रेप के आरोपी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रम में पुलिस रेड, महिलाओं के साथ होता था बुरा बर्ताव

दिल्ली के विजय विहार में चल रहे आध्यात्मिक विश्व विद्यालय के विवाद में करीब एक महीने बाद एक नया मोड़ आया.

रेप के आरोपी बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रम में पुलिस रेड, महिलाओं के साथ होता था बुरा बर्ताव

खास बातें

  • बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रम में पुलिस रेड
  • युवती और चौकीदार हिरासत में, कई चीजें जब्त
  • बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित पर लगे हैं रेप के आरोप
नई दिल्ली:

दिल्ली के विजय विहार में चल रहे आध्यात्मिक विश्व विद्यालय के विवाद में करीब एक महीने से ज्यादा समय के बाद एक नया मोड़ आया, जिसमें दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश के बाद दिल्ली पुलिस के आला अधिकारी पूरे दल-बल के साथ रोहिणी के विजय विहार में स्थित बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित के आश्रम पहुंची. पुलिस के साथ दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल की टीम और दिल्ली हाईकोर्ट की टीम रेड के लिए आश्रम पहुंची. कई घंटे चली रेड के बाद पुलिस ने आश्रम से बाबा की एक अनुयाई युवती और एक बुजुर्ग चौकीदार को हिरासत में लिया और आश्रम से कई चीजों को जप्त किया. आश्रम के संचालक बाबा पर हैं रेप और यौन शोषण के आरोप हैं.यह दिल्ली के रोहिणी मैं विजय विहार इलाके में स्थित बाबा वीरेंद्र देव दीक्षित का आध्यात्मिक विश्वविद्यालय, जहां दावा किया जाता है कि यहां पर बाबा की शरण में आने वाले महिला पुरुषों को अध्यात्म का ज्ञान देकर ईश्वर की प्राप्ति कराई जाती है.

यह भी पढ़ें: SIT ने रोहतक की सुनारिया जेल में बंद डेरा प्रमुख राम रहीम से पूछताछ की 

वहीं, दूसरी तरफ इसी आश्रम मैं रह रहे कुछ अनुयायियों के परिजनों और आश्रम में खुद भी अनुयायी रहे लोगों का दावा है कि बाबा पूरी तरह से पाखंडी और ढोंगी है, जोकि अध्यात्म का चोला पहनकर न सिर्फ ढोंग करता है. बल्कि आश्रम में आने वाली युवती और महिलाओं का शारीरिक और मानसिक शोषण करता है. राजस्थान के एक पीड़ित परिवार ओर एक समाजसेविका ने करीब एक महीने से ज्यादा की कड़ी मशक्कत, भागदौड़ और कोशिशों के बाद माननीय दिल्ली हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया और कोर्ट में PIL दाखिल की और कोर्ट ने भी मामले की गंभीरता को समझते हुए तुरंत आश्रम में घुसकर जांच करें और आश्रम के अंदर चला रही सभी गतिविधियों की रिपोर्ट तैयार कर कोर्ट के सामने पेश करे ताकि आगे की कार्यवाही की जा सके.

यह भी पढ़ें: हरियाणा पुलिस ने हनीप्रीत के खिलाफ 979 पन्नों की चार्जशीट दायर की

करीब 4 घंटे से ज्यादा चली इस कार्यवाही में पुलिस को काफी मशक्कत करनी पड़ी और पुलिस ने काफी जद्दोजहद के बाद आश्रम से आरोपी बाबा की एक अनुयायी युवती और एक बुजुर्ग जोकि आश्रम का चौकीदार बताया जा रहा है को हिरासत में लिया गया. जिसके बाद आनन-फानन में पुलिस दोनों को जल्द ही विजय विहार थाने ले गयी. और साथ ही आश्रम से पुलिस ने भारी मात्रा में काफी समान जब्त किया. पुलिस सूत्रों ओर रेड टीम के साथ गयी एक युवती ने बताया कि जब्त किए गये समान में ज्यादातर आश्रम से दवाईयां, ओर बोट सारे कागजात तथा अन्य सामान जब्त किया गया. जिसे सिलकर पुलिस अपने साथ ले गयी. अंदर की महिलाओ ने पुलोस ओर अन्य अधिकारियों के साथ कोई खास सहयोग नहीं किया. बल्कि, उल्टे पुलिस के सामने कोर्ट की महिला वकील के साथ अंदर महिलाओ ने हाथापाई तक कर दी. 

