NDTV Khabar

दिल्ली : एलजी अनिल बैजल पर बरसे डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया

राजधानी में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की योजना को लेकर बैजल द्वारा एक कमेटी गठित करने पर सिसोदिया ने नाराजगी जताई

74 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली : एलजी अनिल बैजल पर बरसे डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने उप राज्यपाल अनिल बैजल पर सरकार के काम में अड़ंगे लगाने का आरोप लगाया है.

खास बातें

  1. कहा, दिल्ली सरकार को काम नहीं करने दिया जा रहा
  2. कमेटी को क्या पता लगेगा कि कहां कैमरा लगेगा?
  3. केजरीवाल सरकार की योजना सफल न होने देने की साजिश
नई दिल्ली: उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया आज उप राज्यपाल अनिज बैजल पर जमकर बरसे. राजधानी में आवासीय परिसरों और बाजारों में सीसीटीवी कैमरे लगाए जाने की योजना को लेकर बैजल द्वारा एक कमेटी गठित करने पर सिसोदिया ने नाराजगी जताई. उन्होंने आरोप दुहराया कि दिल्ली की आम आदमी पार्टी सरकार को काम नहीं करने दिया जा रहा है.

मनीष सिसोदिया ने कहा है कि दिल्ली में सीसीटीवी की तैयारी कर ली थी. बजट दे दिया गया, टेंडर हो गया, बस वर्क आर्डर देने की तैयारी थी. एनडीएमसी में लोकल रेजिडेंट मार्केट एसोसिएशन से बात भी हो गई. पुलिस से भी बातचीत हो गई.पूरी दिल्ली से रेजिडेंट वेलफेयर एसोसिएशनों (आरडब्लूए) की डिमांड आई है.मार्केट एसोसिएशन भी मांग कर रही है.इस मॉडल के तहत वर्क आर्डर देने को तैयारी थी.अब जब ये मौका सामने आ गया तो अब एलजी ने अचानक कमेटी बना डाली.कमेटी को क्या पता लगेगा कि कहां कैमरा लगेगा? आरडब्लूए और मार्केट एसोसिएशन सही बताएंगे कि कमेटी पीठ पीछे बनाई गई है. सीसीटीवी का काम ट्रांसपेरेंट सब्जेक्ट है. एसओपी के नाम पर एलजी ये काम कर रहे हैं.

यह भी पढ़ें : विनय बंसल की गिरफ्तारी पर ACB ने कहा, 46 प्रतिशत कम दामों पर ठेका दिया गया

सिसोदिया ने कहा कि केजरीवाल सरकार की योजना पर बस अमल न हो पाए,अब ये साजिश की गई है. बिना चुनी हुई सरकार के कमेटी बनाना असंवैधानिक है.एलजी के पास इसका कोई पावर नहीं है. क्राइम रुक नहीं रहा. एलजी हमारे काम को रोक रहे हैं. इसलिए एलजी को चिट्ठी लिखी है.एलजी अपने काम मे इंटरेस्ट लें. केजरीवाल भारत सरकार की psu है.

टिप्पणियां
VIDEO : राजनीतिक बदला लेने का आरोप

केजरीवाल के रिश्तेदार विनय बंसल की गिरफ्तारी के मामले में सिसोदिया ने कहा कि पिछले 3 साल में एलजी, केंद्र, एसीबी सिर्फ केजरीवाल, उनके रिश्तदारों, मंत्री, विधायकों को दुखी कर रहे हैं. पुलिस का इस्तेमाल सिर्फ एक ही काम के लिए हो रहा है. लेकिन कोर्ट में पुलिस को लताड़ लगेगी. एक स्वर्गीय व्यक्ति कई सालों से ठेकेदार है. सरकार बनने से पहले कॉन्ट्रैक्ट दिया गया. आईआईटी रुड़की ने रिपोर्ट दे दी. शिकायत के बाद एसीबी  श्रीराम लैब से भी वेरीफाई कर लेती है. ये पुरानी खबर है कुछ भी नहीं है.ये चैन का हिस्सा है कि सरकार को काम नहीं करने दिया जा रहा. विधायकों की गिरफ्तारी के बाद अब रिश्तदारों को गिरफ्तार कर रहे हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement