NDTV Khabar

मनोज तिवारी का ‘आप’ पर निशाना, बताया कांग्रेस की ‘B’ टीम

भातीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली का प्रशासनिक प्रमुख तय करने के मामले में आम आदमी पार्टी द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में अपनी ओर से पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम को अपना प्रतिनिधि बनाने को लेकर आप पर निशाना साधते हुए उसे कांग्रेस की 'बी' टीम बताया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
मनोज तिवारी का ‘आप’ पर निशाना, बताया कांग्रेस की ‘B’ टीम

दिल्ली भाजपा के प्रमुख मनोज तिवारी (फाइल फोटो)

खास बातें

  1. मनोज तिवारी ने साधा ‘आप’ पर निशाना
  2. आम आदमी पार्टी को बताया कांग्रेस की 'बी' पार्टी
  3. उन्होंने कहा कि जल्द दिल्ली कांग्रेस का आप में विलय होते नजर आ सकता है
नई दिल्ली: भातीय जनता पार्टी (भाजपा) ने दिल्ली का प्रशासनिक प्रमुख तय करने के मामले में आम आदमी पार्टी द्वारा सर्वोच्च न्यायालय में अपनी ओर से पूर्व केंद्रीय मंत्री पी. चिदंबरम को अपना प्रतिनिधि बनाने को लेकर आप पर निशाना साधते हुए उसे कांग्रेस की 'बी' टीम बताया है. दिल्ली भाजपा के प्रमुख मनोज तिवारी ने यहां मीडियाकर्मियों को बताया, ‘चाहे चिदंबरम का दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार को बचाने की खबरें हों या निर्वाचन आयोग से संपत्ति या अन्य बातें छिपाने की खबरें हों, हमें अब कुछ भी हैरान नहीं करता.’

यह भी पढ़ें: स्वदेशी रैली में गए भाजपा सांसद मनोज तिवारी का विदेशी फोन चोरी

तिवारी ने आरोप लगाया, ‘हमने शुरू से कहा है कि आम आदमी पार्टी (आप) कांग्रेस की 'बी' टीम है और अब चिदंबरम के केजरीवाल सरकार का वकील बनना स्वीकार करने की खबरें साफ करती हैं कि कांग्रेस ने खुले तौर पर अपनी 'बी' टीम को बचाने का फैसला कर लिया है.’ उन्होंने कहा कि जल्द ही अजय माकन के नेतृत्व वाली दिल्ली कांग्रेस का आप में विलय होते नजर आ सकता है. 

यह भी पढ़ें: मनोज तिवारी का आरोप, केजरीवाल सरकार 'स्वच्छ भारत' मिशन को सफल नहीं बनाना चाहती

टिप्पणियां
तिवारी की यह टिप्पणी चिंदबरम द्वारा उस न्यायिक टीम में शामिल होने के बाद आई है जो दिल्ली उच्च न्यायालय के उस फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर बहस करेगी जिसमें कहा गया है कि उपराज्यपाल राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र (एनसीआर) का प्रशासनिक प्रमुख होता है. सर्वोच्च न्यायालय में चिदंबरम द्वारा आप सरकार का प्रतिनिधित्व करने की घोषणा आप सरकार के स्थायी सलाहकार राहुल मेहरा ने सोमवार को की थी.

VIDEO: बीजेपी ने AAP पर लगाया चंदे में करोड़ों की हेराफेरी का आरोप
गृह मंत्रालय द्वारा मई 2016 में एक अधिसूचना को पारित करने के बाद आप और केंद्र सरकार आमने-सामने आ गए, जिसके तहत सार्वजनिक आदेश, पुलिस और सेवाओं जैसे मामलों में दिल्ली के तत्कालीन उपराज्यपाल नजीब जंग को अप्रत्याशित अधिकार दिए गए थे.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement