NDTV Khabar

गंभीर स्थिति में पहुंची दिल्ली-एनसीआर की हवा, फरीदाबाद की हालत सबसे खराब, जानें- अपने शहर का हाल

दिल्ली में प्रतिकूल मौसम परिस्थितियों के कारण प्रदूषकों (Air Pollution) का छितराव धीमा होने से रविवार को वायु गुणवत्ता (Air Quality) गिरकर ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
गंभीर स्थिति में पहुंची दिल्ली-एनसीआर की हवा, फरीदाबाद की हालत सबसे खराब, जानें- अपने शहर का हाल

वायु गुणवत्ता (Air Quality) गिरकर ‘गंभीर’ श्रेणी में पहुंच गई है.

नई दिल्ली :

दिल्ली में प्रतिकूल मौसम परिस्थितियों के कारण प्रदूषकों (Air Pollution) का छितराव धीमा होने से रविवार को वायु गुणवत्ता (Air Quality) गिरकर ‘गंभीर' श्रेणी में पहुंच गई. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के आंकड़ों के अनुसार दिल्ली का समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 412 दर्ज किया गया जो ‘गंभीर श्रेणी' में आता है जबकि केंद्र द्वारा संचालित वायु गुणवत्ता (Air Quality in Delhi-NCR) एवं मौसम पूर्वानुमान प्रणाली (सफर) ने एक्यूआई 388 दर्ज किया जो ‘बहुत खराब' श्रेणी में आता है. सफर ने बताया कि पिछले एक सप्ताह से दिन-रात मौसमी प्रवृत्ति पर नजर रखी गई. ‘‘रात के समय धीमी हवा और ठंड प्रदूषण स्तर बढ़ा रही है. कई जगहों पर एक्यूआई कुछ घंटों के लिए ‘गंभीर' स्तर पर पहुंच गया जबकि दिन के दौरान हवा थोड़ी-सी तेज चल रही है और तापमान बढ़ रहा है जिससे प्रदूषण का स्तर ‘बहुत खराब' रहा''. वायु गुणवत्ता 10 दिनों में चौथी बार रविवार को सुबह ‘गंभीर' श्रेणी में पहुंच गई.

दिल्ली की दमघोंटू आबोहवा : फिलहाल राहत के आसार नहीं, ऐसे करें अपना बचाव


टिप्पणियां

सीपीसीबी के आंकड़ों के अनुसार, 27 इलाकों में प्रदूषण ‘गंभीर' स्तर पर दर्ज किया गया जबकि आठ इलाकों में वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब' दर्ज की गई. एनसीआर, गाजियाबाद, गुड़गांव और नोएडा में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर' दर्ज की गई जबकि फरीदाबाद में वायु गुणवत्ता ‘बहुत खराब' दर्ज की गई. सीपीसीबी ने बताया कि दिल्ली में पीएम 2.5 का स्तर 339 और पीएम 10 का स्तर 506 दर्ज किया गया. राष्ट्रीय राजधानी में रविवार को 450 के एक्यूआई के साथ साल में दूसरा सबसे अधिक प्रदूषण स्तर दर्ज किया गया. सफर ने कहा, ‘‘दिल्ली में वायु गुणवत्ता बहुत खराब है जिसमें दिन में तेज हवा चलने से स्थिति में मामूली सुधार हो सकता है लेकिन कल तक वायु गुणवत्ता खराब होने का अनुमान है. अगले कम से कम दो दिन तक शीतलहर चलने की संभावना है''.


दुनिया में सबसे प्रदूषित हुई राजधानी की हवा, NGT के जुर्माने का भी कोई असर नहीं 



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement