NDTV Khabar

दिल्ली में बुजुर्ग की हत्या का मामला: आरोपी ने घर में ही की थी कृष्ण खोसला की हत्या, लूटे थे तीन लाख रुपये

पुलिस की जांच में पता चला कि आरोपी ने बुजुर्ग की एक चुन्नी से गला घोंटकर हत्या की थी. इससे पहले आरोपी नौकर किशन ने कृष्ण खोसला और उनकी पत्नी को चाय बनाकर दी थी, इसमें उसने नशीला पदार्थ मिलाया था. चाय पीने के बाद ही कृष्ण खोसला और उनकी पत्नी बेहोश हो गईं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां

खास बातें

  1. चुन्नी से गला घोंटकर की थी हत्या
  2. पुलिस ने पांच आरोपियों को किया गिरफ्तार
  3. एक अन्य आरोपी की तलाश जारी
नई दिल्ली:

दिल्ली के ग्रेटर कैलाश पार्ट वन इलाके से बुजुर्ग की हत्या मामले में पुलिस ने कई बड़े खुलासे किए हैं. सीआर पार्क पुलिस के अनुसार आरोपी नौकर किशन ने बुजुर्ग कृष्ण खोसला का अपहरण करने से पहले ही उनकी हत्या की थी. पुलिस की जांच में पता चला कि आरोपी ने बुजुर्ग की एक चुन्नी से गला घोंटकर हत्या की थी. इससे पहले आरोपी नौकर किशन ने कृष्ण खोसला और उनकी पत्नी को चाय बनाकर दी थी, इसमें उसने नशीला पदार्थ मिलाया था. चाय पीने के बाद ही कृष्ण खोसला और उनकी पत्नी बेहोश हो गईं. आरोपी ने बेहोशी की हालत में ही पहले कृष्ण खोसला की हत्या की और बाद में उनके शव फ्रीज में रखकर को बाहर ले गया. आरोपी ने कृष्ण खोसला की हत्या के बाद घर से तीन लाख रुपये भी लूटे थे. इस लूटपाट के बाद आरोपी शव को लेकर दिल्ली के तिगड़ी इलाके स्थित एक घर में गए. जहां उन्होंने शव को एक घर के अंदर ही छह फीट का गड्ढा कर उसमें दबा दिया.

91 साल के बुज़ुर्ग को बेहोश कर फ्रिज में रखकर किडनैप कर ले गया नौकर, जानिए क्यों


पुलिस ने कृष्ण खोसला के शव को भी बरामद कर लिया है. पुलिस की जांच में पता चला है कि आरोपियों ने हत्या के बाद में कृष्ण खोसला के एटीएम से भी 40 हजार रुपये निकाले हैं. इस मामले में पुलिस ने अभी तक पांच लोगों को गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में बताया है कि कृष्ण खोसला की हत्या के बाद उनकी प्लानिंग किडनैपिंग के नाम पर फिरौती की रकम भी लेने की थी.  बता दें कि कृष्ण खोसला को यूएन और भारत सरकार की दो अलग-अलग पेंशन मिलती थी. और इसकी जानकारी आरोपी नौकर और उसके दोस्तों को थी. इस मामले में अभी एक आरोपी पुलिस की पकड़ से बाहर है. जिसकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस की कई टीमें काम कर रही हैं. 

दिल्ली : अचानक तेज रफ्तार से ट्रक चला, कई वाहन क्षतिग्रस्त, ड्राइवर और क्लीनर फरार

इससे पहले पुलिस ने बताया था कि क्षेत्र के सुरक्षा गार्डों ने दावा किया है कि उन्होंने घरेलू सहायक को टेम्पो में फ्रिज ले जाते हुए देखा था. सहायक ने पूछताछ करने पर गार्ड को बताया कि फ्रिज खराब हो गया है और वह उसे ठीक कराने ले जा रहा है. उसके साथ कुछ लोग भी थे. दंपति कुछ माह से ग्रेटर कैलाश-1 में एक बिल्डिंग में पहली मंजिल में किराए पर रह रहे थे.उनके दो बेटे हैं। एक बेटा ऑस्ट्रेलिया में है और दूसरा पास ही में रहता है. 

दिल्ली के बदरपुर में 92 साल के बुजुर्ग की गला रेतकर हत्या, पुलिस ने आरोपी नौकर को साथियों संग किया गिरफ्तार

गौरतलब है कि दिल्ली में बुजुर्गों की हत्या का यह कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले द्वारका में घर में घुसकर हुई पति पत्नी की हत्या की गुत्थी को पुलिस ने सुलझाया लिया था. इस संबंध में पुलिस ने विशाल नाम के एक शख्स को गिरफ्तार किया था. विशाल ने ही दंपत्ति की हत्या को अंजाम दिया था.  विशाल एक साल से इसी परिवार के साथ रह रहा था. विशाल ने परिवार को  कमरा किराए पर दिलवाने में मदद की थी फिर परिवार से सम्बन्ध अच्छे हो गए और वह भी साथ रहने लगा था. इस बीच विशाल इनकी बेटी को पसंद करने लगा था और हत्या के पीछे की वजह यही थी कि वो मां-बाप को रास्ते से हटाना चाहता था.

टिप्पणियां

दिल्ली : बुजुर्ग महिला की हत्या का केस सुलझा, पड़ोसी का ड्राइवर गिरफ्तार

पति अंदर थे पहले विशाल ने चाकू से पत्नी पर हमला किया फिर पति पर.  पुलिस ने शनिवार को ही विशाल को हिरासत में ले लिया था और सीडीआर आने के बाद साफ़ हो गया कि उसने ही हत्या की है. खास बात ये है कि बेटी को इस बारे में कोई जानकारी नहीं थी. बता दें दिल्ली में द्वारका के मोहन गार्डन इलाके में शनिवार को एक 51 वर्षीय व्यक्ति और उसकी पत्नी की घर में ही हत्या कर दी गई थी. इनकी पहचान बिहार के रहने वाले  47 वर्षीय हरि बल्लभ और शांति सिंह के रूप में हुई थी, जो एक 27 वर्षीय बेटी के साथ दिल्ली में रह रहे थे. उनके शवों पर धारदार हथियार से किए गए वार के कई चोटों के निशान थे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement