Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

साइकिलिंग : भारत ट्रैक एशिया कप के खिताब की ओर अग्रसर

साइकिलिंग : भारत ट्रैक एशिया कप के खिताब की ओर अग्रसर

प्रतियोगिता में पोडियम पर पदक विजेता

खास बातें

  • दूसरे दिन भारत ने एक स्वर्ण, दो रजत पदक जीते
  • पुरुष जूनियर वर्ग में बिलाल अहमद को रजत
  • जूनियर महिलाओं में भारत की स्वस्ति सिंह को स्वर्ण
नई दिल्ली:

भारतीय टीम ने यहां इंदिरा गांधी स्टेडियम में खेले जा रहे ट्रैक एशिया कप-2018 के दूसरे दिन शनिवार को अपने शानदार प्रदर्शन को जारी रखते हुए एक स्वर्ण, दो रजत पदक अपने नाम किए हैं. पुरुष जूनियर तीन किलोमीटर व्यक्तिगत स्पर्धा के फाइनल में बिलाल अहमद ने रजत पदक अपने नाम किया है. उन्होंने तीन मिनट 28.903 सेकेंड की समय सीमा में दूरी पूरी करते हुए रजत अपने गले में डाला. यह उनका ट्रैक एशिया कप में दूसरा पदक है. कजाकिस्तान के डेनिल पेखोतिन ने तीन मिनट 28.273 सेकेंड का समय निकालते हुए स्वर्ण पदक अपने नाम किया. साइनका ने कांस्य पदक पर कब्जा जमाया.

महिलाओं की तीन किलोमीटर इलीट वर्ग में साइनका की ई. चाओबा देवी ने स्वर्ण की प्रबल दावेदार मानी जा रहीं भारत की नयाना राजेश को मात दी. चाओबा ने स्वर्ण और नयाना ने रजत पदक अपने नाम किया. बांग्लादेश की सुर्बना बर्मा ने कांस्य पदक अपने नाम किया. स्वर्ण जीतने के बाद चाओबा ने कहा कि मैं रोज सात घंटे अभ्यास कर रही हूं और इस बात से खुश हूं कि मेरी मेहनत रंग ला रही है. मेरा एकमात्र लक्ष्य अपने देश के लिए पदक जीतना है. जूनियर महिलाओं की दो किलोमीटर स्पर्धा के फाइनल में भारत की स्वस्ति सिंह ने स्वर्ण पदक पर कब्जा जमाया. 

यह भी पढ़ें: इसलिए यह ऑस्ट्रेलियाई फुटबॉलर बन गया विराट कोहली का फैन​

उन्होंने दो मिनट 41.123 सेकेंड में दूरी पूरी कर पदक अपने नाम किया। साइनका की डानाम्मा चिनचखा के हिस्से रजत पदक आया. पुरुषों की 15 किलोमीटर इलिट स्क्रैच रेस में थाईलैंड के थुराकिट बूनाराटानाथानकोम और पाटोम्पोब फोर्नजथन ने क्रमश: स्वर्ण और रजत पदक पर कब्जा जमाया. नीदरलैंड्स के रयान जेम्स के हिस्से कांस्य पदक आया. 

VIDEO: पिछले दिनों एशियाई खेलों में सुशील कुमार ने सबसे ज्यादा निराश किया.

पुरुषों की चार किलोमीटर इलीट स्पर्धा के फाइनल में हांगकांग के सियू वोई के हिस्से स्वर्ण पदक आया. जेम्स ने रजत पर कब्जा जमाया जो उनका दिन का दूसरा पदक है. थाईलैंड के युटाना मानो को कांस्य पदक जीता.