NDTV Khabar

Lockdown उल्लंघन को लेकर दो भाइयों में झगड़ा, बड़े भाई ने चाकू से की छोटे भाई की हत्या

मीडिया से लेकर प्रधानमंत्री तक लोगों से माहौल को पैनिक बनाने से बचने की लगातार अपील कर रहे हैं. 21 दिनों के लिए शुरु हुए लॉकडाउन से निपटने के लिए सरकार की तरफ से कई कदम उठाए जा रहे हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
Lockdown उल्लंघन को लेकर दो भाइयों में झगड़ा, बड़े भाई ने चाकू से की छोटे भाई की हत्या

पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार

खास बातें

  1. बड़े भाई ने की छोटे भाई की हत्या
  2. लॉकडाउन के उल्लधंन पर हुआ विवाद
  3. पुलिस ने आरोपी को किया गिरफ्तार
मुंबई:

मीडिया से लेकर प्रधानमंत्री तक लोगों से माहौल को पैनिक बनाने से बचने की लगातार अपील कर रहे हैं. 21 दिनों के लिए शुरु हुए लॉकडाउन से निपटने के लिए सरकार की तरफ से कई कदम उठाए जा रहे हैं. साथ ही प्रशासन की तरफ से लॉकडाउन का उल्लंधन न करने देने के लिए लगातार कदम उठाए जा रहे हैं. इधर मुंबई के मुम्बई के कंदीवाली पूर्व में एक हैरान कर देने वाली घटना सामने आयी है. जहां लॉकडाउन के उल्लंधन न करने की बात पर हुए झड़प में बड़े भाई ने छोटे भाई की चाकू मारकर हत्या कर दी है. 

बिहार: पटना में सब्ज़ी व्यापारी के घूस न देने पर पुलिसकर्मियों ने गोली मारी

घटना कंदीवाली पूर्व में पोइसर की है.जहां छोटा भाई  दुर्गेश कोरोना वायरस की डर से पुणे से भागकर बड़े भाई राजेश के घर कांदीवली में रहने आया था.पुलिस के मुताबिक बुधवार को बड़ा भाई राजेश अपनी पत्नी के साथ सब्जी लेने बाहर निकले तो छोटे भाई दुर्गेश में मना किया. दुर्गेश ने लॉक डाउन और कोरोना वायरस का हवाला देकर बड़े भाई को बाहर जाने से रोका, लेकिन बड़ा भाई नहीं माना. 


टिप्पणियां

Coronavirus: लॉकडाउन के बाद भारत में गर्मी बढ़ने से खत्म हो सकता है Covid-19 का प्रकोप!

वापस आने पर छोटे भाई दुर्गेश ने राजेश पर धारा 144 के उलंघन का आरोप लगाया औऱ भला बुरा कहना शुरू कर दिया. औऱ जिससे दोनों भाईयों में झगड़ा शुरू हो गया. नाराज राजेश ने घर में रखे चाकू से छोटे भाई दुर्गेश पर हमला कर दिया जिसमें उसकी मृत्यु हो गयी.समता नगर पुलिस ने आरोपी राजेश लक्ष्मी ठाकुर को गिरफ्तार कर लिया है.
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर बोले- मैं रामायण देख रहा हूं, तो फराह खान बोलीं- कई मजदूर भोजन और पानी के बिना...

Advertisement