NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : पिलखुवा में दवा व्यापारी के घर से 40 लाख की लूट

उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले की पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र में बुधवार को 10-12 हथियारबंद बदमाशों ने दवा व्यापारी के घर धावा बोला और परिजनों को बंधक बनाकर करीब 40 लाख की लूट को अंजाम दिया.

6 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश : पिलखुवा में दवा व्यापारी के घर से 40 लाख की लूट

लूटेरे दुकान का शटर तोड़ कर घर में दाखिल हुए और परिजनों को बंधक बनाकर लूटपाट की (प्रतीकात्मक चित्र)

खास बातें

  1. बदमाशों ने दवा कारोबारी के घर से की 40 लाख की लूट
  2. परिजनों को बंधक बनाकर नकदी और गहने लूटे ले गए
  3. पुलिस चौकी से चंद कदमों की दूर पर है कारोबारी का घर
पिलखुवा: उत्तर प्रदेश के हापुड़ जिले की पिलखुवा कोतवाली क्षेत्र में बुधवार को 10-12 हथियारबंद बदमाशों ने दवा व्यापारी के घर धावा बोला और परिजनों को बंधक बनाकर करीब 40 लाख की लूट को अंजाम दिया. यह वारदात एनएच-9 पर बस अड्डा पुलिस चौकी के निकट हई.

लुटेरों के जाने के बाद किसी तरह व्यापारी व परिजन बंधन मुक्त हुए और अपने पड़ोसियों व पुलिस को सूचना दी. लोगों का आरोप है कि पुलिस सूचना के एक घंटे बाद मौके पर पहुंची. एसपी हेमंत कुटियाल ने लोगों को बदमाशों को जल्द पकड़ने का आश्वासन दिया और लापरवाह पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की बात कही.

बस अड्डा पुलिस चौकी के पास दवा व्यापारी सतीश गोयल का मकान व मेडिकल स्टोर है. रात्रि में करीब 12.30 बजे बदमाश सतीश गोयल के मकान का गेट तोड़कर अंदर प्रवेश कर गए. आहट सुनकर सतीश की पत्नी राजबाला की आंख खुली तो वह देखने गईं, जिसके बाद बदमाशों ने राजबाला पर तमंचा तान दिया और चुप रहने की धमकी दी.

इसके बाद बदमाशों ने घर में सो रहे परिजनों को उठाया और हथियारों के बल पर सभी को बंधक बना दिया. बंधक बनाने के बाद बदमाशों ने घर में रखे करीब ढाई लाख रुपये नकद व सतीश के दोनों बेटों की पत्नियों के करीब 35 लाख रुपये के जेवर लूट लिए. वारदात के वक्त सतीश के दोनों बेटे अमित व अजय घर पर नहीं थे. वे अपने परिवार के साथ मसूरी घूमने गए हुए थे.

लूटपाट करने के बाद बदमाश परिजनों को बंद कर फरार हो गए. इसके बाद किसी तरह ये लोग बंधन मुक्त हुए और शोर मचाकर पड़ोसियों व परिचितों को जानकारी दी. इसके बाद 100 नंबर व थाने पर भी सूचना दी. लेकिन, सूचना के एक घंटे बाद एक पुलिस मौके पर पहुंची. 

सूचना पर पहुंचे एसपी हेमंत कुटियाल व एएसपी राममोहन सिंह के सामने व्यापारियों ने पुलिस की नाकामी पर गुस्सा जाहिर किया. पुलिस अधीक्षक ने बताया कि बदमाशों का पता लगाने के लिए फोरेंसिक के अलावा पुलिस की तीन टीम गठित कर दी गई है. 

(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement