फर्जी क्रेडिट कार्ड बनाकर बड़े पैमाने पर बैंकों से ठगी करने वाले गैंग का भंडाफोड़

अच्छे सिबिल रिकॉर्ड धारकों की जानकारी चुराकर फर्जी क्रेडिट कार्ड बनाकर ठगी का गोरखधंधा कर रहा था गैंग, यूपी एसटीफ की नोएडा यूनिट ने पकड़ा

फर्जी क्रेडिट कार्ड बनाकर बड़े पैमाने पर बैंकों से ठगी करने वाले गैंग का भंडाफोड़

पुलिस की गिरफ्त में आरोपी.

नई दिल्ली:

यूपी एसटीफ (UP STF) की नोएडा यूनिट ने 20 नोएडा पुलिस (Noida Police) के सहयोग से बैंकों से अच्छे सिबिल रिकॉर्ड धारकों की जानकारी चुराकर फर्जी क्रेडिट कार्ड बनाकर बड़े पैमाने पर बैंकों से ठगी करने वाले गैंग के सरगना सहित चार लोगों को फ़िल्म सिटी के पास से गिरफ़्तार किया. आरोपी पहले जाली दस्तावेजों का इस्तेमाल करके फ़र्ज़ी क्रेडिट कार्ड बनवाते थे फिर कैश/शॉपिंग लिमिट का प्रयोग करके फरार हो जाते थे. दर्जनों बैंकों और फ़ायनेंस कम्पनियों से इसी प्रकार जाली दस्तावेजों का प्रयोग करके कई करोड़ की ठगी की बात प्रकाश में आई है. 

इस संगठित गिरोह के कई बैंक एकाउंटों के बारे में पता चला है. इनमें जमा धनराशि को फ़्रीज़ कराने की कार्रवाई चल रही है. गैंग का सरगना जतिन पूर्व में दिल्ली से दो बार जेल जा चुका है.

गिरफ्तार किए गए आरोपी अच्छे लोगों के केवाईसी डॉक्यूमेंट को यूज करके फर्जी आईडी प्रूफ जारी करा लेते थे. उसके उपरांत अमेजॉन शॉपिंग एप्लीकेशन के द्वारा क्रेडिट कार्ड ऑनलाइन एप्लाई करते थे. जतिन और कपूर, जो कि इस गैंग के सरगना हैं,  हजार रुपये प्रति ग्राहक केवाईसी डॉक्यूमेंट अपने एक सहयोगी मुकेश जुनेजा से खरीदते और अच्छे ग्राहकों के KYC अभिलेख कूटरचित करके उनमें अपने गैंग के लोगों, जैसे पकड़े गए कर्ण और राजू आदि के फोटो लगा देते थे. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस केस में आरोपियों ने अपने आपको एचसीएल नोएडा में कार्यरत दिखाकर लगभग 20 से ज्यादा कार्ड बनवाए थे. इनके द्वारा गौरव शर्मा नामक व्यक्ति द्वारा फर्जी बिजनेस दिखाकर विभिन्न बैंकों से ली गई कार्ड स्वाइप मशीन से 3 से लेकर 3.5 प्रतिशत कमीशन पर लगभग 80 लाख का कैश प्राप्त किया गया था. इस केस में कर्ण और राजू के फोटो इस्तेमाल हुए थे. वर्तमान में मुख्य अभियुक्त जतिन ने कपूर और राजू की मदद से गुड़गांव, करनाल, दिल्ली में फ्लैट किरायेपर ले रखे थे जिनमें वे वेरिफिकेशन के वक्त उपस्थित हो जाते थे.

पुलिस ने करीब 18 लाख पचास हज़ार रुपये बैंक खाते में फ़्रीज़ किया है. उनसे 6,23,000 कैश बरामद किए गए हैं. आरोपियों से 44 ग्राम सोने के कुल 7 बिस्किट, 7.28 ग्राम के कान के सोने के टॉप्स, 8 पैन कार्ड, 8 आधार कार्ड, एक वोटर कार्ड, 60 क्रेडिट  कार्ड, 16 POS मशीन, 9 डेबिट कार्ड, दो गाड़ियां और कई महत्वपूर्ण काग़ज़ात बरामद किए गए हैं. पुलिस ने आरोपी जितेंद्र गुलाटी उर्फ जतिन, कपूर सिंह दाहिया, त्रिलोक नाथ शर्मा और कुलदीप उर्फ करन को गिरफ्तार किया है.