NDTV Khabar

पेट्रोल पंपों पर तेल चोरी गिरोह का मास्टरमाइंड कर्नाटक में गिरफ्तार

यूपी एसटीएफ ने तेल चोरी के खिलाफ मुहिम का आगाज किया था, ठाणे पुलिस ने अंजाम तक पहुंचाया

584 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
पेट्रोल पंपों पर तेल चोरी गिरोह का मास्टरमाइंड कर्नाटक में गिरफ्तार

ठाणे क्राइम ब्रांच ने तेल चोरी के मास्टरमाइंड प्रकाश नुलकर को कर्नाटक के हुबली से गिरफ्तार कर लिया है.

खास बातें

  1. चीन से चिप मंगाकर उसमें जरूरी बदलाव करके पेट्रोल पंपों को बेचता था
  2. मामले में अब तक प्रकाश नुलकर सहित कुल 23 आरोपी गिरफ्तार हुए
  3. प्रति पांच लीटर पर 40 से 700 मिली लीटर तक तेल की चोरी होती थी
मुंबई: पेट्रोल पंपों में चिप लगाकर बड़े पैमाने पर हो रही तेल चोरी पकड़ने की जिस मुहिम का आगाज यूपी एसटीएफ ने किया था उसे अंजाम तक पहुंचाने का काम ठाणे पुलिस ने किया है. ठाणे क्राइम ब्रांच ने तेल चोरी के मास्टरमाइंड प्रकाश नुलकर को कर्नाटक के हुबली से गिरफ्तार कर लिया है.

इस मामले में अब तक कुल 23 लोग गिरफ्तार हो चुके हैं. इनमें से आठ नुलकर के साथी हैं और वे सभी टेक्नीशियन हैं. बाकी के आरोपियों में इंजीनयर, पेट्रोल पंप मालिक, मैनेजर और कर्मचारी शामिल हैं.

ठाणे के पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह ने एनडीटीवी को बताया कि आईटीआई इंजीनियर प्रकाश नुलकर 13 साल तक मिडको कंपनी में डिस्पेंसर बनाने के बाद तेल चोरी के खेल में लग गया. चीन से चिप मंगाता और फिर उसमें जरूरी बदलाव कर पेट्रोल पंपों को बेच देता. कुछ को किराए पर भी देता था.

पुलिस की मानें तो तेल चोरी का यह डिजिटल खेल साल 2009 से ही तब शुरू हो गया था जब डिजिटल डिस्पेंसिंग मशीनें लगनी शुरू हुई थीं. मामले में अभी तक कुल तीन गिरोहों का भंडाफोड़ हुआ है जिसमें प्रकाश नुलकर का गिरोह सबसे बड़ा और शतिर है. डोम्बिवली का विवेक शेट्टे दूसरे नंबर पर आता है. शेट्टे पहले प्रोफेसर था.

तेल चोरी का खेल तीन तरीके से हो रहा था. कहीं-कहीं कंट्रोल कार्ड में छेड़छाड़ कर तो कहीं डिस्पेंसर यूनिट में गड़बड़ी कर और कहीं कैलिबर यूनिट में फेरबदल करके.

पुलिस के मुताबिक पांच लीटर पर 40 मिली लीटर से लेकर 700 मिली लीटर तक तेल की चोरी होती थी. पुलिस का दावा है कि तेल चोर महीने भर में ही करोड़ों के वारे न्यारे कर रहे थे.

ठाणे पुलिस आयुक्त परमबीर सिंह के मुताबिक अभी तक राज्य के 98 पेट्रोल पंपों की जांच हो चुकी है जिसमें से 56 पेट्रोल पंपों पर गड़बड़ी मिली है. लेकिन इसका यह मतलब नहीं है कि बाकी को क्लीनचिट मिल गई है. शक है कि धरपकड़ के डर से बहुत से पेट्रोल पंप वालों ने खुद ही चिप निकलवा ली है. शक के दायरे में मापतौल विभाग के कुछ अफसर भी हैं.

यह भी पढ़ें-  यूपी के बाद अब महाराष्ट्र में भी तेल चोरी को लेकर पेट्रोल पंपों के खिलाफ बड़े पैमाने पर कार्रवाई शुरू

ठाणे पुलिस की मानें तो पेट्रोल पंपों पर तेल चोरी का यह रैकेट सिर्फ राज्य या देश भर में ही नहीं है, इसके तार विदेशों में भी जुड़े हो सकते हैं क्योंकि पूरे स्कैम का मास्टरमाइंड प्रकाश नुलकर तेल चोरी के लिए जरूरी टेम्पर्ड चिप चीन, दक्षिण अफ्रीका और अबुधाबी में भी सप्लाई करता था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement