NDTV Khabar

दिल्ली : लापता ICAS अधिकारी जितेंद्र कुमार झा का शव रेलवे ट्रैक पर मिलने का पुलिस ने किया दावा, परिवार ने किया इनकार

पालम विहार में शव के पास से पुलिस को सुसाइड नोट मिला, जितेंद्र कुमार झा सोमवार को सुबह सैर के लिए निकले थे लेकिन फिर नहीं लौटे

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली : लापता ICAS अधिकारी जितेंद्र कुमार झा का शव रेलवे ट्रैक पर मिलने का पुलिस ने किया दावा, परिवार ने किया इनकार

सोमवार से लापता आईसीएएस अधिकारी जितेंद्र कुमार झा का शव रेलवे ट्रैक पर मिला है (फाइल फोटो).

खास बातें

  1. मानव संसाधन विकास मंत्रालय में पदस्थ थे झा
  2. शुरुआती जांच में यह खुदकुशी का मामला
  3. जितेंद्र की पत्नी के मुताबिक वे काफी समय से परेशान थे
नई दिल्ली:

राजधानी दिल्ली के द्वारका इलाके से सोमवार की सुबह से लापता हुए इंडियन सिविल एकॉउंट्स सर्विसेज के अधिकारी जितेंद्र कुमार झा के मामले में एक नया मोड़ आ गया. दिल्ली पुुलिस को पालम विहाप रेलवे ट्रैक से एक शव मिला है जिसके बारे में शुरू में दावा किया जा रहा था कि यह जितेंद्र कुमार झा का ही शव है लेकिन परिवार का कहना है कि यह जितेंद्र का शव नहीं है. पुलिस के मुताबिक शव के पास से सुसाइड नोट भी मिला है. वहीं परिवार का कहना है कि पुलिस ने अभी तक उनको सुसाइड नोट के बारे मेें नहीं बताया है. पुलिस का दावा है कि शुरुआती जांच में यह खुदकुशी नजर आ रही है.

यह भी पढ़ें : बाराबंकी से एमपी प्रियंका सिंह रावत पर ट्रेनी IAS को धमकी देने का आरोप, कहा- जीना मुश्किल कर दूंगी


आपको बता दें कि द्वारका इलाके से केंद्र सरकार के इंडियन सिविल एकॉउंट्स सर्विसेज के अधिकारी जितेंद्र कुमार झा संदिग्ध हालात में सोमवार की सुबह अचानक लापता हो गए थे.  वे सुबह अपने घर से सैर के लिए निकले थे, लेकिन उसके बाद घर नहीं लौटे. इस दौरान उनका मोबाइल फोन भी घर पर ही था. वे एचआरडी मंत्रालय में तैनात थे और इन दिनों इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ पब्लिक एडमिनिस्ट्रेशन से ट्रेनिंग भी कर रहे थे.

दिल्ली के खान मार्केट में बम ब्लास्ट की धमकी, पुलिस ने शुरू किया तलाशी अभियान

जितेंद्र कुमार झा की पत्नी के मुताबिक सोमवार की सुबह करीब साढ़े नौ बजे वे घर से निकले थे. काफी समय गुजरने के बाद जब उनका कोई पता नहीं चला तो रात में थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई गई. उनके मुताबिक, जितेंद्र काफी समय से परेशान चल रहे थे. डिपार्टमेंट से अमूमन 5-6 महीने में उनका ट्रांसफर कर दिया जाता था. इससे पहले वे सूचना और प्रसारण मंत्रालय में थे. बाद में उनका ट्रांसफर एचआरडी मंत्रलाय में कर दिया गया था. उन्होंने यह भी कहा कि इस दौरान उनकी काफी लोगों से दुश्मनी भी हो गई थी.

टिप्पणियां

VIDEO : अचानक लापता हुए अधिकारी


जितेन्द्र के लापता होने के बाद उनकी पत्नी ने आसपास के इलाके में सीसीटीवी फुटेज चेक किए थे. उसमें वे जाते हुए दिखे थे. सोसाइटी से बाहर निकलते हुए करीब साढ़े 9 बजे वे सीसीटीवी में नजर आए.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


 Share
(यह भी पढ़ें)... IND vs NZ: रोहित शर्मा ने बाउंड्री पर लिया हैरतअंगेज कैच, देखता रह गया बल्लेबाज, देखें पूरा Video

Advertisement