दिल्ली : और खराब हुई हवा की क्वालिटी

हवा में पीएम-2.5 व पीएम-10 का स्तर बढ़ना जारी है, लेकिन केंद्र व दिल्ली सरकार दोनों का दावा है कि दोपहर बाद हवा की गुणवत्ता में आंशिक रूप से सुधार हुआ, जिससे राहत मिली.

दिल्ली : और खराब हुई हवा की क्वालिटी

प्रतीकात्मक फोटो

नई दिल्ली:

दिल्ली व एनसीआर में हवा की गुणवत्ता सोमवार शाम 'सीवियर प्लस' या 'इमरजेंसी' श्रेणी में लौट आई. इसके मद्देनजर निगरानी एजेंसियों ने अगले कुछ घंटों में हवा में विषाक्तता बढ़ने का अनुमान लगाया है. हवा में पीएम-2.5 व पीएम-10 का स्तर बढ़ना जारी है, लेकिन केंद्र व दिल्ली सरकार दोनों का दावा है कि दोपहर बाद हवा की गुणवत्ता में आंशिक रूप से सुधार हुआ, जिससे राहत मिली.

दिल्ली में औसत वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) सोमवार शाम चार बजे 463 के साथ 460 यूनिट पर पीएम-2.5 रिकॉर्ड किया गया. पूरे दिल्ली व एनसीआर के लिए औसत 455 यूनिट था, यह 452 यूनिट पर पीएम-2.5 था.

यह भी पढ़ें : दिल्ली में धुंध का प्रकोप जारी, दो दिन बाद हो सकती है हल्की बारिश

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

अंतरराष्ट्रीय स्वीकृत सीमा पीएम-2.5 के लिए 25 यूनिट (माइक्रोग्राम प्रति धन मीटर) की है. पीएम-2.5 का मतलब है कि हवा में 2.5-मीमी से कम व्यास वाले कण हैं. पूरे एनसीआर में गाजियाबाद सबसे ज्यादा प्रदूषित शहर रहा, जहां चार बजे पीएम-2.5, 848 यूनिट पर रहा. यह सुरक्षित सीमा से 33 गुना रहा.

VIDEO: दिल्ली में प्रदूषण का प्रकोप

द सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड वेदर फोरकास्टिंग एंड रिसर्च (सफर) ने कहा कि मौसम कारकों की वजह से दिल्ली की हवा में प्रदूषण का स्तर बढ़ा हुआ दिख सकता है, इसकी स्पष्ट तस्वीर मंगलवार को उभरकर सामने आएगी.