NDTV Khabar

बीजेपी सांसद मनोज तिवारी सीलिंग के मामले में खुली बहस के लिए मंच पर नहीं आए

आम आदमी पार्टी ने कहा- दिल्ली के व्यापारियों के दर्द से भाजपा को कोई सरोकार नहीं, केंद्र सरकार सीलिंग पर अध्यादेश लाए

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बीजेपी सांसद मनोज तिवारी सीलिंग के मामले में खुली बहस के लिए मंच पर नहीं आए

दिल्ली बीजेपी के अध्यक्ष और सांसद मनोज तिवारी.

खास बातें

  1. आप व्यापारी संगठन के अध्यक्ष ब्रजेश गोयल ने खुली बहस की चुनौती दी थी
  2. आप नेता पंकज गुप्ता ने मनोज तिवारी पर लगाया दिखावा करने का आरोप
  3. कहा- भाजपा खुद ही नहीं चाहती कि दिल्ली में हो रही सीलिंग को रोका जाए
नई दिल्ली:

भाजपा दिल्ली के व्यापारियों की मजबूरियों का मज़ाक उड़ा रही है. एक तरफ तो भाजपा शासित एमसीडी दिल्ली में सीलिंग करके दिल्ली के व्यापारियों को ज़ख्म दे रही है, और दूसरी तरफ भाजपा के सांसद मनोज तिवारी उनके जख्मों पर नमक लगाने का काम कर रहे हैं.

बुधवार को एक बयान में आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय सचिव एवं चांदनी चौक लोकसभा क्षेत्र के प्रभारी पंकज गुप्ता ने यह बात कही. उन्होंने कहा कि आज मनोज तिवारी का दोहरा चरित्र दिल्ली और देश की जनता के सामने बेनकाब हो गया है. मीडिया के सामने बड़ी बड़ी बातें करने वाले और दिल्ली में हो रही सीलिंग के लिए आम आदमी पार्टी पर इल्ज़ाम लगाने वाले मनोज तिवारी आज सीलिंग के मुद्दे पर खुली बहस से भाग खड़े हुए.

यह भी पढ़ें : अमित शाह की जगह मनोज तिवारी ने स्वीकारी केजरीवाल की चुनौती, AAP ने भी बदला नेता


आपको बता दें कि लम्बे समय से मनोज तिवारी दिल्ली में हो रही सीलिंग के लिए आम आदमी पार्टी को जिम्मेदार ठहरा रहे हैं. इसी के चलते आम आदमी पार्टी व्यापारी संगठन के अध्यक्ष ब्रजेश गोयल ने जनता के बीच खुली बहस की चुनौती दी थी.  आम आदमी पार्टी के ब्रजेश गोयल तय समय पर चांदनी चौक पर स्थित टाउन हॉल पहुंच गए लेकिन भाजपा सांसद खुली बहस के मंच पर नहीं आए.

यह भी पढ़ें : बीजेपी के दिल्ली प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी बोले- जनता के लिए जितनी बार कोर्ट आना पड़े, तैयार हूं

गुप्ता ने कहा कि दिल्ली के व्यापारियों द्वारा आयोजित इस खुली बहस में शामिल न होकर भाजपा सांसद मनोज तिवारी ने ये साबित कर दिया है कि भाजपा का दिल्ली के व्यापारियों के दुखों से कोई लेना देना नहीं है. भाजपा खुद ही नहीं चाहती कि दिल्ली में हो रही सीलिंग को रोका जाए. मनोज तिवारी जो यह ताला तोड़ने का दिखावा कर रहे हैं वह केवल आने वाले लोकसभा चुनाव के लिए लोकप्रियता बटोरने का एक स्टंट मात्र है.

टिप्पणियां

VIDEO : मनोज तिवारी को कोर्ट में लगी फटकार

उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी शुरू से ही इस बात को कहती आई है कि दिल्ली में हो रही सीलिंग का केवल और केवल एक ही समाधान है और वह है विधेयक. केंद्र में भाजपा की पूर्ण बहुमत वाली सरकार है और जैसा कि सबको ज्ञात है कि कोई भी कानून बनाना और कानून में संशोधन करना केवल संसद के अधिकार क्षेत्र में है. अगर भाजपा सच में चाहती है कि दिल्ली में हो रही सीलिंग रोकी जाए, तो सांसद मनोज तिवारी को संसद में विधेयक लाने के लिए आवाज़ उठानी चाहिए.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों, LIVE अपडेट तथा चुनाव कार्यक्रम के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement