NDTV Khabar

गिफ्ट के लालच में फंसा बलात्कार का आरोपी, 6 महीने से पुलिस को दे रहा था चकमा

वारदात के बाद उसने 20 से भी ज्यादा सिम कार्ड बदले और लगातार अपना लोकेशन भी बदलता रहा.

407 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
गिफ्ट के लालच में फंसा बलात्कार का आरोपी, 6 महीने से पुलिस को दे रहा था चकमा

खास बातें

  1. 14 साल की नाबालिग लड़की से रेप का था आरोप
  2. वारदात के बाद लगातार अपना ठिकाना और फोन नंबर बदलता रहा
  3. मोबाइल कंपनी से गिफ्ट मिलने के झांसे में चढ़ा पुलिस के हत्थे
मुंबई: छह महीने से पुलिस को चकमा दे रहा आरोपी गिफ्ट के लालच में कुछ ऐसा फंसा कि हवालात में पहुंच गया. इस दौरान उसने 20 से भी ज्यादा सिम कार्ड बदले और लगातार अपना लोकेशन भी बदलता रहा. लेकिन आखिरकार पुलिस के हत्थे चढ़ गया.

24 साल का शेख नावेर नेहरूनगर में एक किराना दुकान के पास अक्सर मोबाइल पर वीडियो गेम खेलता रहता था. डीसीपी शहाजी उमाप ने बताया कि उसने मोबाइल गेम खेलने का लालच देकर 14 साल की नाबालिग लड़की को अपना शिकार बनाया. जब पुलिस में शिकायत दर्ज हुई तो वह फरार हो गया. उसे खोजने के लिए पुलिस की टीम कई बार उसके ठिकानों तक पहुंची, लेकिन हर बार वह चकमा देकर फरार हो जाता.

पुलिस सूत्रों के मुताबिक पढ़ाई में फिसड्डी, लेकिन दिमाग से बेहद शातिर नावेर को पकड़ना आसान नहीं था. अपराध को अंजाम देने के बाद वह कभी मेघालय तो कभी उत्तर प्रदेश, गुजरात और बिहार भागता रहा और लगातार अपनी जगह और फोन नंबर बदलता रहा. पुलिस के पास उसके घर का पता भी नहीं था. आखिर में पुलिस ने उसे पकड़ने के लिए एक महिला के जरिये चाल चली. महिला ने मोबाइल कंपनी ऑपरेटर बनकर नावेर से बात की. उसे कंपनी की तरफ से लकी कस्टमर के तौर पर चुने जाने की जानकारी दी.

पुलिस के मुताबिक वह इनाम के लालच में आ तो गया, लेकिन उसे लेने के लिए मुंबई आने से यह कहकर इनकार कर दिया कि मोबाइल कंपनी तो पूरे देश में है, अगर इनाम देना ही है तो घर भिजवा दो.

बस फिर क्या था पुलिस को जैसे ही उसके घर का पता मिला, तो नेहरू नगर पुलिस गिफ्ट देने के बहाने बिहार में उसके घर पहुंची और धर दबोचा. पूछताछ में पता चला है कि इस दौरान उसने अपना पासपोर्ट बनवा लिया था और दुबई भागने की फिराक में था.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement