NDTV Khabar

दिल्ली पुलिस के सिपाहियों का घूसकांड : हाईकोर्ट ने कहा- यह आश्चर्यजनक है कि 10 सालों से आरोप पत्र दायर नहीं किया गया

इस स्टिंग ऑपरेशन में कई ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को ब्लूलाइन बस ऑपरेटरों से कथित तौर पर घूस लेते हुए दिखाया गया है.

94 Shares
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली पुलिस के सिपाहियों का घूसकांड : हाईकोर्ट ने कहा- यह आश्चर्यजनक है कि 10 सालों से आरोप पत्र दायर नहीं किया गया

दिल्ली पुलिस के सिपाहियों का हुआ था स्टिंग ऑपरेशन

नई दिल्ली: दिल्ली हाईकोर्ट ने एक 'स्टिंग ऑपरेशन' की जांच पूरी करने में विफल रहने पर पुलिस की खिंचाई की है. इस स्टिंग ऑपरेशन में कई ट्रैफिक पुलिसकर्मियों को ब्लूलाइन बस ऑपरेटरों से कथित तौर पर घूस लेते हुए दिखाया गया है. कार्यवाहक मुख्य न्यायाधीश गीता मित्तल और न्यायमूर्ति सी हरि शंकर की पीठ ने यह भी कहा कि उसके निर्देश के बावजूद ‘‘सावधानीपूर्वक और समयबद्ध’’जांच आगे नहीं बढ़ाई गई.

दिल्ली हाईकोर्ट से केंद्र ने कहा- गरीबी की वजह से भीख मांगना अपराध नहीं

पीठ ने कहा, ‘‘आरोपपत्र वर्ष 2008 में तैयार किया गया था और अभी तक आपने (दिल्ली पुलिस) विस्तृत रिपोर्ट नहीं दायर की.’’अदालत ने जांच अधिकारियों के वकीलों से पूछा कि, ‘‘इन सभी वर्षों में उन्होंने क्या किया.’’ पीठ ने कहा, ‘‘यह आश्चर्यजनक है कि दस वर्षों में आपने आरोप पत्र दायर नहीं किया.’’ अदालत ने मामले से संबंधित फॉरेंसिक रिपोर्ट लेने में देरी पर भी चिंता जताई.

वीडियो : करोलबाग से नहीं हटेंगे 108 फुट के हनुमान

अदालत ने मामले की अगली सुनवाई के लिए 11 दिसंबर की तारीख तय की है. अदालत ने उस दिन सीबीआई को मौजूद रहने के लिए भी कहा है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement