दिल्ली : कोरोना की जांच में देरी, COVID-19 टेस्ट के लिए निजी लैबों को नमूने भेजेगी केजरीवाल सरकार 

कुल मिलाकर 175 लोगों के सैंपल में से 67 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट शनिवार तक आई. इनमें से 41 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं.

दिल्ली : कोरोना की जांच में देरी, COVID-19 टेस्ट के लिए निजी लैबों को नमूने भेजेगी केजरीवाल सरकार 

अब दिल्ली की सभी प्राइवेट लैब में सैम्पल भेजेगी दिल्ली सरकार (प्रतीकात्मक तस्वीर)

नई दिल्ली:

दिल्ली के कापसहेड़ा (Kapashera) इलाके में एक ही बिल्डिंग में रहने वाले 41 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. इनके टेस्ट की रिपोर्ट आने में काफी देर हुई है, जिसके बाद दिल्ली सरकार ने रविवार को बड़ा कदम उठाया है. टेस्ट रिपोर्ट देरी से आने के बाद अब दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि वह दिल्ली की सभी प्राइवेट लैब में सैम्पल भेजेगी. राज्य के स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि टेस्ट रिपोर्ट के लिए 24 से 36 घण्टे का टाइम फ्रेम तय किया गया. 

2 मई को कापसहेड़ा की एक ही बिल्डिंग में 41 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे. 18 अप्रैल को एक कोरोना का मामला सामने आया था. घनी आबादी का इलाका देखते हुए प्रशासन ने 19 अप्रैल को इलाके को सील करने के आदेश दिए थे. इसके बाद यहां के 95 लोगों के सैंपल 20 अप्रैल को और 80 लोगों के सैंपल 21 अप्रैल को लिए गए और NIB, नोएडा को जांच के लिए भेजे गए थे.

कुल मिलाकर 175 लोगों के सैंपल में से 67 लोगों के सैंपल की रिपोर्ट शनिवार तक आई. इनमें से 41 लोग कोरोना संक्रमित पाए गए हैं. 175 लोगों के नमूने भेजे गए थे, जिसमें 67 की रिपोर्ट आई है यानी 10-11 दिन में जाकर सिर्फ इतनी ही रिपोर्ट आई हैं. 

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

इस मामले में दक्षिण पश्चिम दिल्ली प्रशासन ने कहा है कि 'यह सैंपल 13 दिन पहले लिए गए थे.' प्रशासन ने कहा है कि 'नतीजे आने में देरी होने के दो कारण हैं, पहला- दिल्ली नोएडा बॉर्डर बंद होने के चलते समस्या हुई, दूसरा NIB, नोएडा में मामले ज़्यादा हैं जिससे मामले लंबित हैं. कहा गया है कि 'नतीजे भी 13 दिन पुराने माने जाने चाहिए इसलिए अब प्रशासन कल और परसों सभी पॉजिटिव आए लोगों का दोबारा टेस्ट कराएगा.

वीडियो: दिल्ली के कापसहेड़ा में एक ही इमारत के 41 लोग कोरोना संक्रमित