NDTV Khabar

क्रिकेट टीम में सिलेक्शन करवाने के नाम पर युवाओं को निशाना बनाने वाले दो ठग गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने पीतमपुरा की फ्रेंड्स क्रिकेट अकादमी के कोच रवि दलाल और हरीश जमाल को किया गया गिरफ्तार

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
क्रिकेट टीम में सिलेक्शन करवाने के नाम पर युवाओं को निशाना बनाने वाले दो ठग गिरफ्तार

दिल्ली पुलिस ने क्रिकेट टीम में सिलेक्शन करवाने के नाम पर ठगने वाले दो आरोपियों (बीच में) को गिरफ्तार कर लिया.

खास बातें

  1. कनिष्क गौर से गेस्ट प्लेयर के तौर पर खेलने के लिए 11 लाख रुपये लिए
  2. शिवम से अंडर 23 कैटेगरी में खिलवाने के नाम पर चार लाख रुपये लिए
  3. बीसीसीआई की शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज कर जांच शुरू की
नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने अंडर 19 क्रिकेट टीम में सिलेक्शन करवाने के नाम पर युवा क्रिकेटरों से ठगी करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया है. क्राइम ब्रांच के डीसीपी राजेश देव के मुताबिक इसी साल 6 मार्च को बीसीसीआई के एक अधिकारी अंशुमन उपाध्याय की तरफ से शिकायत मिली थी कि कुछ लोग उत्तर-पूर्वी राज्यों की तरफ से रणजी और अन्य क्रिकेट टूर्नामेंटों में सिलेक्शन करवाने के नाम पर युवा क्रिकेटरों से ठगी कर रहे हैं. बीसीसीआई से युवा क्रिकेटरों कनिष्क गौर शिवम ने ऐसी ही ठगी की शिकायत की थी.

कनिष्क गौर के मुताबिक उससे गेस्ट प्लेयर के तौर पर खेलने के लिए 11 लाख रुपये लिए गए,लेकिन उसका फ़र्ज़ी जन्म प्रमाण पत्र बनाकर अंडर 19 कैटेगरी में केवल दो मैचों में खेलने का मौका दिया गया. ऐसे ही शिवम से अंडर 23 कैटेगरी में खिलवाने के नाम पर चार लाख रुपये ले लिए गए लेकिन उसे खेलने का कोई मौका नहीं मिला.

टिप्पणियां

बीसीसीआई की शिकायत पर क्राइम ब्रांच ने केस दर्ज कर जांच शुरू की. जांच के बाद दिल्ली के पीतमपुरा इलाके की फ्रेंड्स क्रिकेट अकादमी के कोच रवि दलाल का नाम सामने आया. उसने कनिष्क गौर से पैसे लेकर हरीश जमाल नाम के शख्स को दे दिए थे. हरीश दिल्ली के एक स्कूल में क्रिकेट का कोच है.


दोनों आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस के मुताबिक इन लोगों ने कई और युवा क्रिकेटरों से बड़े पैमाने पर ठगी की है, जिसकी जांच चल रही है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement