NDTV Khabar

उत्तर प्रदेश : मेरठ में पूर्व सभासद के खेत में मिला सिपाही का शव, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप

मेरठ में एक सिपाही का रहस्यमय परिस्थितियों में शव मिला है. जानकारी के मुताबिक सिपाही मेरठ जिले के फलावदा के कस्बा चौकी पर तैनात था और शुक्रवार की सुबह गन्ने के खेत से शव बरामद किया गया.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
उत्तर प्रदेश : मेरठ में पूर्व सभासद के खेत में मिला सिपाही का शव, पुलिस विभाग में मचा हड़कंप

प्रतिकात्मक चित्र

नई दिल्ली :

पिछले दिनों उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली (PM Modi Rally) के बाद लौट रहे वाहनों पर हुए पथराव में एक पुलिसकर्मी की मौत के बाद अब मेरठ में एक सिपाही का रहस्यमय परिस्थितियों में शव मिला है. जानकारी के मुताबिक सिपाही मेरठ जिले के फलावदा के कस्बा चौकी पर तैनात था और शुक्रवार की सुबह गन्ने के खेत से शव बरामद किया गया. रहस्यमय परिस्थितियों में सिपाही का शव मिलने के बाद पुलिस महकमे में सनसनी फैल गई. पुलिस ने शव को पोस्टमाटर्म के लिए भेजकर घटना की जांच शुरु कर दी है.

मेरठ में लूट का विरोध करने पर दिल्ली पुलिस के सिपाही की गोली मारकर हत्या 


इस मामले में सीओ पकंज कुमार सिंह ने बताया कि फॉरेंसिक, अपराध शाखा और एफएसएल की टीम ने मौके से साक्ष्य कब्जे में लिए हैं. घटना की बारीकी से जांच की जा रही है. उन्होंने बताया कि पुलिस ने शव के पास से तमंचा और कारतूस भी बरामद किया है. वहीं दूसरी तरफ, फलावदा थाने के प्रभारी करतार सिंह के मुताबिक शामली जिले के मंगलौरा गांव निवासी 26 वर्षीय अंकुर फलावदा कस्बा चौकी पर तैनात थे. आधी रात करीब 12 बजे वह पास ही बैरक में सोने चले गये. शुक्रवार सुबह चौकी से करीब 800 मीटर दूर अंकुर का शव एक पूर्व सभासद के गन्ने के खेत में पड़ा मिला. मौके से 315 बोर के तमंचे के साथ तीन खोखे और दो कारतूस भी बरामद हुए. घटना की जानकारी मिलने पर पुलिस विभाग के आला अधिकारी मौके पर पहुंचे. जांच शुरू हो गई है. 

जज की पत्नी और बेटे को गोली मारने वाले सिपाही महिपाल ने जुर्म कुबूला, इस वजह से मारी थी गोली

टिप्पणियां

आपको बता दें पिछले दिनों गाजीपुर में पीएम मोदी के कार्यक्रम के बाद निषाद समुदाय के लोगों ने शहर में कई जगहों पर जाम लगा दिया. कॉन्स्टेबल सुरेश वत्स और उनकी टीम जब वापस लौट रही थी तो रास्ते में  उनका सामना प्रदर्शन कर रहे निषाद समुदाय के लोगों से हुआ. पुलिस टीम ने लोगों को रास्ते से हटाने की कोशिश की, तो भीड़ ने पत्थर फेंकना शुरू कर दिया, जिसमें कांस्टेबल सुनील वत्स घायल हो गए. उन्हें तुंरत अस्पताल ले जाया गया, लेकिन उन्हें बचाया नहीं जा सका. गौरतलब है कि इससे पहले बुलंदशहर में हुई हिंसा में भी सुबोध कुमार सिंह नाम के पुलिसकर्मी की जान चली गई थी. (इनपुट- भाषा से भी)

VIDEO: UP के गाजीपुर में प्रदर्शन, पथराव में पुलिसकर्मी की मौत


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement