दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के हत्थे चढ़े खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट के 3 मॉड्यूल, आतंकी साजिश का खुलासा

पूछताछ में पता चला कि ये तीनों आरोपी विदेश में बैठे हुए केएलएफ यानी खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट के आतंकियों के साथ लगातार संपर्क में रहे हैं.

दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल के हत्थे चढ़े खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट के 3 मॉड्यूल, आतंकी साजिश का खुलासा

गिरफ्तार आरोपियों का नाम है मोहिंदर पाल सिंह, गुरतेज सिंह और लवप्रीत उर्फ लवली है.

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल की टीम ने एक बड़ी कार्रवाई करते हुए खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट के मॉड्यूल का खुलासा करते हुए तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया है. इन पर आरोप है कि ये तीनों राजधानी दिल्ली में एक बड़ी आंतकी वारदात को ये अंजाम देने के फिराक में थे. खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट मॉड्यूल से जुड़े इन आरोपियों के पास से मिली तीन पिस्टल सहित सात जिंदा कारतूस को भी जब्त किया गया है. गिरफ्तार आरोपियों का नाम है मोहिंदर पाल सिंह, गुरतेज सिंह और लवप्रीत उर्फ लवली है. स्पेशल सेल के डीसीपी संजीव यादव के मुताबिक ये आरोपी टारगेट करके हत्या करने में माहिर है. मोहिंदर पाल दिल्ली में चंद्र विहार निलोठी एक्सटेंशन में रहता है, लेकिन मोहिंदर पाल मूल रूप से जम्मू -कश्मीर के दीवानबाग जिला बारामुला का रहने वाला है. जबकि गुरतेज सिंह पंजाब के मानसा का है रहनेवाला है. तीसरा आरोपी लवप्रीत उर्फ लवली हरियाणा के कैथल का रहने वाला है. पूछताछ में पता चला कि ये तीनों आरोपी विदेश में बैठे हुए केएलएफ यानी खालिस्तान लिब्रेशन फ्रंट के आतंकियों के साथ लगातार संपर्क में रहे हैं. इन लोगों की उन विदेशी आतंकियों के साथ आपस में बातचीत भी होती थी. ये पाकिस्तान में रहने वाले हैंडलर अब्दुल्लाह और अवतार सिंह पन्नू के संपर्क में थे.

इस पाकिस्तानी हैंडलर का संपर्क डायरेक्ट तौर पर पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी ISI के साथ जुडा हुआ था. इसके साथ ही इन तीनों आरोपियों का संपर्क सीधे तौर पर प्रतिबंधित संगठन सिख फॉर जस्टिस (SFJ) के गोपाल सिंह चावला के साथ रह चुका है. गोपाल सिंह चावला के बारे में सभी जानते हैं कि ये आरोपी सीधे तौर पर हाफिज सईद के संपर्क में रहता है और भारत के अंदर बडे आतंकी वारदात को अंजाम देने के लिए अक्सर साजिश करता रहता है .  

स्पेशल सेल के जांच अधिकारी के मुताबिक जनवरी 2019 में इन आतंकियों की मुलाकात चंडीगढ में नारायण सिंह चावड़ा से हुई थी और पंजाब सहित अन्य कई लोकेशन पर खालिस्तानी मामलों को और ज्यादा एक्टिव करने पर चर्चा हुई थी. आरोपी गुरतेज सिंह के बारे में ये भी बताया गया है कि वो 21 सदस्यों वाली हावड़ा कमेटी का भी सदस्य रह चुका है, जो पंजाब में खालिस्तानी मूवमेंट के लिए युवाओं को सीधे तौर पर भर्ती करवाने में जुटा हुआ था. इसके साथ ही स्पेशल सेल ने इस मामले में भी खुलासा किया की शिवसेना से जुडे एक बडे नेता की पंजाब में हत्या करने की योजना पर ये आरोपी साजिश रच चुके थे, लेकिन उसको अंजाम देने से पहले ही उन तीनों को गिरफ्तार कर लिया गया है.

शिवसेना नेता पंजाब के अमृतसर में रहते हैं, इस मामले के साथ -साथ आरोपियों से अब तक हुई पूछताछ में ये भी जानकारी मिली है कि डेरा प्रमुख राम रहीम की संस्था और उसके एक बहुत बड़े समर्थक की भी हत्या करने की योजना बनाई गई थी. इन आरोपियों से जवाहर सिंह वाली घटना के बारे में भी स्पेशल सेल की टीम पूछताछ कर रही है. स्पेशल सेल की टीम और पंजाब पुलिस आपस में लगातार संपर्क में है. 

Newsbeep

Video: जम्मू कश्मीर के गिरफ्तार डीएसपी ने आतंकियों को अपने घर में दी थी पनाह

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com