यह भी पढ़ें: जेल की सजा काट रहे गुरमीत राम रहीम के सहयोगी को कोर्ट ने 5 दिन की पुलिस हिरासत में भेजा

रेड पर गयी युवती ने भी पहले बताया था कि वो भी काफी समय इस आश्रम में रह चुकी है और अब यहां उसकी बहन भी आश्रम में है और ये आरोपी बाबा इस युवती का भी यौन शोषण कर चुका है. इस आश्रम में काफी समय अनुयायी बनकर रह चुकी एक अन्य पीड़ित ने बताया कि ये बाबा अपने आपको ईश्वर बताता है और अपना सब कुछ यानी तन-मन-धन सब कुछ समर्पित करने की बात कहता है. और ऐसा माइंड वॉश करता है कि लोग खुद ब खुद अपना समर्पित कर देते हैं. पीड़ित ने बताया कि उसने अपनी 4 बेटियों को इस बाबा को यहां आश्रम में समर्पित कर दिया है, जिसमें एक बेटी नाबालिग भी है. लेकिन अब इनकी अपनी ही बेटी ने इनपर कई गंभीर आरोप लगा दिए हैं. जिन्हें सुनकर आप खुद ही चौंक जाएंगे. पीड़ित महिला का आरोप है कि आरोपी बाबा ने उसके साथ रेप किया है, जिसके खिलाफ उन्होंने पुलिस में मामला दर्ज कराया हुआ है. 

यह भी पढ़ें: हनीप्रीत इंसां की न्यायिक हिरासत 6 नवंबर तक बढ़ी, वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए हुई पेशी

Newsbeep

आश्रम के आसपास के लोगो ने बताया कि यहां करीब सैकड़ों महिलांए अंदर रहती हैं और कब यहां कौन आता है को जाता है इस बारे में किसी को नहीं पता. साथ ही कई घण्टे चली इस रेड के बाद जब पुलिस बाहर आई तो उनके पिछले आश्रम में से कुछ बुजुर्ग महिलाएं बाहर आईं, जिन्होंने बात करते हुए बताया कि आश्रम में अंदर कुछ भी गलत नहीं होता है. यहां सिर्फ और सिर्फ पूरी सच्चाई और पवित्रता के साथ यहां ईश्वर यहां ब्रह्मा का ज्ञान दिया जाता है.और वो करीब 2-3 साल से यहां आश्रम ने आती जाती हैं, लेकिन कभी बाबा वीरेंद्र से से वो नहीं मिल पाईं. इस आश्रम में रहने वाली महिलाएं और युवतियाँ आरोपी बाबा को ही अपना भगवान मानती है और इस आश्रम को ही अपना घर.

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


VIDEO: हनीप्रीत को नहीं मिली अग्रिम जमानत, दिल्ली हाईकोर्ट ने खारिज की याचिका
बहरहाल, माननीय दिल्ली हाई कोर्ट के आदेश के बाद पुलिस ने रेड तो की, लेकिन यहां 1000 गज से ज्यादा एरिया में बने इस आश्रम का करीब 30 प्रतिशत ही हिस्सा ही सर्च कर पाई. अब पुलिस को बुधवार को ही हाईकोर्ट को अपनी रिपोर्ट भी सौंपनी है, जिसके बाद आगे की कार्यवाही और आदेश जारी होगा.