कोरोना पर बोले CM केजरीवाल- पूरे देश में दिल्ली मॉडल की चर्चा, लोगों का डर कम हुआ

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने कोरोना वॉरियर्स को धन्यवाद देते हुए कहा कि दिल्ली के लोगों में कोरोना (Coronavirus) को लेकर डर कम हुआ है.

कोरोना पर बोले CM केजरीवाल- पूरे देश में दिल्ली मॉडल की चर्चा, लोगों का डर कम हुआ

CM अरविंद केजरीवाल ने आज सचिवालय में ध्वजारोहण किया.

खास बातें

  • केजरीवाल ने सचिवालय में फहराया तिरंगा
  • कोरोना वॉरियर्स को दिया धन्यवाद
  • कहा- लोगों में कोरोना का डर कम हुआ है
नई दिल्ली:

दिल्ली (Delhi) के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind Kejriwal) ने आज (शनिवार) स्वतंत्रता दिवस (Independence Day 2020) के अवसर पर दिल्ली सचिवालय (Delhi Secretariat) में ध्वजारोहण किया. इस दौरान उन्होंने 'भारत माता की जय', 'इंकलाब जिंदाबाद' और 'वंदे मातरम' के नारे लगाए. केजरीवाल ने कहा, 'सभी को स्वतंत्रता दिवस की बधाई और शुभकामनाएं. आज का दिन उन सभी शहीदों को याद करने का दिन है, जिन्होंने अपने देश को आजाद कराने के लिए अपनी जान की कुर्बानी दी.' इस दौरान उन्होंने कोरोना वॉरियर्स को धन्यवाद देते हुए कहा कि दिल्ली के लोगों में कोरोना (Coronavirus) को लेकर डर कम हुआ है.

मुख्यमंत्री ने आगे कहा, 'शहीद-ए-आजम भगत सिंह, चंद्रशेखर आजाद, अशफाक उल्ला खान, सुभाष चंद्र बोस ऐसे लाखों लोग हैं, जिन्होंने अपने देश को अंग्रेजों से आजाद कराने के लिए बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दीं. महात्मा गांधी, सरदार पटेल, बाबा साहब अंबेडकर, जवाहर लाल नेहरू, यह वह लोग हैं, जिन्होंने देश को आजाद कराने के लिए तपस्या की. आज का दिन उन लोगों को भी याद करने का दिन है, जिन्होंने पिछले 73 साल में देश की आजादी को बरकरार रखने के लिए और देश को सुरक्षित रखने के लिए देश की सीमाओं पर अपनी बड़ी-बड़ी कुर्बानियां दीं.'

स्वतंत्रता दिवस पर केजरीवाल सरकार ने 7 कोरोना योद्धाओं को दिया स्पेशल इनविटेशन

केजरीवाल ने कहा, 'अभी पिछले दिनों हमने सुना कि भारत चीन बॉर्डर पर हमारे 20 सैनिक शहीद हो गए. आज जब हम खुली हवा में सांस लेते हैं और आजादी से घूमते हैं तो हम भूल जाते हैं कि ना जाने कितने ऐसे सैनिकों ने अपनी जान की कुर्बानी दी है. आज उन सभी सैनिकों को हम याद करते हैं और उनका सम्मान करते हैं और उनको नमन करते हैं, लेकिन साथ ही यह प्रतिज्ञा भी लेते हैं कि जितने लोगों ने देश की आजादी की लड़ाई लड़ी थी, कि आजादी के जो दीवाने थे उनके जो सपने हैं, उनके सपनों को पूरा करने में अपना योगदान दें.'

उन्होंने कोरोना मामलों पर कहा, 'दिल्ली के अंदर आज हालात काफी कंट्रोल में हैं. मैं दिल्ली के लोगों को बधाई देता हूं. दिल्ली के लोगों ने पिछले कुछ वर्षों में बहुत से अभूतपूर्व काम करके दिखाएं हैं. जब हर जगह प्रदूषण बढ़ रहा था, तब दिल्ली पूरे देश में शायद अकेला ऐसा शहर था, जहां 25 फीसदी प्रदूषण यहां के लोगों ने कम करके दिखाया. पिछले 5 सालों में 2015 में जिस स्तर पर प्रदूषण था, 2019 में उस से 25 फीसदी कम हो गया. यह अच्छी बात है लेकिन हम इससे संतुष्ट नहीं हैं. हम और भी बहुत से कदम उठाएंगे लेकिन बड़ी बात यह है कि जब पूरी दुनिया और देश के अंदर जब प्रदूषण बढ़ रहा था उस वक्त दिल्ली के अंदर प्रदूषण कम हो रहा था.'

दिल्ली : बीते 24 घंटे में कोरोना के आए 956 नए मामले, 913 लोग हुए ठीक

मुख्यमंत्री ने कहा, 'पिछले 5 सालों में दिल्ली के लोगों ने मिलकर डेंगू के ऊपर कंट्रोल किया. 2015 में 10,000 से ज्यादा डेंगू के मामले आए और 60 लोगों की मौत हुई लेकिन 2019 में एक भी मौत डेंगू की वजह से नहीं हुई और अब जब पूरा देश और दुनिया कोरोना की महामारी से जूझ रहे हैं, जून के महीने में लोग दिल्ली आने से घबरा रहे थे लेकिन लोगों ने अपनी सूझबूझ और मेहनत से दिल्ली के दो करोड़ लोगों ने इस पर कंट्रोल कर लिया. जो स्थिति 2 महीने पहले थी, आज वह स्थिति काफी कंट्रोल में आ चुकी है. लोगों के अंदर इसका डर काफी कम हुआ है.'

केजरीवाल ने कहा, 'आज पूरे देश में दिल्ली मॉडल की चर्चा हो रही है. दिल्ली मॉडल है कि सब लोगों को साथ लेकर सारी संस्थाओं को साथ लेकर सारी सरकारों को साथ लेकर और मिलकर एक साथ प्रयास का नतीजा है कि आज दिल्ली में स्थिति कंट्रोल में है. उन सभी लोगों को शुक्रिया जिन लोगों ने दिल्ली में स्थिति को कंट्रोल करने में सहयोग किया है. केंद्र सरकार का शुक्रिया करना चाहते हैं. सभी सामाजिक संस्थाओं का शुक्रिया. सभी धार्मिक संस्थानों का शुक्रिया. सभी डॉक्टर की एसोसिएशन और गैर सरकारी संस्थाओं का शुक्रिया करना चाहते हैं.'

दिल्ली : रेप और हमले की शिकार बच्ची के परिवार को 'आप' विधायक आतिशी ने सौंपा दस लाख का चेक

उन्होंने आगे कहा, 'मैं सभी कोरोना वॉरियर्स का शुक्रिया अदा करना चाहता हूं. कोरोना वॉरियर्स आज यहां आए हुए हैं इनके लिए तालियां. हमारे डॉक्टर, नर्स पैरामेडिकल स्टाफ, पुलिस वाले, सफाई वाले....आप सब लोगों को मेरा नमन, मेरा प्रणाम. हम लोगों ने देश को होम आइसोलेशन की पद्धति दी. हम लोगों ने तय किया कि जो कम गंभीर मरीज हैं उनका होम आइसोलेशन में इलाज होगा और जो गंभीर होंगे उनका अस्पताल में इलाज होगा. होम आइसोलेशन के मरीजों से लगातार एजेंसी संपर्क में रहती थी. होम आइसोलेशन के मरीजों को पल्स ऑक्सीमीटर दिया गया.'

केजरीवाल ने कहा, 'ऐसे मामले सामने आए हैं जो घर आने के बाद ऑक्सीजन डाउन होने के चलते गुजर गए. अगले हफ्ते से ऐसे लोगों के घर भी अब पल्स ऑक्सीमीटर भिजवाया जाएगा, यानी ठीक होने के बाद भी मरीजों को ऑक्सीजन की समस्या का पता चल सके, इसके लिए पल्स ऑक्सीमीटर दिया जाएगा. कोरोना मरीजों की सेवा करते करते अगर किसी की जिंदगी चली जाती है तो उसके परिवार को हमने एक करोड़ रुपये देने का ऐलान किया और दिया भी है. ऐसा नहीं है कि कोई एक करोड़ रुपए के लिए काम कर रहा हो.'

दिल्ली में नई Electrical Vehicle Policy लॉन्च, इलेक्ट्रिक गाड़ियां खरीदने पर सरकार देगी ये फायदे

उन्होंने आगे कहा, 'किसी जान की कोई कीमत नहीं हो सकती लेकिन एक करोड़ रुपये देने का जो कोरोना वॉरियर्स के अंदर संदेश गया, उनको लगा कि कोई सरकार तो है जो हमारा ख्याल रख रही है. दिल्ली ने पूरे देश को प्लाज्मा का कांसेप्ट दिया. दिल्ली पहला राज्य था जहां प्लाज्मा का ट्रायल हुआ और दिल्ली पहला राज्य था जहां प्लाज्मा बैंक बना. 750 से ज्यादा मरीज प्लाज्मा ले चुके हैं और उनकी जान बचाई जा चुकी है. इस समय हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती अर्थव्यवस्था की है.'

केजरीवाल ने कहा, 'अभी हमने जॉब पोर्टल लांच किया. इसमें नौकरी देने वाले भी आते हैं और नौकरी मांगने वाले भी. लोग लॉकडाउन की वजह से दिल्ली छोड़कर चले गए थे, फैक्ट्रियां बंद हो गई थीं, अब दोबारा खुली तो उनके पास काम करने वाले लोग नहीं थे. जिस दिन इस जॉब पोर्टल को शुरू किया तो उस वक्त मुझे लगा था कि अगर 10 से 15000 लोगों को भी नौकरी मिल जाएगी तो मैं बड़ा खुश होऊंगा. लाखों नौकरी इस पर रजिस्टर हो गए, नौकरी मांगने वाले रजिस्टर हो गए. करीब 10 लाख नौकरियां और करीब 8.5 लाख नौकरी मांगने वाले.'

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के चैम्बर की गिरी छत, उठने लगे सवाल

मुख्यमंत्री ने कहा, 'इतिहास में दिल्ली सरकार ऐसी पहली सरकार होगी, जिसने एक ही बार में 8 रुपये प्रति लीटर डीजल का रेट कम किया होगा. अगले हफ्ते मैं व्यापारियों के साथ चर्चा करूंगा और उनकी समस्याओं का समाधान करने की कोशिश करूंगा. दिल्ली सरकार का राजस्व और टैक्स कितना कम हो गया, उसके बावजूद हम लोगों ने इतना अच्छा टैक्स मैनेजमेंट करके आप लोगों की एक भी सब्सिडी कम नहीं की. मुफ्त बिजली, मुफ्त बस यात्रा, मुफ्त पानी सब योजनाएं जारी हैं.'

उन्होंने कहा, 'हमारे दिल्ली के बच्चों ने इतिहास के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए और सरकारी स्कूल के बच्चों के 98 फीसदी नतीजे आए. हम पहले सपने में भी नहीं सोच सकते थे. कमाल कर दिया हमारे दिल्ली के बच्चों ने, उन्होंने करके दिखा दिया कि असंभव कुछ भी नहीं है. बच्चों के पैरेंट्स के संदेश आ रहे हैं कि स्कूल मत खोल देना. मैं सब को आश्वस्त करना चाहता हूं कि आपके बच्चों की जितनी चिंता आपको है, उतनी हमको भी है. जब तक आपके बच्चों की सुरक्षा के प्रति आश्वस्त नहीं हो जाएंगे हम स्कूल नहीं खोलेंगे, आप चिंता मत कीजिए.'

Newsbeep

VIDEO: कोवैक्सीन पूरी तरह से भारतीय, शुरुआती ट्रायल में सुरक्षित पाई गई है : रणदीप गुलेरिया

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com