NDTV Khabar

दिल्ली में 22 अप्रैल को EVM से ही होंगे MCD चुनाव, मतगणना 25 को होगी, आचार संहिता लागू

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में 22 अप्रैल को EVM से ही होंगे MCD चुनाव, मतगणना 25 को होगी, आचार संहिता लागू

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आप पार्टी के संयोजक अरविंद केजरीवाल...

खास बातें

  1. नोटिफिकेशन 27 मार्च को होगा, 3 अप्रैल को नॉमिनेशन की अंतिम तारीख
  2. 8 अप्रैल नॉमिनेशन वापस लेने की तारीख, 25 को होगी काउंटिंग
  3. उम्मीदवारों को चुनाव में 5 लाख 75 हजार रुपए खर्च करने की सीमा है
नई दिल्ली:

दिल्ली में एमसीडी चुनाव की तारीखों का ऐलान हो गया है. 22 अप्रैल को मतदान होगा और 25 अप्रैल को मतगणना होगी. उधर, मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपनी सरकार के मुख्य सचिव को निर्देश दिए हैं कि ईवीएम की जगह बैलेट पेपर से एमसीडी चुनाव कराएं. दिल्ली के मुख्यमंत्री ने कहा कि पोलिटिकल पार्टियों की मांग है कि नगर निगम चुनाव EVM की जगह बैलट पेपर से कराए जाएं इसलिये आज शाम तक इसके लिए जो भी औपचारिकताएं हैं वो पूरी की जाएं और निगम चुनाव बैलट पेपर से कराये जाएं.' हालांकि चुनाव में मतदान ईवीएम से ही होगा.

तारीख का ऐलान होते ही अचार संहिता लागू हो गई है. नोटिफीकेशन 27 मार्च को होगा और 3 अप्रैल को नॉमिनेशन की अंतिम तारीख होगी. 8 अप्रैल नॉमिनेशन वापस लेने की तारीख है. 25 को मतगणना होगी. उम्मीदवारों को चुनाव में 5 लाख 75 हजार रुपए खर्च करने की सीमा है. 42 वार्ड उत्तर, 45 वार्ड दक्षिण, 27 वार्ड पूर्वी नगर निगम के महिलाओं के लिए आरक्षित होंगे. 1 करोड़ 32 लाख वोटर हैं. 14 हजार पोलिंग स्टेशन हैं. एक हजार पोलिंग स्टेशन पिछली बार से ज्यादा है. Evm मशीन पर उम्मीदवारों के फोटो भी लगे होंगे. EVM मशीन की पहले चरण की जांच हो चुकी है.

बता दें कि दिल्ली सरकार ही एमसीडी चुनाव कराती है. अब यह देखना होगा कि दिल्ली सरकार के इस आदेश पर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल क्या रुख अपनाते हैं.


उल्लेखनीय है कि पंजाब और गोवा में अपेक्षित सफलता ना मिलने के बाद आम आदमी पार्टी ने EVM यानी इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन पर संदेह ज़ाहिर करते हुए मांग की है कि आगामी दिल्ली नगर निगम चुनाव में बैलट पेपर से चुनाव कराये जाएं. आम आदमी पार्टी के वरिष्ठ नेता संजय सिंह ने कहा कि 'UP में भी नगर पालिका और नगर पंचायत के चुनाव बैलट पेपर से होते हैं, दिल्ली एमसीडी (MCD) के चुनाव भी बैलेट पेपर से कराये जा सकते हैं.' संजय सिंह ने कहा कि पंजाब चुनाव जीतने वाली कांग्रेस को भी ईवीएम (EVM) पर संदेह है, बसपा को भी संदेह है और दूसरी पार्टियों भी संदेह है यही नहीं बीजेपी जब तक विपक्ष में थी तब तक उसके नेता और समर्थक EVM पर सवाल उठाते थे तो ऐसे में बैलट पेपर से चुनाव कराने में क्या हर्ज है?

टिप्पणियां

दिल्ली में अप्रैल-मई के महीने में तीनों नगर निगम में चुनाव हो सकते हैं.

आपको बता दें कि पंजाब चुनाव में आम आदमी पार्टी को 117 में से 22 सीटें मिली जबकि गोवा में 40 सीटों में से एक भी सीट पर उसको जीत नहीं मिली और उसके सीएम उम्मीदवार तक चुनाव हार गए. जिसके दो दिन बाद आम आदमी पार्टी नेता EVM से होने वाले चुनाव पर सवाल उठा रहे हैं. हालाँकि इससे पहले बसपा प्रमुख मायावती ने शनिवार को EVM पर सवाल उठाकर दोबारा बैलट पेपर से चुनाव कराने की मांग की थी जिसको चुनाव आयोग ने खारिज कर दिया था. बता दें कि लालू प्रसाद यादव ने भी ईवीएम पर शक जताया है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

लोकसभा चुनाव 2019 के दौरान प्रत्येक संसदीय सीट से जुड़ी ताज़ातरीन ख़बरों (Election News in Hindi), LIVE अपडेट तथा इलेक्शन रिजल्ट (Election Results) के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement