NDTV Khabar

दिल्ली में दस माह में करीब डेढ़ लाख वोटर कम हो गए

अक्टूबर 2017 में दिल्ली में मतदाताओं की संख्या एक करोड़ 37 लाख 57 हज़ार 542 थी, अब एक करोड़ 36 लाख 15 हज़ार 776

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में दस माह में करीब डेढ़ लाख वोटर कम हो गए

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  1. चुनाव आयोग ने नए वोटरों से आवेदन मांगे
  2. अंतिम वोटर लिस्ट चार जनवरी 2019 को जारी होगी
  3. दिल्ली में सबसे बड़ी लोकसभा सीट उत्तर पश्चिम दिल्ली
नई दिल्ली: दिल्ली से करीब डेढ़ लाख वोटर कम हो गए हैं. दिल्ली चुनाव आयोग ने शुक्रवार को जो ड्राफ्ट इलेक्टोरल रोल या नई वोटर लिस्ट जारी की है. उसमें एक लाख 41 हजार 766 वोटर कम हो गए हैं. वोटर संख्या में यह कमी बीते 10 महीनों के दौरान हुई समीक्षा में दर्ज की गई है.

गत 23 अक्टूबर 2017 को दिल्ली के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने जो ड्राफ्ट इलेक्टोरल रोल जारी किए थे उसमें दिल्ली के अंदर कुल मतदाताओं की संख्या एक करोड़ 37 लाख 57 हज़ार 542 थी. जबकि ताजा इलेक्टोरल रोल में दिल्ली में कुल मतदाताओं की संख्या एक करोड़ 36 लाख 15 हज़ार 776 रह गई है.

दरअसल चुनाव आयोग समय-समय पर मतदाता सूची की समीक्षा करता रहता है और मतदाताओं के नाम काटना और जोड़ना उसकी इस लगातार चलने वाली प्रक्रिया का हिस्सा है. यानी यह जरूरी नहीं कि कुल वोटर की संख्या से केवल एक लाख 41 हज़ार नाम कटे ही हों, बल्कि यह संभावना बहुत प्रबल है कि बहुत से नाम कटे हैं तो कुछ नाम जुड़े भी होंगे जिससे कि आखरी में यह आंकड़ा आया है.

यह भी पढ़ें :मध्यप्रदेश के बाद अब राजस्थान में हजारों मतदाताओं के एक से ज्यादा वोटर कार्ड

चुनाव आयोग ने नए और पहली बार वोटर बनने वालों से आवेदन मांगे हैं. ऐसे वोटर जो एक जनवरी 2019 को 18 वर्ष की आयु पूरी कर चुके होंगे वे चुनाव आयोग में वोटर कार्ड बनवाने के लिए आवेदन कर सकते हैं. जो नाम काटे गए हैं उनके ऊपर आपत्ति दर्ज करवाने और सुनवाई का समय एक सितंबर 2018 से लेकर 31 अक्टूबर 2018 तय किया गया है. दिल्ली निर्वाचन अधिकारी के मुताबिक फाइनल वोटर लिस्ट चार जनवरी 2019 को जारी होगी. यह अहम इसलिए है क्योंकि 2019 लोकसभा चुनाव अब कुछ ही महीने दूर हैं. ऐसे में वोटर लिस्ट में नाम जोड़ना और वोटर लिस्ट से नाम कटना जारी रहेगा.

टिप्पणियां
VIDEO : राजस्थान में लाखों फर्जी वोटर

मौजूदा ड्राफ्ट वोटर लिस्ट में कुछ जानने योग्य तथ्य भी हैं जैसे कि दिल्ली में कुल सात लोकसभा सीट हैं और नई ड्राफ्ट वोटर लिस्ट के अनुसार दिल्ली में सबसे बड़ी लोकसभा सीट उत्तर पश्चिम दिल्ली है जिसमें 22 लाख 87 हज़ार 777 वोटर हैं. जबकि 14 लाख 98 हज़ार 257 वोटर के साथ चांदनी चौक लोकसभा सीट सबसे छोटी लोकसभा सीट है. दिल्ली में कुल 70 विधानसभा सीट हैं जिसमें से मटियाला सबसे बड़ी विधानसभा सीट है जिसमें तीन लाख 64 हज़ार 141 वोटर हैं जबकि केवल एक लाख 14 हज़ार 972 वोटरों के साथ दिल्ली कैंट सबसे छोटी विधानसभा सीट है. लिंगानुपात के मामले में पश्चिमी दिल्ली की तिलक नगर विधानसभा सीट सबसे ऊपर है जहां पर 1000 पुरुष वोटर पर करीब 942 महिला वोटर हैं जबकि ओखला विधानसभा सीट सबसे निचले पायदान पर है जहां 1000 पुरुष वोटर पर केवल 644 महिला वोटर ही हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement