ग्रेटर नोएडा: महिला पर उसके भाईयों ने ही फेंका तेजाब, चली गई आंखों की रोशनी

ग्रेटर नोएडा में गुरुवार को तेजाब हमले में एक 22 वर्षीय महिला ने अपनी आंखों की रोशनी गंवा दी. इसके लिए महिला ने अपने दो भाइयों को जिम्मेदार ठहराया है.

ग्रेटर नोएडा: महिला पर उसके भाईयों ने ही फेंका तेजाब, चली गई आंखों की रोशनी

पीड़ित महिला बुलंदशहर के गुलावटी गांव की रहने वाली है.

नई दिल्ली:

ग्रेटर नोएडा में गुरुवार को तेजाब हमले (Acid Attack) में एक 22 वर्षीय महिला ने अपनी आंखों की रोशनी गंवा दी. इसके लिए महिला ने अपने दो भाइयों को जिम्मेदार ठहराया है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि इस भयावह हमले के कुछ मिनट बाद पीड़िता को पुलिस ने लोहाराली टोल प्लाजा के पास जी.टी.रोड से बचाया. तेजाब हमले से पीड़िता का चेहरा और गला झुलस गया है. उसे दिल्ली के सफदरजंग अस्पताल में गंभीर हालत में भर्ती कराया गया है. पुलिस ने डॉक्टरों के हवाले से कहा कि पीड़िता अपनी दोनों आंखों की रोशनी खो चुकी है.

यह भी पढ़ें: मां को गनप्वाइंट पर रख 12वीं की छात्रा को तेजाब से नहला दिया, जिंदगी की जंग लड़ रही भागलपुर की बेटी

पुलिस ने बताया कि पीड़ित महिला बुलंदशहर के गुलावटी गांव की रहने वाली है. उसने अपने भाइयों का नाम हमलावर के तौर पर बताया है और कहा कि उन्होंने पहले भी उसे मारने की कोशिश की थी. पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ एसिड अटैक (Acid Attack) से संबंधित आईपीसी की धारा 326 और हत्या करने के प्रयास की धारा 307 के तहत मामला दर्ज कर लिया है और जांच जारी है. फिलहाल इस मामले में अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. 

यह भी पढ़ें: अपने ही बेटे की देखभाल नहीं कर पा रहा था पिता, गुंडे को पैसे देकर बोला- डाल दो तेज़ाब

बता दें इस घटना से दो दिन पहले ही मध्य प्रदेश के कटनी साउथ रेलवे स्टेशन पर अम्बिकापुर-जबलपुर ट्रेन में यात्रा कर रही युवती पर एक अज्ञात शख्स एसिड फेंक कर फरार हो गया. एसिड अटैक से वहां बैठे 3 और लोगों पर भी असर हुआ है, जिन्हें जबलपुर  में इलाज के लिये भर्ती कराया गया है. पीड़ित के साथ उसकी मां पर भी एसिड के छींटे पड़े है,  पुलिस ने सूचना मिलते ही पीड़ित को जिला अस्पताल में भर्ती कराया. (इनपुट-आईएएनएस)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com