NDTV Khabar

दिल्ली के करोल बाग में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, एक आरोपी गिरफ्तार

पुलिस के अनुसार पकड़ा गया आरोपी उस्मानपुर थाने का घोषित बदमाश है और पुलिस को उसकी कई मामलों में तलाश थी.

 Share
ईमेल करें
टिप्पणियां
दिल्ली के करोल बाग में पुलिस और बदमाशों के बीच मुठभेड़, एक आरोपी गिरफ्तार

प्रतीकात्मक चित्र

नई दिल्ली:

दिल्ली पुलिस बीते कुछ समय से एक्शन मोड में दिख रही है. यही वजह है कि बीते एक सप्ताह में अपराधियों पर लगाम लगाने के लिए ताबड़-तोड़ एनकाउंटर किए जा रहे हैं. शनिवार की सुबह दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और अपराधियों के बीच करोल बाग इलाके में मुठभेड़ हुई. इस मुठभेड़ में एक बदमाश को गोली भी लगी जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया. पुलिस के अनुसार पकड़ा गया आरोपी उस्मानपुर थाने का घोषित बदमाश है और पुलिस को उसकी कई मामलों में तलाश थी. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि बीती रात उनकी टीम को सूचना मिली थी कि आरोपी करोलबाग आने वाला है. इसके बाद पुलिस की टीम ने बताए गए जगह पर आरोपी की घेराबंदी की और उसे सरेंडर करने का मौका दिया. लेकिन आरोपी ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी. इसके जवाब में पुलिस टीम ने भी फायरिंग की. जिसमें आरोपी घायल हो गया. पुलिस ने घायल बदमाश को पास के अस्पताल में भर्ती करा दिया है जहां उसका इलाज चल रहा है. 

दिल्ली में एक ही समय में अलग-अलग स्थानों पर दो एनकाउंटर, दो बदमाश घायल


गौरतलब है कि दिल्ली के पॉश कॉलोनी में शुक्रवार सुबह पुलिस और बदमाशों के बीच एक ऐसी ही मुठभेड़ हुई थी. इस मुठभेड़ में दोनों तरफ से कई राउंड गोलियां चली. पुलिस की तरफ से हुई फायरिंग में एक लाख का इनामी बदमाश इकबाल को पैर में गोली लगी थी, जिसे बाद में गिरफ्तार कर लिया गया था. घटना दक्षिणी दिल्ली के अमर कॉलोनी की थी. बता दें कि यह पूरा ऑपरेशन दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच और स्पेशल ब्रांच ने मिलकर किया था. पुलिस को सूचना मिली थी कि इकबाल अपने कुछ साथियों के साथ इलाके में आने वाला है. इसके बाद स्पेशल ब्रांच के इंस्पेक्टर राजेंद्र पहलवान की देखरेख में विशेष टीम ने बताई जगह की घेराबंदी शुरू की और बदमाशों को सरेंडर करने को कहा था लेकिन बदमाशों ने पुलिस टीम पर फायरिंग शुरू कर दी थी. इसके जवाब में पुलिस की तरफ से फायरिंग की गई. 

कनॉट प्लेस में एयरफोर्स के वरिष्ठ अधिकारी का मोबाइल छीन ले गए बदमाश

पुलिस की फायरिंग में इकबाल के पैर में गोली लगी. फिलहाल उसे गिरफ्तार कर लिया गया और अभी उसका इलाज चल रहा था. पुलिस अधिकारी के अनुसार इस मुठभेड़ के दौरान एक दर्जन के करीब गोली चली थी. बता दें कि इकबाल मूलरूप से बुलंदशहर का रहने वाला था और उस पर यूपी और दिल्ली में हत्या, हत्या की कोशिश और लूट जैसे 25 से ज्यादा केस दर्ज हैं. हाल ही में इकबाल और उसके साथियों ने मिलकर ग्रेटर नोएडा में 65 लाख की लूट की थी, जिसमें गौतमबुद्धनगर पुलिस ने उसके एक साथी को पुलिस ने मार गिराया था जबकि एक साथी पुलिस की गोली लगने से घायल हो गया था. इकबाल महमूद पांडे और महरून मुल्ला गैंग का शार्पशूटर है, पुलिस ने ब्रीज़ा कार और एक पिस्टल के अलावा कुछ कारतूस मौके से बरामद किये हैं. दिल्ली में बीते एक महीने में ये 11वां एनकाउंटर है, जिसमें कुल 16 बदमाश पुलिस की गोली से घायल हो चुके हैं. 

दिल्ली : प्रापर्टी डीलर के हत्यारे नंदू के गैंग की कमर टूटी, दो एनकाउंटर, पांच गिरफ्तार

गौरतलब है कि बीते कुछ दिनों में दिल्ली में एनकाउंटर की यह कोई पहली घटना नहीं है. इससे पहले दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल और बदमाशों के बीच 2 अलग-अलग जगहों पर मुठभेड़ हुई, जिसमें 2 बदमाशों को गोली लगी थी. पहली मुठभेड़ दिल्ली के रोहिणी सेक्टर 11 इलाके में हुई थी, जहां बाइक पर सवार राजकुमार उर्फ रावण नाम के बदमाश को स्पेशल सेल की टीम ने रुकने का इशारा किया था. पुलिस के मुताबिक रुकने की बजाय उसने पुलिस टीम पर फायरिंग कर दी थी. जवाब में पुलिस ने भी फायरिंग की जिसमें राजकुमार के पैर में गोली लगी और उसे गिरफ्तार कर लिया गया था.

Delhi-NCR की हवाओं में घुल रही जहरीली धुंध, Air Quality इस सीजन में पहली बार 'Very Poor'

वहीं, दूसरा एनकाउंटर गुरुवार की सुबह तड़के द्वारका मेट्रो स्टेशन के पास हुआ. जहां एक स्विफ्ट कार में सवार 2 बदमाशों को पुलिस ने रुकने के लिए कहा था, लेकिन बदमाशों ने पुलिस को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी. जवाबी फायरिंग में प्रिंस तेवतिया नाम के बदमाश को पैर में गोली लगी और वो पकड़ा गया, जबकि उसका साथी प्रमोद मौके से भाग गया. दोनों तरफ से कुल 13 राउंड फायरिंग हुई.

टिप्पणियां

दिल्ली के मुख्यमंत्री बोले- AAP या केजरीवाल के लिये नहीं, स्वतंत्रता संग्राम की भावना के साथ लड़ें क्योंकि...

प्रिंस तेवतिया अपने गैंग के सरगना है और हाल ही में उसने नन्दू गैंग से हाथ मिलाया था, कुछ दिन पहले प्रिंस पैरोल पर आया और फिर भाग गया. उस पर हत्या और हत्या की कोशिश के आधा दर्जन केस दर्ज हैं. दक्षिणी दिल्ली में वो जबरन उगाही का रैकेट चलाता था. पुलिस ने मौके से कार, पिस्टल और कारतूस बरामद किए थे.



Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट लगातार हासिल करने के लिए हमें फेसबुक पर लाइक और ट्विटर पर फॉलो करें.


Advertisement