में दहशत का माहौल था.  घटना के सामने आने के बाद स्थानीय लोगों ने  इसकी जानकारी पुलिस को दी. मामला पुलिस के पास पहुंचने की जानकारी मिलने के बाद घटना स्थल पर पुलिस की टीम पहुंची. आरोप है कि सुभाष ने पुलिस टीम पर भी फायरिंग की. बताया जा रहा है कि फायरिंग में गांव का ही एक व्यक्ति घायल भी हुआ है. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

डॉक्टर कफील खान को यूपी STF ने मुंबई से किया गिरफ्तार, AMU में भड़काऊ भाषण देने का आरोप

बाद में इस घटना की जानकारी यूपी के डीजीपी ओपी सिंह को दे दी गई. उन्होंने फोन पर एनडीटीवी को बताया था कि लखनऊ से कमांडोज का एक दस्ता फर्रुखाबाद रवाना कर दिया गया है. साथ ही कानपुर के आईजी और फर्रुखाबाद के सभी थानों की फोर्स को भी मौके पर भेजा गया है. ओपी सिंह ने बताया कि चूंकि घर में बच्चे हैं इसलिए कोई भी कदम उठाना उनकी जान जोखिम डाल सकता है. इसलिए बाथम को गांव के प्रधान और कुछ लोगों की मदद से समझाने की कोशिश की जा रही है. इस घटना को लेकर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने भी बैठक बुलाई थी.