NDTV Khabar

दिल्ली में कांवड़ियों का तांडव; कार के परखच्चे उड़ाए, चालक महिला ने भागकर जान बचाई

कार एक कांवड़ से हल्की सी टकराने के बाद कांवड़ियों के समूह ने लाठियों और बेसबॉल बैट से किया हमला

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली में कांवड़ियों का तांडव; कार के परखच्चे उड़ाए, चालक महिला ने भागकर जान बचाई

दिल्ली में कांवड़ियों के समूह ने कार को तोड़ डाला.

खास बातें

  1. दिल्ली के मोतीनगर में हुई घटना
  2. वारदात के दौरान पुलिस बनी रही तमाशबीन
  3. महिला और उसके साथी ने मेट्रो स्टेशन में घुसकर जान बचाई
नई दिल्ली: दिल्ली के मोतीनगर में मंगलवार को कांवड़ियों ने छोटी सी बात पर भारी उपद्रव किया. उन्होंने एक कार को लाठियों से वार करके तोड़ डाला. कार की मालकिन ने मेट्रो स्टेशन में छिपकर जान बचाई. इस वारदात का वीडियो वायरल हुआ जिसमें दिल्ली में जंगलराज जैसे हालात दिख रहे हैं.

लाल चोला पहनकर खुद को शिवभक्त बताने वाले गुंडों की करतूत वीडियो में दिखाई दे रही है. वे बेख़ौफ होकर लाठियों और बेसबॉल बैट से एक कार पर तब तक वार करते हैं, जब तक कि उसके परखच्चे नहीं उड़ जाते. उपद्रव के दौरान एक पीसीआर भी पहुंची, जिसके दो पुलिसकर्मी भी सामने खड़े दिख रहे हैं लेकिन उन्हें कोई फर्क नहीं पड़ा. कावड़िया कार पर लाठियां बरसा रहे थे और पुलिस कर्मी तमाशबीन बने हुए थे.  

बताया जाता है कि पीड़ित महिला अपनी आई10 कार में एक शख्स के साथ कहीं जा रही थीं. इसी दौरान उनकी कार एक कांवड़ से हल्की सी टकरा गई और फिर फिर सैकड़ों लोगों की भीड़ के सामने यह तांडव शुरू हो गया. यह घटना मंगलवार की शाम को हुई. चश्मदीदों के मुताबिक कार में मौजूद महिला जान बचाने के लिए अपने साथी के साथ मेट्रो स्टेशन में घुस गई. तोड़फोड़ करने के बाद कांवड़िए आराम से चले गए.
  पुलिस ने इस वारदात के बाद कावड़ियों के लिए सड़क पर अलग लेन बनाई लेकिन कोई नियम मानने को तैयार नहीं है. कई कावड़ियों से हमने बात की. कुछ कावड़ियों ने कहा कि जो हुआ, गलत हुआ. तो कुछ ने कहा जो हमसे टकराएगा वह चूर-चूर हो जाएगा. जब हमने पूछा कि ये यह लाठी और बेसबॉल बैट लेकर क्यों चलते हो? तो कुछ लोगों ने कहा कि ये उनकी सुरक्षा और सहारे के लिए है. वहीं कुछ ने कहा कि जब कोई झगड़ा होता है तो इसका प्रयोग कर लेते हैं.

यह भी पढ़ें : कांवड़ यात्रा में लौटे 'गोल्डन बाबा', बदन पर सोना भी बढ़ा, इतने किलो सोना पहनकर चढ़ाएंगे जल

टिप्पणियां
इस घटना के बाद पीड़ित महिला इतनी डर गई कि उसने अब तक कोई शिकायत नहीं की है और न ही वह मीडिया से बात करने को तैयार हुई. पुलिस ने खुद संज्ञान लेकर अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है.

पश्चिमी दिल्ली के डीसीपी विजय कुमार के मुताबिक जैसे ही पीसीआर कॉल हुई, सबसे पहले पीसीआर की गाड़ियां पहुंचीं. वहां तीन पुलिसकर्मी थे और उपद्रव करने वाले बड़ी संख्या में थे. मौके पर उन्हें जो लगा, उन्होंने किया. बाद में कई पुलिस अधिकारी भी पहुंच गए, तब तक कांवड़िये वहां से भाग गए थे. चश्मदीदों ने बताया कि महिला की कार किसी कांवड़िये को छू गई थी जिसके बाद झगड़ा शुरू हो गया और फिर कार सवार महिला ने एक कांवड़िये को टक्कर मार दी. फिर कावड़ियों ने तोड़फोड़ शुरू कर दी. अब पुलिस आरोपियों की तलाश कर रही है.


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और गूगल प्लस पर ज्वॉइन करें, ट्विटर पर फॉलो करे...

Advertisement