NDTV Khabar

पंजाब पुलिस के वरिष्ठ IPS फंसे छात्रा के यौन शोषण में, होटल में बलात्कार की कोशिश का आरोप

पंजाब पुलिस के वरिष्ठ आईपीएस(IPS) पर कानून की छात्रा ने यौन शोषण का केस दर्ज कराया है.आरोप है कि अफसर शारीरिक संबंध बनाने की धमकी देते थे. एक बार रेप की कोशिश भी कर चुका.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
पंजाब पुलिस के वरिष्ठ IPS फंसे छात्रा के यौन शोषण में, होटल में बलात्कार की कोशिश का आरोप

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक रूप में किया गया है.

खास बातें

  1. पंजाब पुलिस के सहायक महानिरीक्षक पर लगा यौन शोषण का आरोप
  2. कानून की छात्रा को दी शारीरिक संबंध बनाने की धमकी
  3. होटल में किया बलात्कार का प्रयास
नई दिल्ली:

पंजाब में एक सीनियर पुलिस अफसर पर यौन शोषण का गंभीर आरोप लगा है. यह आरोप कानून की पढ़ाई कर रही  26 वर्षीय छात्रा ने लगाया है. आरोप है कि पंजाब पुलिस में सहायक महानिरीक्षक(एआइजी) पद पर तैनात यह आईपीएस छात्रा को बार-बार फोन कर यौन संबंध बनाने का दबाव डाल रहा था. शारीरिक संबंध न बनाने पर खतरनाक परिणाम भुगतने की धमकी देता था. छात्रा की शिकायत पर आरोपी अफसर पर केस दर्ज हुआ है. छात्रा ने पंजाब पुलिस के सहायक महानिरीक्षक पर धमकी देने और यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है.

यह भी पढ़ें -भोपाल : मूक बधिर बच्चों ने हॉस्टल संचालक पर लगाया यौन उत्पीड़न और हत्या का आरोप, गिरफ्तार

 पुलिस सूत्रों ने बुधवार को बताया कि अमृतसर पुलिस आयुक्त के कार्यालय में मंगलवार की शाम इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई गई. महिला ने आरोप लगाया कि सहायक पुलिस महानिरीक्षक पिछले तीन महीनों से उसे फोन कर रहे थे और शारीरिक संबंध नहीं बनाने पर खतरनाक परिणाम भुगतने की धमकी देते थे.पीड़ित छात्रा विवाहित बताई जाती है. उसने आरोप लगाया है कि पुलिस अधिकारी ने अमृतसर के एक होटल में उससे बलात्कार का प्रयास भी किया था. होशियारपुर जिले की निवासी महिला ने यह भी दावा किया कि वरिष्ठ पुलिस अधिकारी उसकी मां को जानता है.अमृतसर पुलिस आयुक्त एस एस श्रीवास्तव ने कहा कि मामले में आगे की कार्रवाई के लिए शिकायत राज्य के पुलिस मुख्यालय को भेज दी गई है.


कथित बाबा आशु गुरुजी; उसका बेटा और दोस्त कई साल तक करते रहे यौन शोषण, गैंगरेप का केस दर्ज

महिला आईएएस अफसर भी सुरक्षित नहीं
वरिष्ठ अफसरों पर यौन शोषण के आरोप पहले भी लगते रहे हैं. इसी साल जून में हरियाणा से चौंकाने वाली घटना सामने आई थी. जब राज्य में कार्यरत 28 वर्षीय महिला आईएएस अधिकारी ने अपने वरिष्ठ अफसर पर यौन उत्पीड़न का सनसनीखेज आरोप लगाया था.  महिला अधिकारी ने घटना का विवरण देते हुए फेसबुक पर लिखी पोस्ट में कहा था-उनके बॉस ने उन्हें 22 मई को अपने दफ्तर में बुलाया और उन्हें ‘धमकाया.’ महिला अधिकारी ने लिखा है, ‘‘ उन्होंने मुझसे सवाल किया कि मैं फाइलों पर यह क्यों लिख रही हूं कि विभाग ने गलत किया है.’’ पुरूष अधिकारी ने कथित रूप से धमकाया कि अगर उन्होंने आधिकारिक फाइलों पर विपरीत टिप्पणियां लिखना बंद नहीं किया तो उनकी वार्षिक गोपनीय रिपोर्ट (एसीआर) को खराब कर दिया जाएगा.

उन्होंने कहा, ‘‘ मैं मेज की दूसरी तरफ उनके सामने बैठी थी. उन्होंने मुझसे कहा कि उनकी कुर्सी के नजदीक आऊं. जब मैं मेज की दूसरी तरफ पहुंची तो उन्होंने मुझे कंप्यूटर चलाना सिखाने का दिखावा किया. मैं अपनी कुर्सी पर वापस चली गई. कुछ देर बाद वह खड़े हुए और कोई कागज ढूंढते हुए मेरी कुर्सी के करीब आए और कुर्सी को धक्का दिया. महिला ने आरोप लगाया कि वरिष्ठ अधिकारी और उनके कुछ सहयोगी अब उन्हें धमका रहे हैं. उन्होंने दावा किया ‘‘अन्य वरिष्ठ महिला अधिकारी ने उन्हें मौखिक आदेश दिए हैं कि मैं कोई लिखित शिकायत नहीं करूं.’’ उन्होंने यह भी लिखा है कि उनकी पुलिस सुरक्षा वापस ले ली गई है और उन्होंने इस घटना के संबंध में राष्ट्रपति को ईमेल भेजा है. जब वरिष्ठ आईएएस अधिकारी से संपर्क किया गया तो उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ आरोप झूठे और बेबुनियाद हैं. (इनपुट-भाषा से)

टिप्पणियां

वीडियो-भोपाल में फिर सामने आया मूक-बधिर बच्चों के यौन उत्पीड़न का मामला 

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement