NDTV Khabar

बुराड़ी केस : करीबी का दावा- ललित मौनव्रत पर नहीं आवाज चली गई थी, खुदकुशी की बात भी नकारी
पढ़ें | Read IN

प्रवीण का कहना है कि हो सकता है उस बच्चे ने मोक्ष के बारे में कुछ लिख दिया हो लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि पूरा परिवार एक-दूसरे की बात मानकर सुसाइड कर ले. 

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
बुराड़ी केस : करीबी का दावा- ललित मौनव्रत पर नहीं आवाज चली गई थी, खुदकुशी की बात भी नकारी
नई दिल्ली: दिल्ली के बुराड़ी में घर से एक ही परिवार के 11 लोगों के शव मिलने के बाद हर कोण से जांच की जा रही है. हालांकि अभी तक किसी भी नतीजे में पहुंचा नहीं जा सका है. इस मामले में परिवार के बेहद करीबी प्रवीण मित्तल ने एनडीटीवी से बातचीत में बताया है कि वह इस इन लोगों को पिछले 20 सालों से जानते हैं. इनमें एक प्रियंका जो मृतकों में शामिल है, उन्हें मुंहबोला भाई मानती थी.  प्रवीण के मुताबिक ये परिवार काफी पूजा-पाठ करता था और रात में बिना पूजा किये नहीं सोते थे. पूरा परिवार बाला जी को बहुत मानता था. उन्होंने ये भी खुलासा किया कि उनके परिवार का एक सदस्य ललित जिसके बारे में कहा जा रहा था कि वह मौनव्रत पर है, वास्तव में एक हादसे में उसकी आवाज चली गई थी. परिवार के मुताबिक इस हादसे के बाद ललित के पिता उसके सपने में आये और कहा 'खूब पूजा-पाठ करो सब ठीक हो जाएगा'.

बुराड़ी के घर से मिले 11 शव: 2 रजिस्‍टरों में सामने आए 10 चौंकाने वाले खुलासे, समय और दिन पहले से था तय

टिप्पणियां
हालांकि प्रवीण का कहना है कि तंत्रमंत्र के चक्कर में जान देने की बात गले नहीं उतरती है. उनका कहना है कि परिवार बेहद पढ़ा-लिखा था और खुदकुशी जैसा कदम नहीं उठा सकता है. वहीं रजिस्टर में लिखी बातों पर प्रवीण ने बताया कि राइटिंग की पहचान के लिये उनको पुलिस ने बुलाया था. जो नोट लिखे गये हैं उनक नीचे बच्चे दुष्यंत का नाम लिखा हुआ है.
वीडियो :  पुलिस को आत्महत्या का शक​

प्रवीण का कहना है कि हो सकता है उस बच्चे ने मोक्ष के बारे में कुछ लिख दिया हो लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि पूरा परिवार एक-दूसरे की बात मानकर सुसाइड कर ले. 

 


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement