Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

शर्मनाक! यूपी रोडवेज में सफर कर रहा था दंपति, पति की बस में हो गई मौत, पत्नी को बीच रास्ते शव के साथ उतारा

बाराबंकी में एक महिला अपने पति के साथ उप्र परिवहन की बस में यात्रा कर रही थी. इसी दौरान अचानक महिला के पति को हार्ट अटैक आ गया और बस में ही मौत हो गई. इसके बाद बस के कंडक्टर ने कथित तौर पर उनका टिकट छीन लिया और रास्ते में ही उतार दिया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
शर्मनाक! यूपी रोडवेज में सफर कर रहा था दंपति, पति की बस में हो गई मौत, पत्नी को बीच रास्ते शव के साथ उतारा

कंडक्टर ने कथित तौर पर महिला से बस का टिकट भी छीन लिया.

खास बातें

  1. उत्तर प्रदेश में सामने आया शर्मनाक वाकया
  2. बस में यात्रा के दौरान हुई शख़्स की मौत
  3. कंडक्टर ने महिला को शव के साथ बीच रास्ते उतारा
लखनऊ:

उत्तर प्रदेश में एक शर्मनाक वाकया सामने आया है. यहां बाराबंकी में एक महिला अपने पति के साथ उप्र परिवहन की बस में यात्रा कर रही थी. इसी दौरान अचानक महिला के पति को हार्ट अटैक आ गया और बस में ही मौत हो गई. इसके बाद बस के कंडक्टर ने कथित तौर पर उनका टिकट छीन लिया और रास्ते में ही उतार दिया. रिपोर्ट के अनुसार, दंपति बुधवार रात को बहराइच से लखनऊ जाने वाली की बस में यात्रा कर रहे थे. इस दौरान बाराबंकी के निकट यात्री राजू मिश्रा (37) को दिल का दौरा पड़ा और इससे पहले उन्हें कोई चिकित्सकीय सहायता मिल पाती, उनकी मौत हो गई. लखनऊ से 25 किलो मीटर पहले बस में उनकी मौत हुई. मृतक के बड़े भाई मुरली मिश्रा ने मीडिया को बताया कि बस के परिचालक मो. सलमान और चालक जुनैद अहमद ने उनकी भाभी को भाई के शव के साथ बस से उतरने पर मजबूर कर दिया और उन्होंने उनसे बस के टिकट भी छीन लिए.  

शर्मनाक! सरकारी अस्पताल में एक ही बेड पर महिला और पुरुष दोनों को लिटाया, Video हुआ वायरल


हालांकि सभी आरोपों को झूठा बताते हुए बस के कंडक्टर ने कहा कि यात्री को जरवाल रोड के पास सीने में दर्द की शिकायत हुई. उन्होंने दंपति को बताया कि एक डॉक्टर भी बस में यात्रा कर रहा है, लेकिन वह (डॉक्टर) ज्यादा मदद नहीं कर सका. जिसके बाद उन्होंने राजू को राम नगर में एक निजी चिकित्सक के पास ले जाने का फैसला किया. मो. सलमान ने कहा कि उसने रामनगर में बस रोकी और मरीज को देखने के लिए पास के क्लीनिक से डॉक्टर डी.पी सिंह को बुलाया. हालांकि राजू की मौत की पुष्टि बस में ही हो गई थी. कंडक्टर ने कहा कि उसने उत्तर प्रदेश पुलिस की डायल 100 सेवा पर भी फोन किया, लेकिन कोई प्रतिक्रिया नहीं मिली और इसलिए उसने राम नगर के एसओ को फोन किया और शव को बाराबंकी अस्पताल ले जाने को कहा. कंडक्टर ने आगे कहा कि उसने मृतक के अन्य रिश्तेदारों को फोन किया और महिला के रिश्तेदारों के आग्रह पर ही उसने दोनों को बस से उतारा.  

टिप्पणियां

प्रियंका गांधी ने बीमार बच्ची के इलाज के लिए योगी आदित्यनाथ से की अपील, कही यह बात...

राम नगर के एसओ श्याम नारायण पांडेय ने कहा कि बस कंडक्टर ने उन्हें सूचित किया था कि महिला राम नगर में अपने पति के शव के साथ बस से उतरना चाहती थीं, लेकिन उन्होंने बस कंडक्टर को दोनों को बाराबंकी के नजदीकी अस्पताल ले जाने के लिए कहा, जहां आगे की चिकित्सीय-कानूनी प्रक्रिया, जैसे मृत्यु-प्रमाण पत्र आदि की कार्रवाई की जा सके. एसओ ने कहा कि उन्होंने कुछ पुलिसकर्मियों को भी मौके पर भेजा, लेकिन महिला अपने पति के शव के साथ उतर चुकी थी. पांडेय ने कहा कि उन्होंने शव को बाराबंकी अस्पताल ले जाने के लिए वाहन की व्यवस्था भी की. गुरुवार को बाराबंकी अस्पताल में शव का पोस्टमार्टम किया गया. दूसरी तरफ, बहराइच बस स्टेशन के सहायक रोडवेज प्रबंधक (एआरएम) मोहम्मद इरफान ने कहा कि उन्हें सोशल मीडिया के माध्यम से घटना की जानकारी मिली. उन्होंने कहा कि मामले की जांच की जाएगी. इस मामले का खुलासा तब हुआ, जब ट्विटर पर एक यूजर किरण दीप ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को इस घटना की जानकारी दी (इनपुट- आईएएनएस) 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... दिल्ली चुनाव में 'वोटरों' तक पहुंचने के लिए BJP ने अपनाई थी यह तकनीक, शेयर किए डीपफेक VIDEO

Advertisement