NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : बच्चे की मौत के सबूत मिटाने के लिए स्टाफ रूम से रजिस्टर चुरा के भाग रहे व्यक्ति को नर्सो ने घेरा

आरोप है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी के जाते ही आशा कार्यकत्री विमला देवी के साथ कुछ लोग आए और सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाते हुए स्टाफ रूम में रखा रजिस्टर लेकर भागने लगे.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश : बच्चे की मौत के सबूत मिटाने के लिए स्टाफ रूम से रजिस्टर चुरा के भाग रहे व्यक्ति को नर्सो ने घेरा

(प्रतीकात्मक तस्वीर)

अंबेडकरनगर: बसखारी के सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पिछले दिनों एक नवजात शिशु की मौत की जांच अभी चल ही रही थी कि विभागीय लोगों ने साक्ष्यों को मिटाने की कोशिश शुरू कर दी. विगत 18 फरवरी को इस स्वास्थ्य केंद्र का निरीक्षण मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने किया था. आरोप है कि मुख्य चिकित्सा अधिकारी के जाते ही आशा कार्यकत्री विमला देवी के साथ कुछ लोग आए और सरकारी कामकाज में बाधा पहुंचाते हुए स्टाफ रूम में रखा रजिस्टर लेकर भागने लगे. केंद्र पर तैनात स्टाफ नर्सो ने भाग रहे व्यक्ति को घेरकर उससे रजिस्टर छीन लिया.

इसके बाद पकड़े गए व्यक्ति ने स्टाफ व नर्सों के साथ गाली-गलौज की. इस पूरे घटनाक्रम में आशा कार्यकत्री विमला देवी के पति के भी शामिल होने की बात बताई जा रही है.

यह भी पढे़ं : इंदौर : अस्पताल के नवजात बच्चों के ICU में भीषण आग, 47 बच्चों को सुरक्षित बचाया गया

स्टाफ नर्सों ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के प्रभारी डॉक्टर मरक डेय को भी इस घटना से लिखित रूप में अवगत कराया. पहले तो डॉक्टर मरक डेय ने ऐसी किसी घटना की जानकारी से इनकार किया, लेकिन शिकायतपत्र के मीडिया के संज्ञान में आने की बात कहे जाने पर डेय ने इसकी जांच कराए जाने का आश्वासन दिया.

टिप्पणियां
VIDEO : अजमेर का एक सरकारी अस्पताल सवालों के घेरे में, 400 मरीज़ों पर सिर्फ 8 डॉक्टर​
सवाल उठता है कि बसखारी सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र में होने वाली घटना को लेकर जिम्मेदार अधिकारी मामले को संज्ञान में क्यों नहीं लेते. जब मामला मीडिया के संज्ञान में आता है, तभी उस पर कार्रवाई या जांच करने की बात की जाती है. समय बीतने के साथ मामला ठंडा होने का इंतजार किया जाता है और बाद में जांच को भी ठंडे बस्ते में डाल दिया जाता है.

(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement