वायुसेना और दो मंत्रालयों के इस फैसले से हवाई यात्रियों को मिलेगी राहत

गणतंत्र दिवस के मौके पर दिल्ली में हवाई क्षेत्र को बंद करने की अवधि दो दिन घटाई गई, नागर विमानन मंत्रालय, गृह मंत्रालय तथा वायुसेना ने विचार-विमर्श के बाद लिया फैसला

वायुसेना और दो मंत्रालयों के इस फैसले से हवाई यात्रियों को मिलेगी राहत

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • 18 से 26 जनवरी तक प्रतिदिन 100 मिनट हवाई क्षेत्र बंद रहता था
  • अब 19 जनवरी और 25 जनवरी को उड़ानों पर पाबंदी नहीं होगी
  • प्रभावित उड़ानों की संख्या 1000 से घटकर 780 पर आ जाएगी
नई दिल्ली:

गणतंत्र दिवस की तैयारी के दौरान हवाई क्षेत्र के उपयोग पर पाबंदी का समय नौ दिन से घटाकर सात दिन कर दिया गया है. इससे उन यात्रियों को कुछ राहत मिलेगी जो दिल्ली आने या यहां से कहीं जाने की योजना बना रहे हैं.

वाणिज्यिक एयरलाइंस के लिए 18 जनवरी से 26 जनवरी तक प्रतिदिन 100 मिनट हवाई क्षेत्र को बंद कर दिया जाता था. इससे करीब 1,000 उड़ानें रद्द या उनका पुनर्निर्धारण होता था.

एक हवाईअड्डा अधिकारी के अनुसार 19 जनवरी और 25 जनवरी को कोई पाबंदी नहीं होगी. इससे प्रभावित उड़ानों की संख्या घटकर 780 पर आ जाएगी. एक सूत्र ने बताया कि नागर विमानन मंत्रालय, गृह मंत्रालय तथा वायुसेना के बीच गहन विचार-विमर्श के बाद पाबंदी के दिन घटाए गए हैं. अधिकारी के अनुसार कुल नौ दिनों में से कुछ दिन अतिरिक्त रखा जाता था और भारतीय वायु सेना ने उनमें से दो दिन 19 जनवरी और 25 जनवरी को पाबंदी वाले दिन से हटाने का फैसला किया है.

यह भी पढ़ें : हो जाइए तैयार! 26 जनवरी को बिहार के लोग लगाएंगे 'पाकिस्‍तान में जयश्रीराम' के नारे

भारतीय हवाईअड्डा प्राधिकण ने 29 दिसंबर को नोटिस जारी कर एयरलाइंस को सूचित किया था कि इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाईअड्डे पर 18 जनवरी से 26 जनवरी तक सुबह 10.15 से दोपहर 12.35 बजे तक विमानों के उतरने या उड़ान भरने की अनुमति नहीं होगी.

VIDEO : संदिग्ध को किया गिरफ्तार

सूत्र ने बताया कि इस कदम का मकसद यह सुनिश्चित करना है कि प्रतिदिन 60 घरेलू उड़ानों से अधिक रद्द नहीं हो. अंतरराष्ट्रीय उड़ानों को रद्द नहीं किया जाता, उनके समय का सिर्फ पुनर्निर्धारण किया जाता है.
(इनपुट भाषा से)

 
Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com