NDTV Khabar

STF और नोएडा पुलिस की जॉइंट मुठभेड़ में गोली लगाने से 50 हजार का इनामी बदमाश घायल

एसपी यूपीएसटीएप राजीव नारायण मिश्रा ने कहा, 'घायल बदमाश की पहचान मेहर गनी उर्फ मेहरबान सिंह उर्फ बंटी पुत्र पीर बख्श निवासी छोटी जूलाहटी थाना राठ जनपद हमीरपुर के रूप में हुई है. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
STF और नोएडा पुलिस की जॉइंट मुठभेड़ में गोली लगाने से 50 हजार का इनामी बदमाश घायल

प्रतीकात्मक तस्वीर

खास बातें

  1. सेक्टर 54 के जंगलों में शहीद चमन सिंह पेट्रोल पंप के पास हुई थी मुठभेड़
  2. आपरेशन में 50 हज़ार का इनामी बदमाश गोली लगाने घायल हो गया
  3. बदमाश को गिरफ्तार कर इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया
नोएडा:

सेक्टर 54 के जंगलों में शहीद चमन सिंह पेट्रोल पंप के पास STF टीम और थाना सेक्टर 24 पुलिस के ज्वाइंट आपरेशन में 50 हज़ार का इनामी बदमाश गोली लगाने घायल हो गया. बाद में बदमाश को गिरफ्तार कर इलाज के लिए नोएडा के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया. बदमाश के कब्जे से एक अवैध पिस्टल, मोटर साइकिल और बैग मौके से बरामद किया गया है. पुलिस मामले की जांच कर रही है. मुठभेड़ के बारे में बताते हुए एसपी यूपीएसटीएप राजीव नारायण मिश्रा ने कहा, 'घायल बदमाश की पहचान मेहर गनी उर्फ मेहरबान सिंह उर्फ बंटी पुत्र पीर बख्श निवासी छोटी जूलाहटी थाना राठ जनपद हमीरपुर के रूप में हुई है. 

नोएडा: युवती से गैंगरेप करने वाले सभी पांचों आरोपी गिरफ्तार

एसपी ने बताया कि मेहरगनी उर्फ मेहरबान सिंह उर्फ बंटी साल 2008 में पुलिस कस्टडी से फरार चल रहा था. उस 2005 में एक बच्चे निर्मम हत्या का आरोप है. एसटीएफ़ को उसके नोएडा में छिपे होने की सूचना मिली थी उसके बाद से एसटीएफ़ की टीम उसे गिरफ्तार करने का प्रयास कर रही थी. देर रात एसटीएफ टीम और थाना सेक्टर 24 पुलिस ने ज्वाइंट आपरेशन चलते हुए थाना 24 क्षेत्र में घेर लिया और पकड़ने का प्रयास किया तो आरोपी ने पुलिस टीम पर फायरिंग करते हुए भागने का प्रयास करने लगा, जवाबी कार्रवाही में पैर में गोली लागने वह घायल हो गया उसे इलाज के लिए जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है.


ग्रेटर नोएडा में पराली जलाने पर नौ के खिलाफ मामला दर्ज, एक किसान गिरफ्तार

टिप्पणियां

बता दें, मेहर गनी उर्फ मेहरबान सिंह उर्फ बंटी को 2005 में एक बच्चे निर्मम हत्या करने पर माननीय न्यायालय ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई थी और जब उसे जेल ले जया जा रहा था उसी दौरान उसने थाना मुट्ठीगंज इलाहाबाद की पुलिस कस्टडी से भागने का प्रयास किया था और कांस्टेबल की राइफल छिन जानलेवा हमला करने का आरोप था. मेहरगनी साल 2008 में पुलिस कस्टडी से फरार होने में सफल हो गया था, जिसकी गिरफ्तारी पर पुलिस उपमहानिरीक्षक प्रयागराज परीक्षेत्र द्वारा 50 हज़ार  रुपए का पुरस्कार घोषित किया गया था. तब से लगातार उसकी गिरफ्तारी का प्रयास किया जा रहा था.

Video: नोएडा में मुसाफिरों से भरी बस में लगी आग



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement