NDTV Khabar

प्रॉपर्टी के लालच में मां ने दामाद और समधी के साथ मिलकर कराई बेटी की हत्या, गिरफ्तार

पुलिस ने इस मामले मृतका की मां समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया. जबकि इस मामले में कुल 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
प्रॉपर्टी के लालच में मां ने दामाद और समधी के साथ मिलकर कराई बेटी की हत्या, गिरफ्तार

प्रतीकात्मक चित्र

खास बातें

  1. पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने कबूला गुनाह
  2. दोस्तों ने भेजे थे बदमाश
  3. पांच लाख रुपये की दी गई थी सुपारी
नई दिल्ली:

जब रिश्तो की कीमत से प्रॉपर्टी के कीमत से ज्यादा हो जाए तो इस कलयुग में रिश्तो का कत्ल करने से लोग पीछे नहीं हटते, चाहे वह अपनी औलाद की क्यों न हो. दादरी के राम वाटिका कॉलोनी में रहने वाली संध्या की हत्या का खुलासा करते हुए पुलिस बताया की हत्या प्रॉपर्टी विवाद के कारण की गई थी. पुलिस के अनुसार संध्या की हत्या उसकी मां, पति और ससुर ने भाड़े के हत्यारो को सुपारी दे कर करवाई थी. पुलिस ने इस मामले मृतका की मां समेत तीन लोगों को गिरफ्तार किया. जबकि इस मामले में कुल 9 लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. पुलिस इस मामले में अन्य आरोपियों की भी तलाश कर रही है.

यह भी पढ़ें: दिल्ली : सरिता विहार में 73 साल की बुजुर्ग महिला की गला रेतकर हत्या, इलाके में हड़कंप


एसपी ग्रेटर नोएडा ने बताया की उन्हें सूचना मिली थी कि अमित बिसाहड़ा बाई-पास आने वाला है. इस सूचना पर ही काम करते हुए हमारी टीम ने आरोपी को गिरफ्तार किया. पुलिस के अनुसार आरोपी के पास से हत्या में इस्तेमाल की गई पिस्तौल, चार कारतूस और मोटरसाइकिल भी बरामद किया. अमित ने पुलिस पूछताछ में बताया की संध्या की हत्या उसने दो अन्य सुपारी किलर लड़कों के साथ मिलकर की थी. यह सुपारी किलर उसके दिल्ली के खजूरी में रहने वाले उसके दोस्त संदीप बंसल ने भिजवाए थे. सुपारी की रकम संध्या के ससुर वीरेंदर तोमर ने साढ़े पाँच लाख रुपये तय की थी और इस साजिश में संध्या की मां बिसाहड़ा गांव में मेडिकल चलाने वाले कृष्ण पाल और मुकेश भी शामिल थे.

यह भी पढ़ें: CIA का दावा, सऊदी अरब के युवराज वली अहद ने कराई पत्रकार खशोगी की हत्याः रिपोर्ट

अमित ने बताया कि हत्या के बाद विरेंद्र ने प्यावली गांव में डॉ महबूब की दुकान पर सुपारी की कुल रकम में से डेढ़ लाख रुपये दिए थे जबकि बाकी की रकम अगले दो दिन मे देने की बात हुई थी. विनीत जैसवाल, एसपी देहात ने बताया कि अमित की गिरफ्तारी के बाद संध्या की माँ उर्मिला और कृष्णपाल को बिसाहड़ा गाँव में तोमर मेडिकल स्टोर से गिरफ्तार कर लिया गया. संध्या की माँ उर्मिला से जब कडाई से पूछताछ की है तो उसने अपना जुर्म काबूल कर लिया.

यह भी पढ़ें: पंचकुला में एक ही परिवार के चार लोगों की हत्या,फॉरेंसिक टीम ने शुरू की जांच

टिप्पणियां

आरोपी उर्मिला ने बताया की संध्या ने कुछ समय पहले पति और ससुर के खिलाफ दहेज उत्पीड़न का मामला दर्ज करवाया था, इससे परेशान होकर सुसर वीरेंद्र तोमर व पति प्रवीण ने संध्या की मां उर्मिला के साथ मिलकर हत्या की योजना बनाते हुए दिल्ली के दो शूटरों को सुपारी दी थी. योजना संध्या की जहर  पीला कर उसकी हत्या कर मामले को आत्महत्या का रूप देने की थी.

VIDEO: भीमा कोरेगांव मामले में मामला दर्ज.

लेकिन जब संध्या को जहर पीला कर उसकी हत्या करने की कोशिश की जा रही थी संध्या ने एक उगली काट डाली थी जो बाद में फोरेंसिक विभाग ने अपनी जांच के दौरान महिला के मुँह में एक आरोपी की ऊगली मिली थी. तफतीश में ये बात भी साफ हो गई की, डॉक्टर महबूब द्वारा भी एक बदमाश की उंगली उपचार भी किया गया था. 
 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement