NDTV Khabar

केजरीवाल सरकार ने सोमवार से ऑड-ईवन लागू करने का फैसला लिया वापस, बताई ये वजह

दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक, ऑड-ईवन के दौरान दो पहिया वाहन पर रोक लगने से करीब 35 लाख यात्रियों का एक्स्ट्रा बोझ आएगा, जिसके लिए कोई तंत्र मौजूद नहीं है. 

218 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
केजरीवाल सरकार ने सोमवार से ऑड-ईवन लागू करने का फैसला लिया वापस, बताई ये वजह

फाइल फोटो

खास बातें

  1. 'यह लागू करना मुश्किल हो गया क्योंकि हमारे पास पर्याप्त बसें नहीं हैं'
  2. मुख्यमंत्री के घर पर हुई बैठक में मुख्य सचिव सहित अन्य मौजूद थे
  3. रविवार तक के लिए दिल्‍ली के स्कूल भी बंद कर दिए गए
नई दिल्‍ली: मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने घर पर बुलाई अधिकारियों और मंत्रियों की बैठक में फैसला लिया है कि ऑड-ईवन सोमवार से लागू नहीं होगा. आपको बता दें कि इससे पहले एनजीटी ने अपने आदेश में वीआईपी, महिलाओं और टू व्‍हीलर को छूट देने से इनकार कर दिया था.

ऑड-ईवन स्कीम लागू करने को NGT ने दी हरी झंडी, लेकिन ये शर्तें होंगी जरूरी

इस बैठक में फैसला लिया गया है कि दिल्‍ली सरकार सोमवार को एनजीटी में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी. इस याचिका में महिलाओं और दो पहिया वाहनों को ऑड-ईवन के दौरान छूट देने की मांग की जाएगी. दिल्‍ली सरकार के ऑड-ईवन को वापस लेने की दूसरी वजह है कि शनिवार को पीएम 10 और पीएम 2.5 का स्‍तर 500 और 300 से कम हैं इसलिए ऑड-ईवन को वापस ले रही है.

दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक, ऑड-ईवन के दौरान दो पहिया वाहन पर रोक लगने से करीब 35 लाख यात्रियों का एक्स्ट्रा बोझ आएगा, जिसके लिए कोई तंत्र मौजूद नहीं है. इतना ही नहीं महिला सुरक्षा भी बड़ा मुद्दा है और किसी भी सूरत में महिलाओं की ऑड-ईवन के दौरान ड्राइविंग पर रोक नहीं लगा सकते. अगर एनजीटी इन दो मुद्दों पर नहीं मानी तो ऑड-ईवन होगा, वरना नहीं.
   

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट करके कहा है कि दिल्‍ली सरकार महिलाओं की सुरक्षा को दांव पर नहीं लगा सकती है. उन्‍होंने कहा है कि ऑड-ईवन में महिलाओं को छूट नहीं मिल जाती तब तक हम इसे लागू नहीं करेंगे.

आपको बता दें कि इससे पहले एनजीटी ने ऑड-ईवन को मंजूरी दे दी थी और इसके साथ कुछ शर्तें भी रखी थी. एनजीटी ने कहा था कि किसी भी अधिकारी, दो पहिया वाहनों और महिलाओं को छूट नहीं दी जा सकती. एनजीटी ने कहा था कि ऑड-ईवन के दौरान सिर्फ इमरजेंसी गाड़ियां जैसे एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड, कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों को छूट मिलेगी.
 

प्रदूषण पर सियासत : इशारों-इशारों में अमरिंदर का केजरीवाल से मुलाक़ात से इनकार


एनजीटी ने अपने फैसले में कहा था सरकार दिल्ली आने वाले सभी रास्तों के बार्डर पर जाम न लगें इसके लिए सभी प्राइवेट यातायात सर्विस देने वाले के साथ सरकार कोर्डिनेट कर सीएनजी बसें चला सकती हैं. डीटीसी ऑड-ईवन के दौरान सिर्फ सीएनजी बसों का प्रयोग करें और आने वाले हफ्ते में पानी का छिड़काव किया जाए.
 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement