दिल्ली: सौतेली मां ने 1 लाख में किया 15 साल की बेटी का सौदा, जिस्मफरोशी के दलदल में फंसने से पहले लड़की ने यूं बचाई अपनी जान

8 सितंबर को निशा (नाम परिवर्तित) की मां ने उससे कहा कि वे बदरपुर में उसकी बहन के यहां जा रहे हैं, लेकिन वह उसे निजामुद्दीन के एक होटल में ले गई.

दिल्ली: सौतेली मां ने 1 लाख में किया 15 साल की बेटी का सौदा, जिस्मफरोशी के दलदल में फंसने से पहले लड़की ने यूं बचाई अपनी जान

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

दिल्ली महिला आयोग ने एक 15 साल की लड़की को बचाया है, जिसे उसकी मां ने एक तस्कर को 1 लाख रुपये के लिए बेच दिया था. 8 सितंबर को निशा (नाम परिवर्तित) की मां ने उससे कहा कि वे बदरपुर में उसकी बहन के यहां जा रहे हैं, लेकिन वह उसे निजामुद्दीन के एक होटल में ले गई. होटल में सौदा करने के बाद निशा की मां ने उससे कहा कि उसे कहीं जाना है, शाहिद नाम का एक आदमी उसे घर ले जाएगा. मगर शाहिद उसे उसके घर ले जाने के बजाय, उसे बवाना गांव की ईश्वर कॉलोनी में अपने घर ले गया. शाहिद के घर की लड़कियों ने निशा से कहा कि वह शादी का जोड़ा पहने और तैयार हो जाए. पूछने पर उन्होंने उसे बताया कि उसकी मां ने उसे 1 लाख रुपये में बेच दिया है और वह अब रकम वसूलने के लिए उसे ग्राहकों के साथ सोना पड़ेगा. 

अवैध संबंध के शक पर युवक ने पत्नी पर फेंका तेजाब, बेटी भी हुई घायल

मगर एक दिन के भीतर निशा को एक मौका मिला और किसी तरह भागने में कामयाब रही. उस समय उसकी जेब में 10 रुपये थे. उसने एक ऑटो लिया और बवाना जेजे कॉलोनी स्थित अपने घर वापस पहुंच गई। उसने अपने पड़ोसियों से मदद मांगी, जिन्होंने दिल्ली महिला आयोग की 181 महिला हेल्पलाइन पर फोन किया. दिल्ली महिला आयोग की टीम तुरंत मौके पर पहुंची और लड़की को स्थानीय पुलिस स्टेशन ले गई.  निशा ने आयोग को बताया कि उसकी मां अब्दुल नाम के व्यक्ति के संपर्क में थी, जिसका बाल तस्करी का पुराना रिकॉर्ड था. उसने उसकी मां को पेशकश की कि अगर वह निशा की शादी हरियाणा में एक 62 साल के आदमी से कर देगी तो वह उसे 1 लाख रुपये देगा. 

लोन की एक किश्त न चुकाने पर रिकवरी एजेंटों ने की BSF जवान की पिटाई, पुलिस पर भी लगे गंभीर आरोप

हालांकि, जब निशा को इस बारे में पता चला, तो उसने इस बात का विरोध किया और अपनी मां को चेतावनी दी कि अगर वह उसे शादी के लिए मजबूर करने की कोशिश करती है तो वह उसके खिलाफ शिकायत दर्ज करेगी. अब्दुल वही शख्स है जिसने उसकी मां को शाहिद से मिलवाया था, जो इस मामले में मुख्य तस्कर है. पीड़िता ने कभी अपने पिता को नहीं देखा और वह अपनी मां, सौतेले पिता और 4 भाई-बहनों के साथ बवाना जेजे कॉलोनी में रहती थी।. उसने बताया कि उसकी माँ ने पिछले महीने उसके 1 साल के भाई को भी एक तस्कर को बेच दिया था. उसकी मां कर्ज में डूबी हुई थी और उसने कर्ज लौटने के लिए अपना बच्चा बेच दिया था. 

हनीट्रैप में फंसाकर युवती ने मांगे 40 लाख, युवक की शिकायत पर पुलिस ने जाल बिछाकर रंगे हाथों पकड़ा

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

पुलिस ने आईपीसी की धारा 370A के तहत मामले में एफआईआर दर्ज की है. पीड़िता को एक आश्रय गृह में भेज दिया गया है और पुलिस अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है.  दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्षा स्वाति मालीवाल ने कहा, 'दिल्ली में तस्करी बेरोकटोक जारी है।. दिल्ली पुलिस लड़कियों के खिलाफ अपराध और तस्करी पर अंकुश लगाने में विफल है. हालांकि FIR दर्ज की गई है, मगर पुलिस अभी तक इस मामले में कोई गिरफ्तारी नहीं कर पाई है. तस्करों के साथ मां को भी गिरफ्तार किया जाना चाहिए. इसके अलावा सौतेले पिता की भूमिका की भी पूरी जांच होनी चाहिए. 1 साल के लापता लड़के का भी पता लगाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि यह दुखद है कि पुलिस कोई सक्रिय कार्रवाई नहीं करती है. हम पुलिस को नोटिस जारी कर रहे हैं और पुलिस से मामले में रिपोर्ट मांग रहे हैं. 

Video: महिलाओं के लिए सुरक्षित हो दिल्ली