लॉकडाउन को लेकर दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल की बदसलूकी का वीडियो वायरल, सस्पेंड

कोरोना वायरस (Coronavirus) को खत्म करने के लिए देश में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की गई है. लॉकडाउन का पालन कराने के लिए कई जगहों पर पुलिस बेहद सख्ती से पेश आ रही है.

लॉकडाउन को लेकर दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल की बदसलूकी का वीडियो वायरल, सस्पेंड

आरोपी कांस्टेबल राजबीर को सस्पेंड कर दिया गया है.

खास बातें

  • दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल का वीडियो वायरल
  • वीडियो सामने आने के बाद किया गया निलंबित
  • लॉकडाउन का सख्ती से पालन करवा रही पुलिस
नई दिल्ली:

कोरोना वायरस (Coronavirus) को खत्म करने के लिए देश में लॉकडाउन (Lockdown) की घोषणा की गई है. लॉकडाउन का पालन कराने के लिए कई जगहों पर पुलिस बेहद सख्ती से पेश आ रही है. कई राज्यों में पुलिस के मनमानी करने और बर्बरता से पिटाई करने की घटनाएं सामने आ चुकी हैं. ऐसा ही एक अमानवीय चेहरा दिल्ली पुलिस (Delhi Police) का भी उजागर हुआ है. एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है, जिसमें हाथ में लाठी लिए बिना वर्दी में एक शख्स सब्जी के ठेलों को पलट रहा है. आरोपी का नाम राजबीर है और वह दिल्ली पुलिस में कांस्टेबल है. वीडियो वायरल होने के बाद राजबीर को सस्पेंड कर दिया गया है.

घटना दिल्ली के रंजीत नगर इलाके की है. मिली जानकारी के अनुसार, बुधवार को राजबीर लॉकडाउन का पालन कराने के लिए बिना वर्दी के ही सड़कों पर निकल गया. जिसके बाद उसने अपना सारा रौब गरीब सब्जी बेचने वालों पर निकाल दिया. दो जून की रोटी का बंदोबस्त करने और जनता को सब्जी मुहैया कराने वाले विक्रेता राजबीर से बख्श देने की गुहार लगाते रहे लेकिन उसने उनकी एक न सुनी. राजबीर ने बड़ी बेरहमी से सब्जी से लदे सभी ठेलों को पलट दिया. इस घटना को वहां पर मौजूद किसी शख्स ने अपने मोबाइल फोन में कैद कर लिया.

गुरुवार को घटना का वीडियो दिल्ली पुलिस के वरिष्ठ अधिकारियों के पास पहुंचा. जिसके बाद राजबीर को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया. बताते चलें कि लॉकडाउन के दौरान सब्जियों को आवश्कीय चीजों के अंतर्गत रखा गया है लेकिन दिल्ली ही नहीं बल्कि कई राज्यों में सब्जी बेचने वाले लोगों को बेवजह निशाना बनाया जा रहा है. गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के बदायूं में पुलिस द्वारा कुछ युवकों के साथ बदसलूकी का एक वीडियो सामने आया था, जिसका संज्ञान लेते हुए वरिष्ठ अधिकारी ने शर्मिंदगी जताते हुए माफी मांगी थी.

गाजियाबाद में ऑनलाइन डिलीवरी वालों को सामान सप्लाई करने के लिए दी गई छूट

वीडियो में पुलिसकर्मियों द्वारा कुछ युवकों को पीठ पर बैग बांधे सड़क-सड़क पर बैठ-बैठकर चलने के लिए मजबूर किया गया था. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, वीडियो में जो युवक दिख रहे हैं वह मजदूर हैं और लॉकडाउन के बीच अपने घर लौट रहे हैं. कोई यातायात साधन न होने के कारण वह पैदल ही घर पहुंचने के लिए निकले हैं और रास्ते में पुलिस उन्हें पकड़ लेती है. पुलिस उनकी दलील सुनने की जगह उनको दंडित करती है और गर्मी में सड़क पर रेंगने को मजबूर करती है. 

जमाखोरी न करें, दुकानदारों के अधिक पैसे लेने पर रिपोर्ट करें : दिल्ली सरकार

बदायूं पुलिस प्रमुख ए.के. त्रिपाठी ने इस मामले में कहा था, 'वीडियो में जो पुलिसकर्मी दिख रहा है वह एक प्रोबेश्नर है जिसको सालभर का तजुर्बा है. सीनियर अफसर मौजूद थे लेकिन कुछ और काम देख रहे थे. मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी. मैं इसके लिए माफी मांगता हूं और जो हुआ उसके लिए शर्मिंदा हूं.'

Newsbeep

VIDEO: कर्नाटक में आम से लेकर खास तक नहीं मान रहे हैं लॉकडाउन

Listen to the latest songs, only on JioSaavn.com