Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com

दिल्ली में टैरिफ घटा लेकिन बिजली का बिल बढ़ेगा, जानिए क्यों?

200 यूनिट तक बिजली का उपयोग करने वाले उपभोक्ताओं का बिल करीब 440 रुपये से बढ़कर 550 हो जाएगा

दिल्ली में टैरिफ घटा लेकिन बिजली का बिल बढ़ेगा, जानिए क्यों?

प्रतीकात्मक फोटो.

खास बातें

  • 2 केवी का 125 रुपये प्रति लोड के हिसाब से 250 रुपए ज्यादा देना पड़ेगा
  • 400 यूनिट तक का बिल 1120 से बढ़कर करीब 1420 रुपये होने का अनुमान
  • दिल्ली सरकार का दावा- बिजली कंपनियों की लगातार मॉनिटरिंग से घटी दर
नई दिल्ली:

डीईआरसी ने बुधवार को बिजली के हर स्लैब के दाम घटाकर वाहवाही बटोरने की कोशिश की. दिल्ली सरकार ने भी  बिजली के दाम घटाने के शानदार आंकड़े पेश करते हुए खूब अपनी पीठ थपथपाई. लेकिन जानकार कहते हैं कि दिल्ली वालों को इस गर्मी में बिजली के बिल का भुगतान ज्यादा करना पड़ेगा.

बिजली के दामों पर काम करने वाली यूआरडी संस्था के संयोजक सौरभ गांधी इसके पीछे तर्क देते हैं कि दिल्ली में 26 लाख बिजली के उपभोक्ता 200 यूनिट तक बिजली की खपत करके सरकार की सब्सडी का फायदा उठाते हैं. उनका बिल हर महीने अब तक करीब 440 रुपये आता था. यह अब बढ़कर 550 हो जाएगा. यानि कि बिल में 110 रुपये की वृद्धि होगी.

यह भी पढ़ें : दिल्लीवालों को राहत, बिजली हुई सस्ती, लेकिन फिक्स चार्जेस बढ़ाए गए

पहले 200 यूनिट तक बिजली 4 रुपये प्रति यूनिट मिलती थी. लेकिन फिक्स चार्ज 20 रुपये था. अब 200 यूनिट वालों को 3 रुपये यूनिट मिलेगी लेकिन फिक्स चार्ज 125 रुपए हो गया है. 200 यूनिट तक खर्च करने वालों का दो किलोवाट लोड रहता है इसके चलते उन्हें 125 रुपये प्रति लोड के हिसाब से 250 रुपए ज्यादा देना पड़ेगा.

VIDEO : बिजली सस्ती करने की मांग

इसी तरह 19 लाख उपभोक्ताओं की बिजली खपत 200 से 400 यूनिट के बीच है. इनका बिल पहले करीब 1120 रुपये आता था जो अब बढ़कर  करीब 1420 रुपये होने का अनुमान है. हालांकि दिल्ली सरकार का कहना है  कि बिजली कंपनियों की लगातार मॉनिटरिंग करने के चलते ही पहली बार बिजली के टैरिफ घटे हैं. वह जानकारों के इस दावे को खारिज करती है कि बिजली के बिल बढ़ेंगे.