केंद्र सरकार शनिवार को करेगी ‘गंगा ग्राम’ योजना का औपचारिक शुभारंभ

अगस्त माह में, केंद्र ने उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के गंगा के तट पर स्थित सभी 4,470 गांवों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया था.

केंद्र सरकार शनिवार को करेगी ‘गंगा ग्राम’ योजना का औपचारिक शुभारंभ

इसका उद्देश्य गंगा के तट पर स्थित गांवों का संपूर्ण स्वच्छता विकास करना है..

खास बातें

  • इसका उद्देश्य गंगा के तट पर स्थित गांवों का संपूर्ण स्वच्छता विकास करना.
  • कार्यक्रम की अध्यक्षता पेयजल तथा स्वच्छता मंत्री उमा भारती करेंगी.
  • परियोजना की शुरूआत शनिवार को गंगा ग्राम स्वच्छता सम्मेलन में होगी.
नई दिल्ली:

गंगा की सफाई के अभियान नमामी गंगे के हिस्से के तौर पर केंद्र सरकार शनिवार को ‘गंगा ग्राम’ योजना का औपचारिक शुभारंभ करेगी. इसका उद्देश्य गंगा के तट पर स्थित गांवों का संपूर्ण स्वच्छता विकास करना है. अगस्त माह में, केंद्र ने उत्तराखंड, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल के गंगा के तट पर स्थित सभी 4,470 गांवों को खुले में शौच से मुक्त घोषित किया था. इन गांवों में से केंद्र और राज्य सरकारों ने 24 गांवों की पहचान की है जिन्हें ‘गंगा ग्राम’ बनाने के लिए पायलट परियोजना के तहत लिया जाएगा.

यह भी पढ़ें : गाद की समस्या के समाधान के बगैर नमामी गंगे परियोजना सफल नहीं होगी : नीतीश

Newsbeep

एक आधिकारिक वक्तव्य के मुताबिक परियोजना की शुरूआत शनिवार यहां गंगा ग्राम स्वच्छता सम्मेलन में होगी. कार्यक्रम की अध्यक्षता पेयजल तथा स्वच्छता मंत्री उमा भारती करेंगी. इसमें जल संसाधन, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण मंत्री नितिन गडकरी और ग्रामीण विकास मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर शामिल होंगे.
 
VIDEO : उत्तरकाशी में मैली हो रही है गंगा, शहर की सारी गंदगी जाती है नदी में​

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com


(हेडलाइन के अलावा, इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है, यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)