NDTV Khabar

अवैध टोल देने से इंकार करने पर की थी कैंटर चालक की हत्या, सात बाउंसर गिरफ्तार

एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान अभियुक्तों ने बताया कि वे लोग अवैध पर्ची अपने टोल मैनेजर के कहने पर काटते हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
अवैध टोल देने से इंकार करने पर की थी कैंटर चालक की हत्या, सात बाउंसर गिरफ्तार
नोएडा:

नोएडा को दिल्ली से जोड़ने वाले कालिंदी कुंज के नए यमुना पुल पर शनिवार सुबह कैंटर चालक का शव बरामद किया गया था. नोएडा पुलिस ने ओखला एमसीडी टोल पर अवैध वसूली का विरोध करने पर कैंटर चालक ही हत्या करने और शव को फेंकने के सात आरोपियों को गिरफ्तार किया है. ये सभी बाउन्सर हैं. इस मामले में टोल मैनेजर फरार है. पुलिस उसकी सरगरमी से तलाश कर रही है. पुलिस की गिरफ्त में आए मनरूप, धर्मपाल, अमित कुमार, चेतन प्रकाश, सराजुद्दीन, मनोज और कृष्ण कुमार, ये सभी बाउन्सर हैं और महाराष्ट्र की एमईपी (महाराष्ट्र एन्ट्री प्वाइन्ट) कंपनी के लिए टोल वसूली का काम करते हैं. सोमवार को हुई प्रेस कान्फ्रेंस में एसएसपी ने बताया कि पूछताछ के दौरान अभियुक्तों ने बताया कि वे लोग अवैध पर्ची अपने टोल मैनेजर के कहने पर काटते हैं.

उन्होंने बताया कि इस मामले में टोल मैनेजर अभी फरार है. पुलिस उसकी तलाश कर रही है. एसएसपी ने बताया कि कैंटर चालक विमल कुमार तिवारी 9 अगस्त को कैंटर में बिजली के पैनल लोड कर के सेक्टर-59 से दिल्ली के घिटोरनी के लिए निकला. ओखला एमसीडी टोल से आगे निकलने पर टोल कर्मचारियों ने अपनी गाड़ी से पीछा कर उसे पकड़ लिया और कैंटर चालक से 10 गुना जुर्माने के रूप में 14,600 रुपये की अवैध पर्ची कटवाने का दबाब बनाया.


टिप्पणियां

चालक विमल कुमार तिवारी ने इसका विरोध किया. इस पर टोल कर्मचारियों ने उसे मारपीट कर मरणासन्न कर दिया और नए यमुना पुल पर फेंक दिया. सूचना पाकर मौके पर पहुंचे विमल कुमार तिवारी के भाई और पुलिस उसे जिला अस्पताल ले गए, जहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इस बाबत मृतक के भाई राम शृंगार तिवारी ने एफआईआर दर्ज कराई.

मृतक विमल कुमार तिवारी के शरीर पर पोस्टमार्टम के दौरान चोट के निशान मिले हैं जिससे ये बात साफ हो गई थी कि विमल कुमार तिवारी की मौत चोट के कारण हुई है.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement