Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com
NDTV Khabar

एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन से सफर करने वाले यात्रियों के लिए गुड न्यूज, DMRC ने शुरू की फ्री वाईफाई सेवा

अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र के किसी देश में शुरू की गई यह इस तरह की पहली सुविधा है. उन्होंने बताया कि दिल्ली मेट्रो की 22.7 किलोमीटर लंबी इस लाइन पर छह मेट्रो स्टेशन हैं और इस कोरिडोर पर आठ ट्रेनें चलती हैं.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन से सफर करने वाले यात्रियों के लिए गुड न्यूज, DMRC ने शुरू की फ्री वाईफाई सेवा

DMRC के अनुसार यह पहला मौका है जब वाईफाई सुविधा दक्षिण एशिया में भूमिगत मेट्रो में मुहैया कराई जा रही है.

खास बातें

  1. डीएमआरसी ने गुरुवार को शुरू की फ्री वाईफाई सेवा
  2. 1 साल के अंदर ब्लू, यैलो और रेड लाइन पर भी शुरू की जाएगी सेवा
  3. यात्री चलती ट्रेन में इस वाईफाई सुविधा का इस्तेमाल कर सकेंगे
नई दिल्ली:

दिल्ली मेट्रो (Delhi Metro) ने गुरुवार को एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन (Airport Express Line) पर ट्रेन कोचों के भीतर उच्च गति वाली निशुल्क वाईफाई सेवा शुरू की है. अधिकारियों ने बताया कि दक्षिण एशियाई क्षेत्र के किसी देश में शुरू की गई यह इस तरह की पहली सुविधा है. उन्होंने बताया कि दिल्ली मेट्रो की 22.7 किलोमीटर लंबी इस लाइन पर छह मेट्रो स्टेशन हैं और इस कॉरिडोर पर आठ ट्रेनें चलती हैं. दिल्ली मेट्रो रेल कार्पोरेशन (DMRC) प्रमुख मंगू सिंह ने एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन पर इस सुविधा की शुरुआत एक चलती ट्रेन में की.

यह भी पढ़ें: DMRC की शानदार पहल, दिल्ली के इन दो मेट्रो स्टेशनों पर किराये पर मिलेगी इलेक्ट्रिक साइकिल

अधिकारियों ने बताया कि डीएमआरसी की योजना इस सेवा को लाइन एक से छह तक बढ़ाने की है. उन्होंने बताया कि ब्लू लाइन और एयरपोर्ट एक्सप्रेस लाइन के प्लेटफॉर्मों पर वाईफाई सेवा पहले से उपलब्ध है. सेवा की शुरुआत होने के बाद डीएमआरसी के कॉर्पोरेट संचार के कार्यकारी निदेशक अनुज दयाल ने कहा कि मौजूदा समय में भूमिगत मेट्रो ट्रेनों में वाईफाई सुविधा रूस, दक्षिण कोरिया और चीन में उपलब्ध है. डीएमआरसी के अनुसार यह पहली बार हुआ है कि वाईफाई सुविधा दक्षिण एशिया में भूमिगत मेट्रो स्टेशन में मुहैया करायी जा रही है.


टिप्पणियां

अनुज दयाल ने कहा कि यह सेवा रेड लाइन, येलो लाइन, ब्लू लाइन, ग्रीन लाइन और वॉयलेट लाइन पर भी शुरू करने की योजना है और इसमें एक साल का समय लगेगा. इसके बाद प्रदर्शन को देखते हुए इसे पिंक लाइन, मैंजेटा लाइन, ग्रे लाइन पर भी विस्तारित करने के बारे में विचार किया जाएगा. इस सेवा का इस्तेमाल करने के लिए किसी भी यात्री को 'मेट्रोवाईफाई फ्री' नेटवर्क पर लॉग इन करना होगा. इसके बाद उसे अपना फोन नंबर डालना होगा जिस पर एक ओटीपी आएगा। इसके बाद जैसे ही लॉगइन पूरा होगा, यात्री इस सेवा का लाभ ले सकेंगे.

यह वाईफाई परियोजना मेक्सिमा डिजिटल प्राइवेट लिमिटेड, टेक्नोसेट इंडिया प्राइवेट लिमिटेड और साईफाई टेक्नोलोजी के एक कांन्सोर्टिम द्वारा लागू की गई है. अधिकारियों ने बताया कि प्रत्येक ट्रेन (चालक कार) में रेडियोस से लैस होगा जो ट्रैकसाइड नेटवर्क (टीएसएन) से जुड़ेगा और ट्रेन के प्रत्येक कोच में वायरलेस एक्सेस प्वाइंट होगा जिससे यात्री वाईफाई हासिल कर सकेंगे.



(इस खबर को एनडीटीवी टीम ने संपादित नहीं किया है. यह सिंडीकेट फीड से सीधे प्रकाशित की गई है।)


Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... जन्म के बाद डॉक्टर ने मारा तो गुस्से से देखने लगी बच्ची, सोशल मीडिया पर हुई Memes की बरसात

Advertisement