बीवी और दो बच्चों को जुए में हार गया पति, अदालत के आदेश पर मामला दर्ज

बुलंदशहर में जुआरी मोहसिन का साथी इमरान जुए में जीतने के बाद जबरन उठा ले गया उसका एक बेटा

बीवी और दो बच्चों को जुए में हार गया पति, अदालत के आदेश पर मामला दर्ज

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • पीड़ित बीवी ने कोर्ट में पहुंचकर सुनवाई आपबीती
  • कोर्ट के आदेश पर एफआईआर दर्ज, मामले की जांच शुरू
  • शुरुआती जांच में महिला पर शक कर रही पुलिस
लखनऊ:

बुलंदशहर में एक जुआरी पति अपनी बीवी और दो बच्चों को जुए में हार गया. जीतने वाला उसके बीवी-बच्चों को जब लेने आया तो बीवी ने ज़बरदस्त विरोध किया. इस पर वह उसके एक बच्चे को ज़बरन उठाकर ले गया. बीवी ने अदालत में पहुंचकर सारी कहानी बताई. अदालत के हुक्म से मामले की एफआईआर हुई. मामले की जांच शुरू हो गई है.

मोहसिन नाम के शख्स को शुरू से ही जुए की लत थी. अपने दोस्त इमरान को वह अलीगढ़ से बुलंदशहर बुलाकर जुआ खेलता था. एक रोज़ जब उसके पास दांव लगाने को रुपये नहीं बचे तो उसने बारी-बारी से पहले दोनों बच्चों और फिर बीवी को दांव पर लगा दिया और हार गया. फिर एक रोज इमरान मोहसिन की बीवी समराना और उसके बच्चों को लेने उसके घर पहुंच गया.

यह भी पढ़ें : 'मुझे दांव पर लगा जुए में हारा पति, जीतने वालों ने किया सामूहिक दुष्कर्म' : महिला का आरोप

समराना ने बताया कि 'वो (इमरान) कहता है कि तुझे जुए में हार दिए…तेरे आदमी ने जुए में हार दिए मोहसिन ने…तो तुझे हमारे साथ चलना होगा. मैं जब रोने लगी तो मेरा एक बच्चा छीन ले गया.'

समराना को फिर मोहसिन ने छोड़ दिया. वह अपने बच्चे को वापस पाने के लिए अदालत के चक्कर काटती रही. आखिरकार अदालत ने पुलिस को एफआईआर दर्ज कर जांच करने का हुक्म दिया. पुलिस शुरुआती जांच में महिला पर शक कर रही है.

बुलंदशहर के एसपी सिटी प्रवीर रंजन सिंह ने कहा कि 'इसमें महिला के यह आरोप है कि उसका पति उसको जुए में हार गया था. माननीय न्यायालय के आदेश पर यह अभियोग पंजीकृत कराया गया है…अभी तक जो तथ्य प्रकाश में आया है, उसमें निकलकर आया है कि महिला ने स्वेच्छा से पहले पति को अपने बच्चे को सौंपा हुआ है.'

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

VIDEO : जुआरियों ने पत्रकार को गोली मारी

समराना कहती है कि उसके लिए यह सदमा ही बहुत था कि उसका पति शराबी और जुआरी है.अब बच्चे से जुदाई बहुत तकलीफ़देह है. उसे उसकी वापसी का इंतज़ार है.