NDTV Khabar

दिल्ली : कभी देखी है ऐसी बिल्डिंग? यहां जोखिम उठाकर रह रहे लोग

पांच मंजिला इमारत का सामने से तीन फ़ीट चौड़ी और आखिर में जाकर हो जाती है 21 फ़ीट चौड़ी, भवन में नहीं रहता उसका मालिक

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली : कभी देखी है ऐसी बिल्डिंग? यहां जोखिम उठाकर रह रहे लोग

खोड़ा कॉलोनी में स्थित विचित्र इमारत.

खास बातें

  1. खोड़ा कॉलोनी इलाके में बनी बिल्डिंग सबका ध्यान खींच रही
  2. खोड़ा कॉलोनी की करीब 5 लाख की आबादी
  3. किसी मकान का नक्शा पास नहीं, पूरी की पूरी कॉलोनी अवैध
गाजियाबाद: 'ये कैसी बिल्डिंग है?' ठीक यही शब्द आपके मुंह से निकलेंगे जब आप इस बिल्डिंग को देखेंगे. दिल्ली गाजियाबाद और नोएडा के बीचोंबीच खोड़ा कॉलोनी इलाके में बनी यह बिल्डिंग सबका ध्यान खींच रही है और सवाल उठ रहे हैं कि ऐसी बिल्डिंग का नक्शा कैसे पास हो गया?

एनडीटीवी इंडिया की टीम ने इस बिल्डिंग का मुआयना किया तो पता चला कि इस पांच मंजिला क़ुतुब मीनार टाइप इमारत का फ्रंट 3 फ़ीट चौड़ा है जबकि आखिर में 21 फ़ीट हो जाता है. इमारत में घुसने पर पता चलता है कि इमारत कुछ जर्जर हो रही है और इसमें सीलन भी दिखती है.

इस बिल्डिंग की पहली मंजिल पर रहने वाली पुष्प यादव ने बताया वो इस इमारत में किरायेदार हैं. इमारत किसी शर्मा जी की है जो यहां नहीं रहते. किराया करीब साढ़े 5 हज़ार रुपये. पुष्पा यादव ने बताया कि उनका त्रिकोणाकार में 2 कमरों का घर है जो जिसमें वो 5 साल से रह रही हैं जबकि इमारत करीब 8 साल पहले बनी होगी. पुष्पा यादव से जब पूछा गया कि इस अजीब से डिजाइन की इमारत में आप रहती हैं, अभी हाल में कुछ इमारतों के गिरने की खबर आई हैं, तो डर नहीं लगता क्या? तो पुष्पा ने कहा 'डर तो कुछ नहीं लगता भैया हमको.' पुष्पा को इस बात की जानकारी नहीं थी कि इस अजीब से डिज़ाइन वाली इमारत का नक्शा पास है या नहीं.

यह भी पढ़ें : गाज़ियाबाद: 5 मंजिला इमारत धाराशायी, मलबे से एक बच्‍चे का शव निकाला, अब तक 2 की मौत

एनडीटीवी इंडिया की टीम ने पड़ताल की तो पता चला कि खोड़ा कॉलोनी की करीब 5 लाख की आबादी है जिसमे सबसे बड़ा हिस्सा किरायेदारों का है. यहां करीब 45 हज़ार मकान बने हैं. लेकिन सरकारी निकम्मापन उदासीनता और भू-माफियाओं की सक्रियता का नतीजा ये कि किसी एक मकान का भी नक्शा पास नहीं है. यानी ये पूरी की पूरी कॉलोनी अवैध है, किसी एक बिल्डिंग की क्या बात की जाए.

यह भी पढ़ें : ग्रेटर नोएडा : 'गृह प्रवेश' के तीन दिन बाद ही ढह गया आशियाना

खोड़ा कॉलोनी दो साल पहले ही अलग नगरपालिका बनी है. नगरपालिका के मुताबिक इलाके में ऐसी बिल्डिंग की पहचान करके सील किया जाएगा. नगरपालिका परिषद खोड़ा मकनपुर के अधिशासी अशिकारी कृष्ण कुमार भड़ाना ने कहा कि 'अभी हमारी जो इंजीनियरिंग टीम है वो लगी हुई है. उसके मुताबिक 15 मकानों को चिन्हित  किया गया है जो ज़्यादा खतरनाक स्थिति में हैं. उसको हम एक दो दिन में सील करने की कार्रवाई करेंगे.'

टिप्पणियां
VIDEO : ध्यान खींचने वाला भवन

प्रशासन की कार्रवाई से ऐसी मनमानी इमारत बनाने वालों  पर कितना असर पड़ेगा ये साफ़ नहीं लेकिन किरायेदार अचानक बेघर हो जाएंगे ये तय है. देरी से कार्रवाई का यही अंजाम गरीब लोग भुगतते हैं.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement