NDTV Khabar

दिल्ली: करोल बाग होटल मालिक का बीजेपी से कनेक्शन इसलिए नहीं हुआ गिरफ्तार, सत्येंद्र जैन ने लगाया आरोप

दिल्ली के करोल बाग स्थित होटल में लगी आग के बाद अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. जिसको लेकर आम आदमी पार्टी ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली: करोल बाग होटल मालिक का बीजेपी से कनेक्शन इसलिए नहीं हुआ गिरफ्तार, सत्येंद्र जैन ने लगाया आरोप

होटल आग हादसे में 17 लोगों की हुई थी मौत

नई दिल्ली:

दिल्ली के करोल बाग स्थित होटल में लगी आग के बाद अब तक कोई गिरफ्तारी नहीं हुई है. जिसको लेकर आम आदमी पार्टी ने आक्रामक रुख अख्तियार कर लिया है. दिल्ली सरकार के मंत्री सत्येंद्र जैन ने इसके पीछे बीजेपी कनेक्शन की तरफ इशारा किया है. मीडिया से बात करते हुए सत्येंद्र जैन ने कहा कि जिस हादसे में 17 लोगों की मौत हो गई थी. उसमें अब तक किसी की गिरफ्तारी नहीं हुई है ये हैरानी की बात है. उन्होंने कहा कि ऐसा लगता है कि होटल मालिक का संबंध किसी राजनीतिक दल से है. जैन ने आशंका व्यक्त करते हुए कहा कि शायद वह बीजेपी से ताल्लुक रखते हैं, इसी वजह से अब तक गिरफ्तारी नहीं हुई. 

दिल्ली : करोल बाग के अर्पित पैलेस होटल के मालिक की तलाश में जुटी पुलिस


नियमों को ताक पर रखकर सालों से चल रहा था होटल, निगम की लापरवाही ने लील ली 17 जिंदगियां

बता दें कि 12 फरवरी (मंगलवार) को करोलबाग में ‘अर्पित पैलेस' होटल की पहली मंजिल पर आग सुबह साढ़े तीन बजे लगी थी. होटल में कई लोग उस समय गहरी नींद में थे जिस कारण वे फंस गए. बच्चे और इमारत से कूदने वाले दो लोगों की पहचान अब तक नहीं हो पाई है. निकाय अधिकारियों ने कहा कि शुरुआती जांच में ऐसा लगता है कि आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी. अधिकारियों ने बताया कि 45 कमरों के इस सस्ते होटल में हादसे के समय 53 लोग थे. उसकी छत पर एक छतरी सी लगी थी जिससे प्रतीत होता है कि वहां रेस्तरां था. एक चश्मदीद द्वारा बनाये गये वीडियो में छत से आग की लपटें उठती हुई नजर आ रही थी. 

दिल्ली-एनसीआर में साल दर साल लगती रही आग और स्वाहा होते रहे शासन-प्रशासन के दावे, ये घटनाएं हैं सबूत

टिप्पणियां

दिल्ली सरकार ने मामले में मजिस्ट्रेट जांच के आदेश दे दिए हैं. दिल्ली के गृह मंत्री सत्येंद्र जैन ने कहा कि उन्होंने दमकल विभाग से पांच या उससे अधिक मंजिला इमारतों का निरीक्षण करने और एक सप्ताह के भीतर उनके अग्नि सुरक्षा अनुपालन पर एक रिपोर्ट देने को कहा है.उन्होंने कहा कि 17 लोगों की जान चली गई है, जिनमें से अधिकतर लोगों की दम घुटने से मौत हुई है. (होटल प्रबंधन की तरफ से) खामियां नजर आ रही हैं. दोषियों के खिलाफ जल्द कार्रवाई की जाएगी. इस होटल को अक्टूबर 2005 में लाइसेंस दिया गया और हर साल इसका नवीनीकरण हो रहा था. पिछली बार लाइसेंस का नवीनीकरण 25 मई 2018 को किया गया था जो इस साल 31 मार्च तक मान्य है.     

 



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement